सुशासन बाबू:अब आपही बताईये कि दोषी कौन?कुशासन या किसान?

Share Button
वेशक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बिहार और बिहारियो को गौरर्वान्वित करने के जी-तोड प्रयास व उनके नेकइरादे पर फिलहाल सीधी उंगली नही उठाई जा सकती.खासकर नालन्दा को वे और भी प्रतिष्ठित बनाना चाहते है.इसपर भी तत्काल छींटाकशी करना बेईमानी ही होगी.लेकिन आजकल समुचे देश मे सुशासन बाबू के नाम से बहुचर्चित श्री कुमार के घर-जिले मे सर्वत्र जो कुछ नजारा दिख रहा है,वे प्रमाणित करते है कि उनके मातहत शासन-व्यवस्था संभाल रहे शीर्ष अधिकारी लोग भविष्य का बेडागर्क करने का पूरा मन बना लिये है और यही हाल रहा तो निश्चित तौर पर यहाँ के कुशासान का ठीकरा मुख्यमंत्री के सिर पर ही फूटेगा.आखिर पुनः लौट न आये लालू का भूत का भय के सहारे वे कब तक सुशासन की नाव खेते रहेगे.
करीव एक सप्ताह पूर्व नालंदा जिले के नगरनौसा अंचल के एन.एच.30ए पर अवस्थित रामघाट बोधीबिगहा से रामपुर गांव तक प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक योजना के तहत बनाई जा रही मार्ग के निर्माण के दौरान एक दबंग ठेकेदार द्वारा मनमानी-लूटखसोट करने की शिकायत जिला-प्रशासन के शीर्ष अधिकारियो बी.डी.ओ.से जिलाधिकारी तक से की गई,लेकिन उनके कान मे जूँ तक न रेंगा.यह वगैर राजस्वअधिकारी के स्वीक्रिति के ठेकेदार पटवन,कब्रिस्तान तक को भर ही रहा है,जेसीबी मशीन द्वारा एक अधिकारी की तरह रिश्व्त लेकर कमजोर किसानो की रैयती जमीन पर भी सडक बना रहा है. शिकायत के बाद जहानाबाद का रहनेवाला संबधित ठेकेदार ने अपनी मनमानी और भी बढा दी. इसके बाद सारे मामले की शिकायत फैक्स व ईमेल द्वारा सीधे मुख्यमंत्री से की गई.लेकिन लोगों मे घोर आश्चर्य और निराशा का भाव दिख रहा है क्योंकि उनके स्तर से भी कोई कार्रवाई नही की जा रही है.इस मामले मे आम ग्रामीण लालूजी को ही बेहतर बताते है और कहते है कि कम से कम उनका अपने अधिकारियो पर पूर्ण नियंत्रण था और आम ग्रामीणो की शिकायतो को वे गंभीरता से लेते थे.
एक ताजा मिली शिकायत का आंकलन करने पर समझ मे नही आता है कि दोषी कौन है.सुशासन बाबू का कुशासन या किसान? नालन्दा जिले के चंडी थानांतर्गत थरथरी प्रखंड के मकुनन्दबिगहा गांव निवासी एक किसान परिवार की कहानी अन्धेर नगरी-चौपट राजा की याद ताजा कर देती है.कहानी चार गरीव किसान भाईयो की है.जो बाढ राहत मुआवजा प्रक्रिया की सही जानकारी न होने के कारण जमीन की एक ही जमाबन्दी रशीद पर अलग-अलग 1800रू.राशि भुगतान पा ली. यह मामला जब प्रकाश मे आया तो प्रखंड विकास पदाधिकारी ने चारो किसान भाईयो के विरूद्ध थाना मे मामला दर्ज करा दिया.अब थाना का एक छोटा बाबू उससे बतौर नजराना प्रति भाई 5000रू. यानि 20000रू. मांग रहा है.जबकि420 का दोषी यदि यदि इन किसान भाईयो को मान लिया भी जाय तो इनलोगो से कही अधिक गुनाहगार पंचायतसेवक, मुखिया, ग्रामसेवक, अंचलनिरीक्षक से लेकर खुद मुकदमा करने वाले प्रखंड विकास पदाधिकारी ही है.क्योंकि किसी भी किसान को आपदा संबन्धी मुआवजा इन सबो के गहन जांच-पडताल के वगैर नही मिलती.भादवि के तहत चंडी थाना मे दर्ज इन लोगों को पाक-साफ रखा गया है. इस प्रकरण का रोचक पहलू है कि पीडित चारो भाईयो मे एक राजकुमार नामक भाई ने सुचनाधिकार के तहत प्रखंड कार्यालय संबधी सूचना पाकर प्रखंड विकास पदाधिकारी के विरूद्ध लाखो रू.के एक बडे कागजीडीजल घोटाले का पर्दाफाश किया था.समाचार-पत्रो की सुर्खिया बने इस प्रकरण मे अब तक कोई कार्रवाई नही की गई है,जबकि बदले की कार्रवाई स्वरूप दर्ज मुकदमा मे चारो किसान भाईयो को दबोचने के लिये पुलिस खाक खाक छानती फिर रही है.
Share Button

Related News:

लापरवाही को लेकर 'घेरा डालो,डेरा डालो' आंदोलन करेंगे अब फुटपाथ दुकानदार
नालंदा में भी हाई अलर्ट जारी, 1 अक्तूबर तक सभी शिक्षण संस्थान बंद
ट्रैक्टर से भीषण टक्कर के बाद 150 मीटर बिना चालक चलती रही यात्री बस, बड़ा हादसा टला
6 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगा चन्द्रवँशी समाज, हिलसा से जेपी होंगे प्रत्याशी
हम  काम करते हैं, उसी आधार पर वोट मांगते हैं : नीतीश
बुजुर्ग को गोली मारी, अस्पताल में भर्ती, रहुई थानेदार ने नहीं ली थी विवाद का संज्ञान
कतरीसराय पुलिस ने 2 महिला समेत 4 हत्यारोपी को पकड़ भेजा जेल
हिलसा को एक साथ दोहरी राहत, थानेदार के साथ डीएसपी भी गए
नालंदा सांसद के रोपे पेड़ यूं चर गयी बकरी😳
जहां पहली बार वर्ष 1983 में हुआ ईवीएम का प्रयोग, गुमनामी में खो गया गौरवशाली अतीत वाला वह चंडी  
नदी में डूबने से सपेरा पुत्र की मौत, सरकारी मुआवजा की मांग
टैक्टर ने 3 स्कूली बच्ची को रौंदा, 1 की मौत, 2 की हालत गंभीर, आक्रोशितों ने थाना को घेरा, पुलिस को द...
कतरीसराय के सभी पंचायतों में चला जल जीवन हरियाली अभियान
समूचे जिले में प्रकृति महापर्व छठ श्रद्धामय वातावरण में संपन्न
महान स्वतंत्रता सेनानी बाबू वीर कुंवर सिंह की जयंती मनाई
खाई में पलटी अनियंत्रित ट्रैक्टर, चालक और किसान की मौत
पति को छोड़ प्रेमी के साथ रहना चाहती है एक बच्चा की मां
नंगा विकासः सड़क को लेकर दर्जन भर गांव के लोगों ने किया सड़क जाम
जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने वाहन कोषांग का किया निरीक्षण, दिए अहम निर्देश
हरनौत से बिहारशरीफ जा रहे शिक्षक को बेना थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े गोली मारी, हालत गंभीर
जिला जज ने बिहार शरीफ पर्यवेक्षण गृह निरीक्षण के दौरान जल जमाव पर जताई चिंता
दाह संस्कार से लौट रही ट्रेकर की हाइवा से टक्कर, 16 घायल, 4 पटना रेफर
काजल की गुनहागारों को फांसी, परिजनों को मुआवजा और व्यवसाईयों को सुरक्षा दे सरकार
हिलसा के बजरंग बली ने ली अंतिम सांस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» गरीब-बच्चों की सेवा में ही जगत का कल्याण : ई.रविशंकर   » BDO को कार्यालय में घुसकर पीटा, बोले SDO- होगी कड़ी कार्रवाई     » बेखौफ बदमाशों ने युवक को सरेआम गोली मारी, हालत गंभीर,पटना रेफर   » हटिया-इस्लामपुर एक्सप्रेस गैस लदी वाहन से टकराई, बड़ा हादसा टला, 2 गंभीर   » बोले इसलामपुर सीओ- मानवाधिकार नेम प्लेट लगी वाहनों की होगी जांच   » बालू माफियाओं को पुलिस-प्रशासन का खुला शह, ग्रामीणों ने खनन अधिकारी को मौके पर धुना   » हिलसा में गाजे-बाजे के साथ निकला महाराज जरासंध का विशाल जुलूस   » यहां आकर्षण का मुख्य केंद्र बना भगवान भास्कर की प्रतिमा   » समूचे जिले में प्रकृति महापर्व छठ श्रद्धामय वातावरण में संपन्न   » छठ घाट में डूबने से बालक की मौत, प्रशासन ने दिए 4.20 लाख