वोट वहिष्कार के बीच बूथ निरीक्षण करने पहुंची बीडीओ पर विफरे ग्रामीण

“नालंदा सीएम नीतीश कुमार का गृह जिला है। इस गांव के लोग इनके नाम पर जातिगत भावना में बहकर हर चुनाव में उन्हीं के थोपे प्रत्याशी को वोट देते आएं है। लेकिन इस बार उपेक्षा को लेकर यहां जबदस्त आक्रोश है। गांव वालों ने इस बार वोट वहिष्कार का निर्णय लिया है…..”

नालंदा दर्पण। बीते कल जिले के करायपरशुराय प्रखंड के मकरौता पंचायत के पतेहपुर गांव में चिकासौरा थानाध्यक्ष के साथ बूथ निरीक्षण करने पहुंची बीडीओ को खूब जलालात झेलनी पड़ी, जब ग्रामीणों ने वोट वहिष्कार के बीच समस्याओं का अंबार रख दिया। वह भी सीएम सात निश्चय की योजनाओं को लेकर, जिसे प्रशासन नालंदा जिले में शत प्रतिशत गांवों में पहुंचाने का दावा करती है।

कुर्मी बहुल इस गांव में लोग सीएम नीतीश कुमार की पार्टी के प्रत्याशी को आंख मूंद कर पिछले एक दशक से एकजुट होकर वोट देते आए हैं।

लेकिन कथित विकास पुरुष के गृह जिले अवस्स्थित ऐसे गांव में यदि लोग नल, जल, रोड आदि जैसी मूलभूत समस्याओं को लेकर वोट वहिष्कार कर दें तो सरकारी विकास के ढिंढोरें की पोल यूं ही खुल जाती है।

बीते कल हमारे एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क की डेस्क के पास पतेहपुर गांव में वोट वहिष्कार के टंगे पोस्टर की तस्वीर भेजी गई। हमारी टीम इसकी पड़ताल में जुट गई।

संयोग देखिए कि जिस समय हमारी टीम ग्रामीणों की पीड़ा जान रही थी, ठीक उसी समय वार्ड स्दस्य और मुखिया की उपस्थिति में करायपरशुराय प्रखंड विकास पदाधिकारी और चिक्सौरा थानाध्यक्ष वहिष्कृत बूथ का निरीक्षण करने पहुंचे।

जब बीडीओ से पूछा गया कि इस गांव में बुनियादि समस्याओं के अभाव पर आप कैसा महसूस करती हैं तो उनका दो टूक कहना था कि शर्मनाक स्थिति है, लेकिन वो गांव की पड़ताल के बाद ही कुछ विशेष बता पाएंगी।

इसके बाद बीडीओ गांव का चप्पा-चप्पा घूम कर समस्याओं का आंकल किया और उत्पन्न समस्याओं को लेकर संबंधित विभागीय लोगों से बात की।

लेकिन जब उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि आप लोगों ने प्रखंड कार्यालय को इसके पहले अवगत क्यों नहीं कराया तो गांव वाले विफर पड़े।

ग्रामीणों ने बीडीओ के मुंह पर दो टूक कहा कि वे हर जगह शिकायत आवेदन देकर थक गए हैं। सांसद तक ने कोई सुध नहीं ली।

यहां तक कि मैडम खुद आपको कई बार समस्यागत आवेदन दिए जा चुके हैं। इतना सुनते ही बीडीओ बगलें झांकने लगी।

  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here