जमात से फिर जात पर आ टिके नीतीश, आसान नहीं है कौशलेन्द्र की हैट्रिक

Share Button

“पहले जात और उसके बाद जिस जमात के बल नीतीश कुमार नालन्दा की राजनीति में वर्चस्व कायम रखते आए हैं, वही समीकरण अब महागठबंधन के प्रत्याशी के पक्ष में खड़ा दिख रहा है…”

नालंदा दर्पण (एस.भारती)। सुशासन बाबू के गृह जिला नालन्दा में विकास नहीं, अब जातिवाद बोलता है कि चुनाव में क्या होना है। ज्यों ज्यों चुनाव प्रचार का क्रम बढ़ रहा है। राजनीतिक दलों के समर्थक जातीय गोलबंदी में एकजुट होने लगे है।

सोशल इंजीनियरिंग के मास्टर नीतीश कुमार अपने ही गृह जिला में जाति के चक्रव्यूह में उनके उम्मीदवार कौशलेंद्र कुमार पिछड़ते दिख रहे हैं और हैट्रिक का सपना टूटने के कगार पर है।

सोशल इंजीनियरिंग के बदौलत बिहार में सत्ता की कुर्सी पर काबिज रहने के लिए सीएम नीतीश कुमार ने अपने सिद्धांतों से समझौता कर जंगलराज की हमेशा दुहाई देने वाले राजद से भी दोस्ती कर ली। अब जब मुख्यमंत्री फिर से एनडीए में शामिल है और यहां जीत की हैट्रिक लगाने के लिए कौशलेंद्र पर ही दांव लगा दिया।

पार्टी सूत्रों की माने तो दर्जनों दावेदार को खारिज करने से पार्टी में अंदरूनी कलह भी है, जिसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

कभी लालू तो कभी नीतीश का जिन्न समझे जाने वाले महागठबंधन के अति पिछड़ा उम्मीदवार अशोक आज़ाद चन्द्रवँशी (कहार) जाति के होने से अतिपिछड़ों के अन्य जातियों का समर्थन भी इन्हें मिल रहा है।

नालन्दा संसदीय क्षेत्र में 2 लाख चन्द्रवँशी मतदाता के साथ अतिपिछड़ों के 5 लाख मतदाता, यादव 3 लाख,  मुस्लिम 1 लाख 75 हज़ार के अलावे जिले में पासवान, कुशवाहा, राजपूत, पासी, चौधरी, बेलदार, रविदास सहित अत्यंत पिछड़ा वर्ग एवं अनुसूचित जाति के वोटर महागठबंधन प्रत्याशी के पक्ष में माहौल बनाते दिख रहे है।

वही नालन्दा संसदीय क्षेत्र में नीतीश कुमार द्वारा कोचईसा कुर्मी की राजनीतिक उपेक्षा के कारण इस वर्ग का वोट भी महागठबंधन को मिलने की हलचल राजनीतिक गलियारों में दिख रही है।

विभिन्न सामाजिक और जातीय संगठनों ने तो महागठबंधन प्रत्याशी को समर्थन का एलान भी कर दिया है।

महागठबंधन के विभिन्न पार्टियों राजद, काँग्रेस, हम, भीआईपी पार्टी के परंपरागत वोट के समीकरण के हिसाब से यादव, मुस्लिम, चन्द्रवँशी, अतिपिछड़ा, मांझी और अनुसूचित जाति के वोट बैंक सीधे सीधे महागठबंधन के पक्ष में जाता दिख रहा है।

स्वर्ण समाज के संगठनों के लोग भी भविष्य की रणनीति के तहत नीतीश विरोध की आवाज़ बुलंद कर रहे है।

वही 2014 में मात्र 9 हज़ार वोट से हारने वाले एनडीए के अतिपिछड़ा प्रत्याशी सत्यानन्द शर्मा के समर्थक भी इस बार अशोक आज़ाद के मजबूत स्तम्भ बने हुए है, जो नीतीश के तिलिस्म तोड़ने की फिराक में हैं।

यकीनन विकास के दावों के बीच नालन्दा में सामाजिक और राजनैतिक उपेक्षा के शिकार मतदाताओं  की  गोलबंदी का प्रभाव ही है कि बिहार के कथित नम्बर दो के जदयू नेताओं को  गाँव और गलियों में बैठक करने को मजबूर होना पड़ा है।

विश्व को ज्ञान देने वाली धरती नालन्दा के राजनीतिक समीकरण  जार्ज साहब की नालन्दा में उपस्थिति महसूस करा रही है।

यही वजह है कि जदयू उम्मीदवार कौशलेंद्र के पसीने खुशनुमा मौसम में भी नही सुख पा रहे है, जिसकी शिकन गांव और शहरों के मतदाताओं को भी दिख रही है।

Share Button

Related News:

ट्रैक्टर से भीषण टक्कर के बाद 150 मीटर बिना चालक चलती रही यात्री बस, बड़ा हादसा टला
नगरनौसा बवालः उधर दूसरे गुट ने एसटीएसी थाना में यूं किया छेड़खानी का केस🤔
यहां हर रोज एक हत्या, आज गैस संचालक की चाकू गोद कर हत्या, सुशासन बना काला दाग
बेन सीओ-ट्रेजरी अफसर की बड़ी लापरवाही, दशहरा में भी वेतन से बंचित ये चौकीदार
नर्तकियों के अश्लील ठुमके के दीवाने हुए जदयू विधान पार्षद हीरा बिंद
बैंक मैनेजर का निर्देश- न निकालें SBI के इन ATM  से पैसे
थरथरी थाना हाजत से 2 कैदी फरार, पुलिस की घोर लापरवाही फिर आई सामने
हरनौत से बिहारशरीफ जा रहे शिक्षक को बेना थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े गोली मारी, हालत गंभीर
डी.एम.का जनता दरबार या मजाक?खुद डी.एम.संजय कुमार अग्रवाल ही घुमावदार नज़र आता है!
डीजे से दबकर बच्चा की मौत, आक्रोशितों ने डीजे-ट्रैक्टर को फूंका
सड़क जाम, आगजनी, पुलिस पिटाई मामले में 50 नामजद एवं 100-150 अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज
अखिल भारतीय जरासंध अखाड़ा परिषद की महत्वपूर्ण बैठक में उभरी यूं चिंताएं
बिहार शरीफ-राजगीर फोरलेन का निर्माण कार्य जून तक पूरा करने का निर्देश
सड़क पर ऐसे बनेंगे तेज तो मरेंगे ही ये बिगड़ैल बच्चे !
गोपालगंज ठेकेदार हत्याकांड के आरोपी कार्यपालक अभियंता का इस्लामपुर स्थित पैत्रिक घऱ कु्र्क
जब तक जेल में चना रहेगा, ऐसे लोगों का आना-जाना बना रहेगा : नीरज
वोट वहिष्कार के बीच बूथ निरीक्षण करने पहुंची बीडीओ पर विफरे ग्रामीण
रंगीला बीघा के पइन में 30 बोरा मांस मिलने से सनसनी
लू को लेकर नालंदा में भी धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू, पुलिस-प्रशासन चौकस
पुलिस-प्रशासन लाचार या संरक्षक? फिर सामने आया ऐसा वायरल वीडियो!
रात्रि पुलिस गश्ती के दौरान धराए प्रेमी-प्रेमिका की थानाध्यक्ष की देखरेख में हुई यूं मदिर में शादी
सड़क हादसे में एक महिला की मौत, एक बुजुर्ग की हालत गंभीर
2 लोगों के भूमि विवाद में भीड़ से उलझी पुलिस, महिला की पिटाई, लोगों का पथराव, सड़क जाम
बिना करंट तार जोड़े फाईलों में चकाचक हो गया राजगीर!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» डीजीपी ने सोनपुर मेला-2019 में एसपी समेत इन पुलिस अफसर-कर्मियों को किया सम्मानित   » सोनपुर मेला-2019 में नालंदा एसपी समेत ये पुलिस अफसर-कर्मी होंगे सम्मानित     » शराब माफिया ‘बल्लुआ’उर्फ‘पल्लुआ’ समेत 3 लोगों को मिली 10 साल की सजा   » गल्ला व्यवसायी के साथ लूट, विरोध करने पर तोड़ा जबड़ा   » गरीब-बच्चों की सेवा में ही जगत का कल्याण : ई.रविशंकर   » BDO को कार्यालय में घुसकर पीटा, बोले SDO- होगी कड़ी कार्रवाई     » बेखौफ बदमाशों ने युवक को सरेआम गोली मारी, हालत गंभीर,पटना रेफर   » हटिया-इस्लामपुर एक्सप्रेस गैस लदी वाहन से टकराई, बड़ा हादसा टला, 2 गंभीर   » बोले इसलामपुर सीओ- मानवाधिकार नेम प्लेट लगी वाहनों की होगी जांच   » बालू माफियाओं को पुलिस-प्रशासन का खुला शह, ग्रामीणों ने खनन अधिकारी को मौके पर धुना