जमात से फिर जात पर आ टिके नीतीश, आसान नहीं है कौशलेन्द्र की हैट्रिक

Share Button

“पहले जात और उसके बाद जिस जमात के बल नीतीश कुमार नालन्दा की राजनीति में वर्चस्व कायम रखते आए हैं, वही समीकरण अब महागठबंधन के प्रत्याशी के पक्ष में खड़ा दिख रहा है…”

नालंदा दर्पण (एस.भारती)। सुशासन बाबू के गृह जिला नालन्दा में विकास नहीं, अब जातिवाद बोलता है कि चुनाव में क्या होना है। ज्यों ज्यों चुनाव प्रचार का क्रम बढ़ रहा है। राजनीतिक दलों के समर्थक जातीय गोलबंदी में एकजुट होने लगे है।

सोशल इंजीनियरिंग के मास्टर नीतीश कुमार अपने ही गृह जिला में जाति के चक्रव्यूह में उनके उम्मीदवार कौशलेंद्र कुमार पिछड़ते दिख रहे हैं और हैट्रिक का सपना टूटने के कगार पर है।

सोशल इंजीनियरिंग के बदौलत बिहार में सत्ता की कुर्सी पर काबिज रहने के लिए सीएम नीतीश कुमार ने अपने सिद्धांतों से समझौता कर जंगलराज की हमेशा दुहाई देने वाले राजद से भी दोस्ती कर ली। अब जब मुख्यमंत्री फिर से एनडीए में शामिल है और यहां जीत की हैट्रिक लगाने के लिए कौशलेंद्र पर ही दांव लगा दिया।

पार्टी सूत्रों की माने तो दर्जनों दावेदार को खारिज करने से पार्टी में अंदरूनी कलह भी है, जिसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

कभी लालू तो कभी नीतीश का जिन्न समझे जाने वाले महागठबंधन के अति पिछड़ा उम्मीदवार अशोक आज़ाद चन्द्रवँशी (कहार) जाति के होने से अतिपिछड़ों के अन्य जातियों का समर्थन भी इन्हें मिल रहा है।

नालन्दा संसदीय क्षेत्र में 2 लाख चन्द्रवँशी मतदाता के साथ अतिपिछड़ों के 5 लाख मतदाता, यादव 3 लाख,  मुस्लिम 1 लाख 75 हज़ार के अलावे जिले में पासवान, कुशवाहा, राजपूत, पासी, चौधरी, बेलदार, रविदास सहित अत्यंत पिछड़ा वर्ग एवं अनुसूचित जाति के वोटर महागठबंधन प्रत्याशी के पक्ष में माहौल बनाते दिख रहे है।

वही नालन्दा संसदीय क्षेत्र में नीतीश कुमार द्वारा कोचईसा कुर्मी की राजनीतिक उपेक्षा के कारण इस वर्ग का वोट भी महागठबंधन को मिलने की हलचल राजनीतिक गलियारों में दिख रही है।

विभिन्न सामाजिक और जातीय संगठनों ने तो महागठबंधन प्रत्याशी को समर्थन का एलान भी कर दिया है।

महागठबंधन के विभिन्न पार्टियों राजद, काँग्रेस, हम, भीआईपी पार्टी के परंपरागत वोट के समीकरण के हिसाब से यादव, मुस्लिम, चन्द्रवँशी, अतिपिछड़ा, मांझी और अनुसूचित जाति के वोट बैंक सीधे सीधे महागठबंधन के पक्ष में जाता दिख रहा है।

स्वर्ण समाज के संगठनों के लोग भी भविष्य की रणनीति के तहत नीतीश विरोध की आवाज़ बुलंद कर रहे है।

वही 2014 में मात्र 9 हज़ार वोट से हारने वाले एनडीए के अतिपिछड़ा प्रत्याशी सत्यानन्द शर्मा के समर्थक भी इस बार अशोक आज़ाद के मजबूत स्तम्भ बने हुए है, जो नीतीश के तिलिस्म तोड़ने की फिराक में हैं।

यकीनन विकास के दावों के बीच नालन्दा में सामाजिक और राजनैतिक उपेक्षा के शिकार मतदाताओं  की  गोलबंदी का प्रभाव ही है कि बिहार के कथित नम्बर दो के जदयू नेताओं को  गाँव और गलियों में बैठक करने को मजबूर होना पड़ा है।

विश्व को ज्ञान देने वाली धरती नालन्दा के राजनीतिक समीकरण  जार्ज साहब की नालन्दा में उपस्थिति महसूस करा रही है।

यही वजह है कि जदयू उम्मीदवार कौशलेंद्र के पसीने खुशनुमा मौसम में भी नही सुख पा रहे है, जिसकी शिकन गांव और शहरों के मतदाताओं को भी दिख रही है।

Share Button

Related News:

विधवा मां को 8 माह से नहीं मिला मुआवजा, सरकारी वेशर्मी की हद
नगरनौसा जेई की काली करतूत, खुद की लापरवाही ब्लैकमेलिंग का जरिया न बना तो हाइवा को फंसा दिया
वेशर्मीः जिन वार्ड पार्षदों ने लाया अविश्वास, वे उपाध्यक्ष संग गंगटोक, भूटान, थीम्फु जैसे ठंढे प्रदे...
माधोपुर तीमुहानी डिवाइडर से टकराई पिकअप,3 की मौके पर मौत, 7 जख्मी, गंभीर हालत में 3 पटना रेफर
चुनावी रंजिशः पोलिंग एजेंट बने जदयू नेता और उनकी पत्नी को बदमाशों ने पीटा, पैसे-आभूषण भी छीने  
नगर पंचायत कार्यालयः यहां सब गोलमाल है भई, सब गोलमाल
प्रशासनिक सांठगांठ से जिला परिषद की जमीन पर भू-माफिया यूं बना रहे होटल-मकान
भूई के इस नृशंस हत्याकांड के 7 आरोपित धराए
सीएम के गृह प्रखंड में स्वास्थ्य व्यवस्था का आलम यह तो बिहार का नजारा क्या होगा?
हम प्रत्याशी समर्थकों ने छोटे-छोटे बच्चों को चुनाव प्रचार में यूं लगाया
देखिए ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार के बेन में प्राईमरी एजुकेशन का हाल !
रंगदारों ने ऑटो को क्षतिग्रस्त कर चालक को पीटा
डीएम ने ई-गवर्नेंस की बैठक दिए ये अहम निर्देश, आप भी जानिए
छत ढलाई के दौरान 40 फीट यूं नीचे गिरा मशीन संचालक, मौत
पत्रकार आसुतोष के घर पहुंचे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय
नीतीश ने बेन में मोदी सरकार बनाने के लिए मांगी वोट
बदमाशों ने यूं मारपीट कर राहगीर से हजारों की संपति लूटी
ई देखिए प्रवासी विधायक रवि ज्योति के कोरई का हाल!
गायब नवजात को लेकर बढ़ा बवाल, PHC में तोड़फोड़, पथराव, फायरिंग, वाहनों के शीशे तोड़े
शराब पीने से मना किया तो एक बेटे के तिलक समारोह में घूस दूसरे बेटे को गोलियों से यूं छलनी कर मार डाल...
दो अलग हादसों में सरकारी नर्स-शिक्षिका की मौत, अन्य 3 गंभीर रुप से जख्मी
सीएम के नालंदा में जल्लाद राजः पीट-पीट कर पूर्व पंच की हत्या
हिलसा के स्कूल हॉस्टल में लगी भयानक आग, दो बच्चे झुलसे, कईयों चोटिल
नगरनौसा में विवाहिता ने यूं फांसी लगा की आत्महत्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
loading...
Don`t copy text!
» डीएम ने ई-गवर्नेंस की बैठक दिए ये अहम निर्देश, आप भी जानिए   » राजगीर बीच बाजार युवक को गोली मारी, पटना रेफर   » शासन की हस्तक्षेप से उपद्रवियों की मंशा पर फिरा पानी   » समस्याग्रस्त नगर में चल रहा मेयर-उप मेयर की घिनौनी राजनीति   » बाप को गोली मारने जा रहा बेटा हथियार समेत धराया   » पेयजल समस्या को लेकर ग्रामीणों ने 3 घंटा रखा इस्लामपुर-पटना मुख्य सड़क जाम   » फिर बौराई पुलिस, सेवानिवृत शिक्षक को शराब कारोबारी बना हाजत में किया बंद   » प्रेमिका के चक्कर में पत्नी को जिंदा जला कर मार डाला!   » मनरेगा में लाखों का फर्जीवाड़ा, विरोध में नगरनौसा थाना का घेराव!   » अब कानून की धज्जियां उड़ाने वाले बिहार थाना इंस्पेक्टर दीपक कुमार का नपना तय