ऐसे में आदर्श आचार संहिता या निष्पक्ष चुनाव के ढिंढोरे का क्या है मायने

Share Button

मामला सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा से जुड़ा है। यहां आम धारणा बन गई है कि एक खास ‘सरकारी जाति’ का राज चलता है। थाना, प्रखंड, अंचल, अनुमंडल स्तर के बाबू भी इसी मस्ती में डूबे रहते हैं…..

राजगीर (नालंदा दर्पण)। भारतीय निर्वाचन आयोग और उसके मातहत कार्यकारी पदाधिकारियों आदर्श आदेश की धज्जियां व्यवस्था में पहुंच-पैरवी के बल पदासीन जिम्मेवार लोग अधिक उड़ाते दिखते हैं। वे चुनावी नेताओं और उनके दलालों को ही अपना आका मान लेते हैं।

जरा कल्पना कीजिए कि एक विवादित छवि का राजनीतिक कार्यकर्ता सरकारी चुनावी आयोजनों में सरकारी वाहन से विचरण करे और दूसरी तरफ अपनी उसी धौंस के बल मतदाताओं के बीच किसी उम्मीदवार विशेष के लिए समर्थन मांगे तो आदर्श चुनाव आचार संहिता के क्या मायने रह जाते हैं।

बीते कल राजगीर में प्रशासन की ओर से मतदाता जागरुकता अभियान के तहत एक तांगा रैली का आयोजन किया गया। इस रैली में सबसे गंभीर तत्थ यह उभरकर सामने आए कि राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि का चिन्हित व दोषी एक अतिक्रमणकारी थानाध्यक्ष की वाहन ही नहीं, उसकी सीट पर बैठ कर रैली नियंत्रित कर रहा है।

हालांकि इस मामले की सूचना मिलते ही नालंदा जिलाधिकारी सह निर्वाची पदाधिकारी योगेन्द्र सिंह ने जल्द कार्रवाई करने की बात कही है।

यह अतिक्रमणकारी राजगीर थाना कांड संख्या- 85/2018 का मुख्य अभियुक्त है। जोकि प्रमंडलीय आयुक्त के निर्देश पर जांचोपरांत दर्ज कराई गई है। मलमास मेला सैरात भूमि पर अपना अवैध होटल बनाने के इस मामले तात्कालीन अंचलाधिकारी, राजस्वकर्मी, एवं भूमि सुधार उप समाहर्त्ता को भी नामजद सह अभियुक्त बनाया गया है।

तात्कालीन जांच कमिटि में उक्त चारो अभियुक्त दोषी पाए गए। तत्पश्चात सबों के खिलाफ गैरजमानती प्राथमिकी दर्ज करने के आदेश दिए गए। यह प्राथमिकी राजगीर भूमि उप समाहर्ता द्वारा दर्ज कराई गई है।

बहरहाल, लागू चुनाव आचार संहिता के बीच थाना की वाहन में पुलिस बल के साथ एक प्रशासनिक कार्यक्रम में उसकी उपस्थिति एक हलचल पैदा कर दी है।

साथ ही यह एक बड़ा सबाल खड़ा कर दिया है कि क्या वाकई राजगीर पुलिस-प्रशासन के लोग अपना सबकुछ दांव पर रख ऐसे लोगों के तलवे चाटती है, जिनकी छवि असमाजिक होती है? उनकी कार्रवाईयों में भी इसकी झलक साफ दिखती है।

आखिर सूचना के बाद भी खुले तौर पर संदिग्ध भूमिका में सामने आए थानाध्यक्ष और इसे नजरंदाज करने वाले इंसपेक्टर, डीएसपी, एसडीओ जैसे सक्षम अफसरों के खिलाफ कोई कार्रवाई न होना भी खुद में एक बड़ा सवाल है। ऐसे में कोई निष्पक्ष चुनाव की कल्पना कैसे कर सकता है, जहां का आलम इस तरह का हो।   

Share Button

Related News:

जल शक्ति अभियान के क्रियान्वन को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन
यूं मौत की राह बनी इस्लामपुर-कपटिया मोड़ सड़क को लेकर लावरवाह बने ठेकेदार-अफसर-नेता
धमकी के अनुसार जेल से छूटने की अगली सुबह जमीन कारोबारी को गोली मारी, मौत
हर्षोल्लास के बीच मन रहा रमजान का अंत 'ईद-उल-फितर'
आंधी से गम में बदली शादी की खुशियां, युवक की मौत पर मचा कोहराम
DM और DSE के आदेश को बेन BEO का ठेंगा, फर्जी शिक्षकों पर नहीं कर रही  FIR  
नव विवाहिता की हत्या, पति-सास पर लगा आरोप, 45 दिन पहले हुई थी शादी
ऑटो-बाइक की टक्कर में 2 अधिवक्ता समेत 6 घायल, 4 की हालत गंभीर 
राजगीर के इन दो ऐतिहासिक समारोह को लेकर डीएम की मैराथन बैठक, दिए ये अहम निर्देश
भूई के इस नृशंस हत्याकांड के 7 आरोपित धराए
यूं धूमधाम से मनाया गया लालू जी का 72वां जन्मदिन
हम  काम करते हैं, उसी आधार पर वोट मांगते हैं : नीतीश
राजगीर बीच बाजार युवक को गोली मारी, पटना रेफर
राजगीर थानाध्यक्ष ने जेनरेटर समेत धराए चोर को 2 दिन हाजत में रखने के बाद छोड़ दिया
जलवायु परिवर्तन पर तीन दिवसीय राज्यस्तरीय सेमिनार का आयोजन
देखिए ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार के बेन में प्राईमरी एजुकेशन का हाल !
दल विशेष की चंगुल में दिख रहा नालंदा MCMC कोषांग
शासन की हस्तक्षेप से उपद्रवियों की मंशा पर फिरा पानी
बाइक सवार दो कारोबारी सगे भाई को ट्रक ने रौंदा, मौके पर मौत
जो हमारे जुते से डर गए, वे क्या मुकाबला करेंगे, 3 लाख से हराएंगेः आजाद
राजगीर में पुलिस-ग्रामीणों के बीच गोलीबारी, 3 पुलिसकर्मी जख्मी, एक रेफर 
25 हजार के सिक्के लेकर पहुंचे बसपा प्रत्याशी, नजारत को गिनने में छूटे पसीने
बेउर जेल से पुलिस को दारु पिला हुआ फरार, फिर नालंदा से आकर रांची में कर डाला 'निर्भया कांड'
ट्रेन की जानकारी लेने गए छात्र पर गिरी सोलर पोल, मौके पर मौत, बवाल, जाम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» राजगीर में पुलिस-ग्रामीणों के बीच गोलीबारी, 3 पुलिसकर्मी जख्मी, एक रेफर    » दहेज की रकम वापस मांगी तो दामाद ने ससुर की गोली मार कर दी हत्या   » मंत्री,पूर्व विधायक-पार्षद की तिकड़म से बिहार शरीफ महापौर की कुर्सी बरकरार   » जेल में घंटो खाक छाने अफसर,लेकिन नहीं मिला कोई आपत्तिजनक चीजें   » अखिल भारतीय जरासंध अखाड़ा परिषद की महत्वपूर्ण बैठक में उभरी यूं चिंताएं   » हिलसा कोर्ट में पुलिस अभिरक्षा से फरार कैदी पेड़ के नीचे बैठे धराया   » हिलसा कोर्ट में पुलिस अभिरक्षा से एक कैदी हथकड़ी सरका कर फरार   » पुलिस हाजत में जदयू नेता की हत्या को लेकर बिहार रविदास विकास संघ तेवर तल्ख, किया DM का घेराव, कहा-SP-DSP पर हो केस   » मोबाइल छीन भाग रहे झपट्टामार गिरोह के 4 बदमाश मॉबलीचिंग से यूं बचे   » उप मेयर का चयन अब त्रिकोणीय होने के आसार