नगरनौसा(नालंदा दर्पण)। प्रखंड मुख्यालय स्थित राजकृत उच्य माध्यमिक विद्यालय में मंगलवार के दिन स्वतंत्रता संग्राम के अप्रतिम योद्धा स्वतंत्रता सेनानी बाबू वीर कुंवर सिंह की जयंती उल्लासपूर्वक मनाई गई।

प्रभारी प्रधानाध्यापक रामनरेश पासवान के नेतृत्व में विद्यालय के सभी शिक्षकों एवं विद्यार्थियों ने स्वतंत्रता सेनानी बाबू वीर कुंवर सिंह के तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनके पद चिन्हों पर चलने का संकल्प लिया।

इस अवसर पर प्रभारी प्रधानाध्यापक रामनरेश पासवान ने  वीर कुंवर सिंह के जीवन पर प्रकाश डालते हुए, उन्हें स्वतंत्रता संग्राम का एक वीर योद्धा बताया, जिसकी राह में उम्र भी बाधा न बनी और जिसने अंग्रेजों को कड़ी चुनौती दी। अंग्रेजों उनसे खौप खाते थे।

उन्होंने वीर कुंवर सिंह के जीवन एवं प्रमुख रूप से 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में उनके योगदान को प्रमुखता से याद किया। कुंवर सिंह में अदभुत संगठन क्षमता थी। जिन्होंने बिहार, मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश जैसे प्रांतों के आंदोलनकारियों को संगठित कर अंग्रेजों के विरुद्ध एकजुट किया।

प्रधान लिपिक कृष्ण कुमार सुधांशु ने वीर कुंवर सिंह की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विपरीत परिस्थिति में भी उन्होंने कभी हार नहीं मानी।

उन्होंने वीर कुंवर सिंह को बिहार ही नहीं, संपूर्ण देश की गौरव गरिमा का प्रतीक बताते हुए उनके दिखाए मार्ग पर चलने की संकल्प लेने की अपील की।

मौके पर उपस्थित अन्य शिक्षकों ने भी वीर कुंवर सिंह की जीवनी पर प्रकाश डाल विद्यार्थियों को जानकारी दिया।

इस मौके पर शिक्षक अरविंद प्रसाद सिंह, प्रधान लिपिक कृष्ण कुमार सुधांशु, भारती, रेखा कुमारी, राजीव रंजन ओझा, पंकज कुमार, छात्रा नव्या, नंदनी कुमारी, निधि कुमारी, नेहा कुमारी, काजल कुमारी, आरती कुमारी,  अंशिका राज सहित विद्यालय के सभी शिक्षक व छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here