सुशासन बाबू:अब आपही बताईये कि दोषी कौन?कुशासन या किसान?

Share Button
वेशक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बिहार और बिहारियो को गौरर्वान्वित करने के जी-तोड प्रयास व उनके नेकइरादे पर फिलहाल सीधी उंगली नही उठाई जा सकती.खासकर नालन्दा को वे और भी प्रतिष्ठित बनाना चाहते है.इसपर भी तत्काल छींटाकशी करना बेईमानी ही होगी.लेकिन आजकल समुचे देश मे सुशासन बाबू के नाम से बहुचर्चित श्री कुमार के घर-जिले मे सर्वत्र जो कुछ नजारा दिख रहा है,वे प्रमाणित करते है कि उनके मातहत शासन-व्यवस्था संभाल रहे शीर्ष अधिकारी लोग भविष्य का बेडागर्क करने का पूरा मन बना लिये है और यही हाल रहा तो निश्चित तौर पर यहाँ के कुशासान का ठीकरा मुख्यमंत्री के सिर पर ही फूटेगा.आखिर पुनः लौट न आये लालू का भूत का भय के सहारे वे कब तक सुशासन की नाव खेते रहेगे.
करीव एक सप्ताह पूर्व नालंदा जिले के नगरनौसा अंचल के एन.एच.30ए पर अवस्थित रामघाट बोधीबिगहा से रामपुर गांव तक प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक योजना के तहत बनाई जा रही मार्ग के निर्माण के दौरान एक दबंग ठेकेदार द्वारा मनमानी-लूटखसोट करने की शिकायत जिला-प्रशासन के शीर्ष अधिकारियो बी.डी.ओ.से जिलाधिकारी तक से की गई,लेकिन उनके कान मे जूँ तक न रेंगा.यह वगैर राजस्वअधिकारी के स्वीक्रिति के ठेकेदार पटवन,कब्रिस्तान तक को भर ही रहा है,जेसीबी मशीन द्वारा एक अधिकारी की तरह रिश्व्त लेकर कमजोर किसानो की रैयती जमीन पर भी सडक बना रहा है. शिकायत के बाद जहानाबाद का रहनेवाला संबधित ठेकेदार ने अपनी मनमानी और भी बढा दी. इसके बाद सारे मामले की शिकायत फैक्स व ईमेल द्वारा सीधे मुख्यमंत्री से की गई.लेकिन लोगों मे घोर आश्चर्य और निराशा का भाव दिख रहा है क्योंकि उनके स्तर से भी कोई कार्रवाई नही की जा रही है.इस मामले मे आम ग्रामीण लालूजी को ही बेहतर बताते है और कहते है कि कम से कम उनका अपने अधिकारियो पर पूर्ण नियंत्रण था और आम ग्रामीणो की शिकायतो को वे गंभीरता से लेते थे.
एक ताजा मिली शिकायत का आंकलन करने पर समझ मे नही आता है कि दोषी कौन है.सुशासन बाबू का कुशासन या किसान? नालन्दा जिले के चंडी थानांतर्गत थरथरी प्रखंड के मकुनन्दबिगहा गांव निवासी एक किसान परिवार की कहानी अन्धेर नगरी-चौपट राजा की याद ताजा कर देती है.कहानी चार गरीव किसान भाईयो की है.जो बाढ राहत मुआवजा प्रक्रिया की सही जानकारी न होने के कारण जमीन की एक ही जमाबन्दी रशीद पर अलग-अलग 1800रू.राशि भुगतान पा ली. यह मामला जब प्रकाश मे आया तो प्रखंड विकास पदाधिकारी ने चारो किसान भाईयो के विरूद्ध थाना मे मामला दर्ज करा दिया.अब थाना का एक छोटा बाबू उससे बतौर नजराना प्रति भाई 5000रू. यानि 20000रू. मांग रहा है.जबकि420 का दोषी यदि यदि इन किसान भाईयो को मान लिया भी जाय तो इनलोगो से कही अधिक गुनाहगार पंचायतसेवक, मुखिया, ग्रामसेवक, अंचलनिरीक्षक से लेकर खुद मुकदमा करने वाले प्रखंड विकास पदाधिकारी ही है.क्योंकि किसी भी किसान को आपदा संबन्धी मुआवजा इन सबो के गहन जांच-पडताल के वगैर नही मिलती.भादवि के तहत चंडी थाना मे दर्ज इन लोगों को पाक-साफ रखा गया है. इस प्रकरण का रोचक पहलू है कि पीडित चारो भाईयो मे एक राजकुमार नामक भाई ने सुचनाधिकार के तहत प्रखंड कार्यालय संबधी सूचना पाकर प्रखंड विकास पदाधिकारी के विरूद्ध लाखो रू.के एक बडे कागजीडीजल घोटाले का पर्दाफाश किया था.समाचार-पत्रो की सुर्खिया बने इस प्रकरण मे अब तक कोई कार्रवाई नही की गई है,जबकि बदले की कार्रवाई स्वरूप दर्ज मुकदमा मे चारो किसान भाईयो को दबोचने के लिये पुलिस खाक खाक छानती फिर रही है.
Share Button

Related News:

बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार का जीवन और उनकी उपलब्धियों पर एक नज़र
प्रशासनिक सांठगांठ से जिला परिषद की जमीन पर भू-माफिया यूं बना रहे होटल-मकान
सड़क पर ऐसे बनेंगे तेज तो मरेंगे ही ये बिगड़ैल बच्चे !
दर्जन भर दरिंदों ने किया गैंगरेप, महिला थाना का फिर शर्मनाक चेहरा आया सामने
शिक्षक की पिटाई के विरोध में थाना का घेराव, बदमाशों की गिरफ्तारी-सुरक्षा की गुहार
जब खेत जा रहे हरिनारायण सिंह को पुलिस ने था दबोचा
थरथरी थाना क्षेत्र की निकली बेन थाना क्षेत्र में गोद में बच्चा लिए भटकती महिला
पुलिस-प्रशासन ने वोटरों को जागरुक करने के लिए निकाला यूं 'कैंडल मार्च'
हिलसा सीओ-नाजिर पर गिरी डीएम की गाज, सड़क हादसा के बाद मची थी भारी उपद्रव
बिहार शरीफ नकली कॉस्टमेटिक का अड्डा, छापामारी में 50 लाख के 1800 प्रो़डक्ट बरामद
राजगीर थानाध्यक्ष ने जेनरेटर समेत धराए चोर को 2 दिन हाजत में रखने के बाद छोड़ दिया
छात्र जदयू नेता के पिता की पीट-पीट कर हत्या, शव को खेत में फेंका
थरथरी थाना हाजत से 2 कैदी फरार, पुलिस की घोर लापरवाही फिर आई सामने
छात्रा संग छेड़खानी, आरोपी को ग्रामीणों ने धूना, मूत्र पिलाया, वीडियो किया वायरल
पहली बारिश में ही यूं भरभरा गया बिहार शरीफ नगर निगम की 15 लखिया सड़क
बिहार शरीफ नहीं जनाब, यहां सिर्फ लुटेरे अफसर-ठेकेदार बन रहे हैं स्मार्ट
गांव-गांव में हो रही निवर्तमान सांसद की किरकिरी :मनोज यादव
रंगदारों ने ऑटो को क्षतिग्रस्त कर चालक को पीटा
न बीडीओ सेविका से वोट दिलवाता और न चंदौरा का गु्स्सा फूटता
नवजात को बेचने के लिए महिला ने की थी सरकारी अस्पताल से चोरी
अपने घर-जिले नालंदा में फैले कुशासन को लेकर "सुशासन बाबू " ने अपनाये कड़े तेवर
बेन में फिर बड़ी चोरी, पुलिस से विश्वास उठा, लोग खुद दे रहे पहरा
SPO को बड़ी राहत, HC का राज्य-केन्द्र सरकार से जवाब तलब
बुजुर्ग को गोली मारी, अस्पताल में भर्ती, रहुई थानेदार ने नहीं ली थी विवाद का संज्ञान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
loading...
Don`t copy text!
» डीएम ने ई-गवर्नेंस की बैठक दिए ये अहम निर्देश, आप भी जानिए   » राजगीर बीच बाजार युवक को गोली मारी, पटना रेफर   » शासन की हस्तक्षेप से उपद्रवियों की मंशा पर फिरा पानी   » समस्याग्रस्त नगर में चल रहा मेयर-उप मेयर की घिनौनी राजनीति   » बाप को गोली मारने जा रहा बेटा हथियार समेत धराया   » पेयजल समस्या को लेकर ग्रामीणों ने 3 घंटा रखा इस्लामपुर-पटना मुख्य सड़क जाम   » फिर बौराई पुलिस, सेवानिवृत शिक्षक को शराब कारोबारी बना हाजत में किया बंद   » प्रेमिका के चक्कर में पत्नी को जिंदा जला कर मार डाला!   » मनरेगा में लाखों का फर्जीवाड़ा, विरोध में नगरनौसा थाना का घेराव!   » अब कानून की धज्जियां उड़ाने वाले बिहार थाना इंस्पेक्टर दीपक कुमार का नपना तय