कल सिनेमा घरों में रिलीज होगी शिक्षा माफिया पर आधारित फिल्म सेटर

Share Button

यह माफिया  गिरोह वाराणसी से ऑपरेट होता है, जो एजुकेशन सिस्टम में खामियों का फायदा उठाता है और यह कई आपराधिक कामों में शामिल है, जैसे देशभर में एग्जाम पेपर्स और डुप्लिकेट कैंडिडेट्स को सेट करना ताकि इससे कमाई की जा सके

-: जयप्रकाश नवीन :-

नालंदा दर्पण। फिल्में सिर्फ  समाज का आईना नहीं होती हैं, वो समाज का ख्वाब होती है। उसके अंदर वो तमाम तमन्नाएं भी दिखाई देती हैं, जो समाज के पास हैं। साथ ही वे  तमाम डर और तमाम फिक्र  भी होती है। उसमें समाज की सभी बातें होती हैं, उसकी रिवायतें होती हैं।

ऐसी ही एक गंभीर विषय पर बनी फिल्म ‘सेटर्स’ बिहार के नालंदा के विकास मणि की पहली फिल्म 3 मई को सिनेमा घरों में रिलीज हो रही है।

आईटी के क्षेत्र में अपना पांव जमाने के बाद बतौर प्रोड्यूसर विकास मणि की यह पहली फिल्म  ट्रेलर लांच होने के बाद से ही ‘सेटर्स’ की चर्चा खूब चल रही है।

फिल्म ‘सेटर्स’ शिक्षा माफिया पर आधारित है। जो परीक्षा के पेपर लीक करने वालों के गिरोह से जुड़ा हुआ है।

‘सेटर्स’ वास्तव में हमारे देश की सम्पूर्ण शिक्षा व्यवस्था में आई सड़न को दिखाता है।शिक्षा माफियाओं को प्रश्रय देकर राजनीति का एक घिनौना स्वरूप भी इस फिल्म में देखने को मिलता है।

‘सेटर्स’ फिल्म की कहानी के केंद्र  में  उत्तर प्रदेश का  बनारस शहर है।जहाँ  कहानी  मुन्ना भाईगिरी और उसे ऑपरेट करने वाले माफियाओं के बारे में है।

मुन्ना भाईगिरी के तहत  किसी कमजोर स्टूडेंट की जगह ब्रिलियंट स्टूडेंट को बैठाकर परीक्षा दिलवाने की कहानी है। डॉक्टरी से लेकर पुलिस और इंजीनीयरिंग समेत देश की हर बड़ी परीक्षा में पैसा लेकर फर्जी स्टूडेंट को बैठाने वाले कई गैंग हैं। जो पैसे लेकर बच्चों को किसी भी हाल में मेरिट लिस्ट में जगह दिलवा देते हैं। चाहे उसके लिए पेपर लीक करना पड़े या चीटिंग करने के लिए गैजेट्स बांटने पड़े।

बनारस में एक आदमी है, जो इस ‘सेटिंग’ की फील्ड में माफिया का दर्जा रखता है।जिसका नाम है  भैया जी। भैया जी एक  रौबदार और राजनीतिक पहुँच वाला  आदमी है।

जब इन माफियाओं का आतंक ज्यादा बढ़ जाता है, तब ऐसे गिरोह को खत्म करने के लिए दिल्ली से एक टीम बनाने का आदेश बनारस पुलिस को मिलता है। पुलिसवालों की एक टीम बनती है और इस रैकेट का भंडाफोड़ करने निकल पड़ती है। फिर पुलिस और शिक्षा माफिया के बीच  चूहे-बिल्ली की खेल की शुरुआत होती है।

दो साल बाद अभिनेता आफताब शिवदासानी निर्देशक अश्विनी चौधरी तथा प्रोड्यूसर विकास मणि  की फिल्म ‘सेटर्स’ से बॉलीवुड में वापसी करने जा रहे हैं। उनके साथ हैं श्रेयस तलपड़े, जिन्होंने फिल्म में माफिया सरगना की भूमिका निभाई है और आफताब इंवेस्टीगेशन ऑफिसर की भूमिका में है।

अश्विनी चौधरी की फिल्म एग्जाम पेपर लीक पर आधारित है। ट्रेलर से एक अच्छी फिल्म होने के संकेत मिल रहे हैं। हालांकि इस फिल्म की तुलना जनवरी में प्रदर्शित हुई इमरान हाशमी की फिल्म ‘वाय चीट इंडिया’ से की जा रही है।

फिल्म ‘सेटर्स’ में आफताब का किरदार एक पुलिसवाले का है।जिन्होंने अपने अभिनय को दमदार बनाने में कोई कोशिश नहीं छोड़ी है। इससे पहले आफताब शिवदसानी आखिरी बार 2016 में ‘ग्रेट ग्रैंड मस्ती’ में नजर आएं थे।  वहीं श्रेयस तलपडे खुद एक सेटर है। श्रेयस  भी इस फिल्म के साथ दो साल बाद वापसी कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने ‘गोलमाल अगेन’ में काम किया था।

इन दोनों के अलावा फिल्म में विजय राज (रन, गली बॉय), पवन मल्होत्रा (ब्लैक फ्राइडे, बैंग बैंग), मनुऋषि चड्ढा (ओए लक्की लक्की ओए, आंखों देखी), सोनाली सहगल (प्यार का पंचनामा, सोनू के टीटू की स्वीटी), इशिता दत्ता (दृश्यम, फिरंगी) जमील खान (गैंग्स ऑफ वासेपुर, राम लीला), नीरज सूद (बैंड बाजा बारात, रॉकेट सिंह) जैसे एक्टर्स भी ‘सेटर्स’ में नजर आएँगे ।

फिल्म के दो अलग-अलग सीन्स में सोनाली सहगल और इशिता दत्ता भी नजर आएँगी। सोनाली सहगल पर फिल्म में एक गाना भी फिलमाया गया है।सोनाली सहगल के डांस की तारीफ भी हो रही है।

इस फिल्म के निर्देशक  अश्विनी चौधरी सात साल बाद फिल्म ‘सेटर्स’ से वापसी कर रहे हैं। इससे पहले ‘लाडो’ (2000), ‘धूप’ (2003), ‘गुड बॉय बैड बॉय’ (2007) और ‘जोड़ी ब्रेकर्स’ (2012) जैसी फिल्में डायरेक्ट कर चुके हैं।

इनमें से ‘धूप’ को छोड़कर बाकी सभी फिल्मों के राइटर भी वो खुद रहे हैं।2017 में उन्होंने ‘रिश्तों का चक्रव्यूह’ नाम का एक टीवी सीरियल भी डायरेक्ट किया था।

‘सेटर्स’ को पूरी गम्भीरता के साथ विषय के अनुकूल बनाया गया है। 3 मई को सिनेमा घरों में रिलीज ‘सेटर्स’ के सामने हॉलीबुड की फिल्म ‘एवेजन गेमएंड’ है। देखना है कि नालंदा के होनहार नवोदित प्रोड्यूसर विकास मणि की ‘सेटर्स’ दर्शकों की उम्मीद पर कितना खरा उतरती है।

Share Button

Related News:

बेन में आज फिर अनियंत्रित टैक्ट्रर ने ली एक छात्रा की जान
पुलिस दरिंदगी के शिकार दलित जदयू नेता को श्रद्धांजलि देने सैदपुरा पहुंचे नीतीश
नवजात को बेचने के लिए महिला ने की थी सरकारी अस्पताल से चोरी
बिफरे मांझी- यहां लॉ एंड ऑर्डर फेल, पुलिस हाजत में महादलित नेता की हत्या की उठाएंगे आवाज
जेल में घंटो खाक छाने अफसर,लेकिन नहीं मिला कोई आपत्तिजनक चीजें
फंदे से यूं लटका मिला इंटर की छात्र का शव, हत्या की आशंका
'शिक्षालय' के छात्रों के बीच बांटे गए शिक्षण व खेल-कूद सामग्री
5-6 घंटे यूं उपद्रवियों की चपेट में रहा हिलसा नगर, पुलिस दिखी असहाय
पीड़ित ने थाना में खाया जहर, पुलिस का इंकार, गंभीर हालत में पटना रेफर
सीएम के नालंदा में जहरीली शराब पीने से मौत के बाद हंगामा  
जिला निर्वाचन पदाधिकारी योगेन्द्र सिंह ने बैठक में दिए अहम निर्देश
नाबालिग युवती के साथ पूर्व वार्ड पार्षद के शिक्षक भाई ने किया रेप, धराया
ऐसे में आदर्श आचार संहिता या निष्पक्ष चुनाव के ढिंढोरे का क्या है मायने
हिलसा थानेदार की हदः पेन ड्राइव में सीसीटीवी फुटेज नहीं दी तो महिला की कर दी ऐसी हालत
चिक्सौरा में गोली मार कर दिनदहाड़े हत्या, नूरसराय में हत्या कर सरेराह शव फेंका
नोहसा दाहा घाट रोड किनारे मिला एक अज्ञात युवक का शव
नालंदा जिला लोक शिकायत पदाधिकारी और सहायक खनन निदेशक को 1-1 हजार का अर्थदंड, वेतन से होगी राशि वसूली
विम्स के जु. डॉक्टर की गुंडागर्दी, मरीज के परिजन को पीटा, पुलिस ने छुड़ाया, एफआईआर दर्ज
हटिया एक्सप्रेस से कटकर एक अज्ञात अधेड़ की मौत
आज सांसद-जदयू नेता आरसीपी सिंह का यूं दिखा गिरगिटिया रंग!
भारी मात्रा में शराब बरामद, धराया एक धंधेबाज
परियौना खंधा में अज्ञात युवक का शव मिला, हत्या की आशंका
हिलसा के स्कूल हॉस्टल में लगी भयानक आग, दो बच्चे झुलसे, कईयों चोटिल
धमकी के अनुसार जेल से छूटने की अगली सुबह जमीन कारोबारी को गोली मारी, मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» अवैध बालू लदे ट्रैक्टर वृद्ध को रौंदा, मौत से आक्रोशितों ने काटा बबाल   » फंदे से यूं लटका मिला इंटर की छात्र का शव, हत्या की आशंका   » जुर्रतः शराब की सूचना देने वाले रिपोर्टर के घर पर हमला, फायरिंग, पिता-चाचा गंभीर, पटना रेफर   » नीतीश सरकार के इस तानाशाही रवैया से त्रस्त संवेदकों ने दी काम बंद करने की चेतावनी   » 2 दोस्तों ने किया महिला संग बलात्कार, 12 दिनों बाद भी पंगु बनी है पुलिस   » मालती हत्याकांड के खिलाफ भाकपा माले, खेग्रामस व ऐपवा ने निकाली प्रतिरोध मार्च   » बिहार शरीफ नगर निगम की खुली पोल, घरों में घुसे गंदे पानी, तालाब बने कई मोहल्ले   » नालंदा सांसद के रोपे पेड़ यूं चर गयी बकरी😳   » पुलिस को शराब की सूचना देने की शक में सुबेलाल की पीट-पीट कर हत्या   » प्रतिभा सम्मान समारोह में सम्मानित किए गए छात्र