चंडी थाना की गुंडा पंजी में दर्ज 36 लोगों ने दर्ज कराई अपनी उपस्थिति

चंडी (नालंदा दर्पण)।19 मई को होने वाले लोक सभा चुनाव के मद्देनजर थाना क्षेत्र में विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न न हो, इसके लिए रविवार को गुंडा पंजी में दर्ज नाम बाले लोगों को थाने में बुलाकर परेड कराया गया। इस परेड में कुल 36 लोगों ने अपना उपस्थिति दर्ज कराई।

पुलिस निरीक्षक दुर्गेश कुमार सिंह ने बताया कि एसपी के निर्देश पर 19 मई को होने वाले लोकसभा चुनाव में कोई व्यवधान पैदा न हो, इसके लिए चंडी थाना में दर्ज गुंडा पंजी से 36 लोगों को थाना में बुलाकर परेड कराया गया।

सभी को निर्देश दिया कि 19 मई को होने वाले लोक सभा चुनाव में कोई विधि व्यवस्था में व्यवधान पैदा न हो। ये लोग अपने आचरण में सुधार लाये और सतर्क रहें। अगर अगले एक साल तक आचरण में सुधार आ गया तो इन लोगों को आने वाले समय में अच्छे कार्य को लेकर एसपी के पास प्रस्ताव भेजा जाएगा। जिस पर एसपी कड़ी निरीक्षण करेंगे। उसके बाद इनलोगों का गुंडा पंजी में दर्ज नाम को विलोपित किया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि अक्सर यह देखा गया कि छोटी-छोटी बातों पर भी गुंडा उसे तूल देकर विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न करते हैं। जिस पर सख्ती जरूरी हो गई है। ऐसे लोग विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न नहीं कर पाएंगे। इसके लिए 14 श्रेणियों के आचरण वाले लोगों का पूरा विवरण के साथ सूची तैयार कर उसका नाम गुंडा पंजी में दर्ज होता है।

उन्होंने कहा कि इसमें शराब बेचने, पीने-पीलाने, गांजा, ड्रग्स का धंधा करने वाले, ब्लैक मेल करने वाले, लड़कियों के साथ छेड़खानी करे वाले, देह व्यापार करने और प्रदान करने वाले, रोड पर मारपीट करने वाले, पब्लिक के साथ गुंडागर्दी करने वाले, बाइकर्स गैंग चलाने वाले व इसके मेंबर्स, सांप्रदायिक समुदाय दंगा की प्लानिग करने वाले, भड़ाकाने वाले और दंगा प्रदान करने वालों को शामिल किया गया है।

इसके साथ ही रंगदारी करने वाले, छात्रों और युवाओं को उकसाने वालों का भी नाम गुंडा पंजी में दर्ज होगा। जिन लोगों का भी नाम गुंडापंजी में चढ़ता है, उनके नाम की पुलिस एक अलग फाइल रखगी। जिसमें घर-परिवार का पूरा डिटेल, आमदनी का जरिया क्या है।  चरित्र सत्यापन अगर प्रदान करेगा तो उस पर भी साफ तौर पर लिखा जाएगा कि इस शख्स का नाम गुंडा पंजी में दर्ज है। ऐसे में सरकारी नौकरी नहीं मिलेगी।

इसलिए जरूरी है कि ऐसे लोग समय पर सुधर जाएं। जब भी कोई बड़ा उपद्रव होगा तो उस इलाके के उन सभी लोगों को पुलिस खोजेगी, जिनका नाम गुंडा पंजी में दर्ज होगा। थानों पर गुंडा परेड भी किया जाएगा। इस मौके पर थानाध्यक्ष चंचल कुमार, एसआई तेज नारायण राय मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here