डीएम की चेतावनी के बाद निजी स्कूल के छात्रों को मिली राहत

Share Button

चंडी (नालंदा दर्पण)। नालंदा डीएम योगेन्द्र सिंह की चेतावनी का असर चंडी के एक निजी स्कूल पर हुआ। डीएम की धमकी के बाद सुबह दस बजे से चार बजे तक संचालित हो रहे स्कूल के समय सारिणी में परिवर्तन किया गया है।

निजी स्कूल बुधवार से सुबह मॉर्निंग बेला में संचालित होंगे। डीएम की चेतावनी का असर होने के बाद छात्रों ने राहत की सांस ली है।

बताया जाता है कि प्रखंड के एक निजी स्कूल नियम कानून को ताक पर संचालित कर रहे हैं। सरकारी नियम के अनुसार सभी सरकारी स्कूल 1अप्रैल से ही मॉर्निंग में चल रहे हैं। जबकि प्रखंड के अधिकांश निजी स्कूल पहले ही मॉर्निंग चला रहे है।

लोगों ने बताया कि प्रखंड के एक नामी निजी स्कूल नियम कानून की अनदेखी कर सुबह दस बजे से चार बजे तक चला रहे थे। इस भीषण गर्मी में छात्रों को  भी काफी परेशानी हो रही थी।

नालंदा डीएम को भी जानकारी मिल रही थी कि जिले के कई प्रखंड में निजी स्कूल डेढ़ से दो बजे तक स्कूल संचालित कर रहे हैं।

शिकायत के आलोक में नालंदा डीएम ने जिले के सभी सरकारी और निजी स्कूलों का संचालन सुबह साढ़े छह बजे से 11:30 तक संचालित करने का आदेश जारी किया है।

डीएम ने सख्त आदेश दिया है कि सभी बच्चे दोपहर 12 बजे तक अपने घर पहुँच जाने चाहिए। अगर कोई स्कूल संचालक या शिक्षक इस आदेश का अनुपालन नहीं करेंगे तो सजा भुगतनी होगी।

नालंदा डीएम के इस आदेश के बाद चंडी के निजी स्कूल के संचालक हरकत में आएं तथा बुधवार से स्कूल सुबह में संचालित करने की समय सारिणी निर्धारित की है। डीएम के आदेश के बाद गर्मी में परेशान छात्रों को बड़ी राहत मिली है।

लोगों ने बताया कि प्रखंड का यह स्कूल संचालक हमेशा मनमानी और नियम कानून की अवहेलना करते आएं हैं।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Don`t copy text!