हिलसा में हुई महज 39 फीसदी वोटिंग, ब्रांड एंबेस्डर हुए घर में फेल | Nalanda Darpan

हिलसा में हुई महज 39 फीसदी वोटिंग, ब्रांड एंबेस्डर हुए घर में फेल

Share Button

नालंदा दर्पण (धर्मेन्द्र)। हिलसा प्रखंड में रिक्त पड़े पंचायत प्रतिनिधि के चार पदों के लिए रविवार को हुई वोटिंग में महज उनचालीस फीसदी ही वोटरों ने वोट दिए। मतदान की प्रक्रिया खत्म होते ही चुनावी मैदान में कूदे नौ दावेदारों के भाग्य का फैसला ईभीएम में बंद हो गया।

प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी राजदेव रजक ने बताया कि हिलसा प्रखंड के मिर्जापुर पंचायत के वार्ड संख्या 11 तथा कपसियावां के वार्ड संख्या एक तथा नौ के अलावा कपसियावां पंचायत के पंचायत समिति सदस्य के रिक्त पदों के लिए मतदान हुआ।

आठ हजार दो सौ उनहत्तर मतदाताओं में से मात्र एक हजार पांच सौ तेहत्तर वोटरों ने  वोट दिए। मिर्जापुर पंचायत के वार्ड सदस्य पद को छोड़ सभी सीटों पर सीधा मुकाबला है।

मिर्जापुर पंचायत के वार्ड सदस्य पद के लिए तीन उम्मीदवार क्रमश: अलखदेव प्रसाद, शैलेन्द्र कुमार एवं किशोरी प्रसाद चुनावी मैदान में हैं।

जबकि कपसियावां पंचायत के वार्ड संख्या एक के लिए अनुज कुमार एवं राजकुमार तथा वार्ड संख्या नौ के लिए कारी देवी एवं पिंकी देवी चुनावी मैदान में है। कपसियावां पंचायत के रिक्त पड़े पंचायत समिति पद के लिए महेन्द्र मोची एवं मनोज पासवान के बीच सीधा मुकाबला है।

प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी ने बताया कि उक्त पदों के लिए मतों की गिनती आगामी 12 मार्च को प्रखंड कृषि कार्यालय में होगी। मतों की गिनती के बाद चुनावी परिणाम की घोषणा कर दी जाएगी।

नालंदा ब्रांड एंबेस्डर फेड, यहां जागरुकता अभियान बेअसर!

हिलसा में जागरुकता अभियान का असर वोटरों पर नहीं दिख रहा है। इसका खुलासा रविवार को पंचायत रिक्त पड़ चार पदों के लिए हुए चुनाव से होता है।

चार पदों के लिए हुए चुनाव में आठ हजार दो सौ उनहत्तर वोटरों को वोट देना था। इसमें से मात्र एक हजार पांच सौ तिहत्तर वोटर ही वोट दिये। कुल वोटिंग करीब 39 फीसदी है।

मालूम हो कि वोटरों को जागरुक करने के लिए विशेष तौर पर मतदाता जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। मतदाताओं को जागरुक करने के लिए स्वीप आइकॉन बने समाजसेवी आशुतोष कुमार मानव जबरदस्त प्रचार-प्रसार कर रहे हैं। 

बाबजूद इसके मतदान की प्रतिशतता में इजाफा होने के बजाए घटना एक चिंता का विषय है। इसपर गहन विचार-विमर्श करने की जरुरत है। शायद वे स्कूली बच्चों के बीच कहीं अधिक सक्रिय दिख रहे हैं।

265

Related posts:

DM-SP की कंप्लेन करने CM आवास पटना पहुंचे नीतीश जी के गांव के लोग
छेड़खानी का केस दर्ज नहीं करने पर बवाल, लाठी चार्ज
आवासीय स्कूल में घुसकर छात्रा की हत्या का प्रयास, पंगु बनी पुलिस
राजगीर विश्व शांति स्तूप की जल्द शुरु होगी ऑनलाइन पूजा, कूरियर से मिलेगी प्रसाद
खुदागंज थाना क्षेत्र में युवक की गला रेत कर हत्या
उबले राजगीर SDO- 'कहेगा कि प्रशासन चूड़ी पहन के बैठा है'
पूर्व विधायक ने कांग्रेस मिलन समारोह में दिखाई अपनी ताकत
एलआईसी एजेंट की बाइक की डिक्की तोड़ उचक्कों ने उड़ाए 3.60 लाख
देखिए वीडियोः सूचना मांगने पर शिक्षक दे रहा RTI कार्यकर्ता को कैसे धमकी
.....और अंततः सीवरेज टैंक से 24 घंटे बाद शव वरामद करने पहुंची राजगीर पुलिस
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: @सर्वाधिकार सुरक्षित