बेन ईलाके में इस बार त्रिकोणीय मुकाबले में फंसे राजग प्रत्याशी

Share Button

“इस तरह यहां भी चुनाव पूरी तरह जातीय समीकरण पर ही नजर आ रहा है। भ्रष्टाचार और विकास की मुद्दा पूरी तरह से गायन है। जो लोग कल तक सत्ताधारी दल के साथ रहकर मलाई खाने का काम किया करते थे, वे आज जातीय समीकरण में घिरते नजर आ रहे है….”

नालंदा दर्पण (रंजीत)। नालंदा लोकसभा क्षेत्र में चुनाव की तिथियां जैसे जैसे नजदीक दिख रहा है, वैसे बेन बाजार एवं उसके गाँवो में राजनीतिक तापमान भी चढ़ने लगा है।

लोग चाय की चुस्की के साथ अपने अपने प्रत्याशी के पक्ष में जातिगत गणित समझाने में लगे हुए है। ऐसे तो यहां मुख्य मुकाबला राजग  एवं महागठबंधन के बीच दिख है, लेकिन  त्रिकोणात्मक लड़ाई को रोचक बनाने में लगे है हिंदुस्थान निर्माण दल के प्रत्याशी राम चरित्र प्रसाद सिंह।

वे लगातार अपने स्वजातीय वोटरों के यहाँ अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे है। साथ ही अन्य जाति के वोटर के पास जाकर वोट देने की अपील कर रहे है। वहीं कई दमदार निर्दलीय प्रत्याशी भी काफी वोट झटकते दिख रहे हैं।

इधर कई लोग गठबंधन धर्म का पालन को भी दरकिनार कर दूसरे दलों के पक्ष में प्रचार प्रसार करते नजर आ रहे है। चुनाव की तिथि नजदीक आते देख कई संगठन भी अपने अपने चहेते के पक्ष में समर्थन देने की घोषणा कर चुके है।

यह तो मतगणना के बाद ही पता चलेगा कि ऊँट किस करबट बैठेगा। यहां सीएम नीतीश कुमार की चुनावी सभा हो चुकी है। अन्य दलों के वरीय नेता के चुनावी सभा भी हुई है।

पूर्व मुख्यमंत्री के एमएलसी पुत्र संतोष सुमन अपने स्वजातीय को लुभाने में लगे है और नालंदा क्षेत्र में कैम्प किये हुए है। वे इस क्षेत्र को अपनी प्रतिष्ठा का सीट बता रहे है।

फिलहाल, चर्चाओं और उभरे समीकणों को देखने से साफ लग रहा है कि यहां त्रिकोणीय मुकाबले में निवर्तमान सांसद फंसे हुए हैं। जैसा कि पहले के चुनाव में नहीं देखा गया है।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Don`t copy text!