डीएम ने बाल सुधार गृह में पकड़ी भारी गड़बड़ी, अधीक्षक तलब, सुरक्षा गार्ड व अन्य कर्मी को हटाने के निर्देश

“डीएम ने निरीक्षण के दौरान ही सहायक निदेशक जिला बाल संरक्षण इकाई को तलब किया। उन्हें अविलंब रसोईया एवं उसके हेल्पर के साथ सुरक्षा में प्रतिनियुक्त होमगार्ड के जवान हटाने का निर्देश दिया, वहीं पूर्व में दिए गए आदेश का अनुपालन नहीं करने के कारण अधीक्षक से स्पष्टीकरण  मांगा……”

नालंदा दर्पण। बीते शुक्रवार की रात जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने दीपनगर स्थित बाल पर्यवेक्षण गृह का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार एवं प्रधान न्यायिक दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्रा साथ थे।

जिलाधिकारी ने निरीक्षण के क्रम में शौचालय, बाथरूम, बेडरूम, किचन, लाइब्रेरी सहित पूरे परिसर के अन्य सभी स्थलों की सघन तलाशी ली।

जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक एवं प्रधान न्यायिक दंडाधिकारी के साथ स्वयं टॉर्च की रोशनी में पूरे परिसर की तलाशी ली। साथ में आए सुरक्षाकर्मियों ने भी सघनता से पूरे परिसर को खंगाला।

करीब डेढ़ घंटे तक चले तलाशी में भगवान की मूर्ति के पीछे छिपाया गया एक मोबाइल बरामद किया गया। इसके अतिरिक्त चार्जर, खैनी, चिलम, माचिस, दूरभाष संख्या लिखा हुआ डायरी आदि सामग्री बरामद की गई।

शौचालय की खिड़की के पीछे की जाली आधा कटा पाया गया। परिसर की कुछ खिड़कियों में जाली नहीं पाई गई। जबकि जिलाधिकारी द्वारा इससे पूर्व किए गये निरीक्षण के दौरान बाल सुधार गृह के अधीक्षक को जाली लगाने हेतु सख्त रूप से निर्देश दिया गया था।

गृह में कार्य करने वाले रसोईया एवं अन्य कर्मी को अपना मोबाइल अधीक्षक के कार्यालय में रखने का निर्देश दिया गया था, परंतु निरीक्षण के क्रम में रसोईया, रसोईया के हेल्पर, होमगार्ड के जवान आदि के पास से मोबाइल बरामद किया गया, जिसे जप्त कर लिया गया।

जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान ही सहायक निदेशक जिला बाल संरक्षण इकाई को तलब किया। उन्हें अविलंब रसोईया एवं उसके हेल्पर को हटाने तथा सुरक्षा हेतु प्रतिनियुक्त होमगार्ड के जवान को बदलने हेतु कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया।

जिलाधिकारी ने सुरक्षा की दृष्टिकोण से पूर्व में दिए गए आदेश का अनुपालन नहीं करने के कारण बाल सुधार गृह के अधीक्षक से स्पष्टीकरण की मांग की।

जप्त किए गए मोबाइल के संबंध में वहां विचाराधीन बाल बंदियों से पूछा गया तो किसी ने भी जानकारी नहीं दी। जप्त मोबाइल को पुलिस अधीक्षक अपने साथ ले गए ।

तकनीक के माध्यम से इसकी जांच कर इसके उपयोग करने वाले तथा परिसर में मोबाइल लाने में सहयोग करने वाले कर्मी का पता लगाया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here