नालंदा दर्पण। इस्लामपुर प्रखंड के डौरा गांव के खंधा में लगी पान फसल की वरेजा में आग लगने से लाखों का नुकसान होने की खबर है। आग की लपटें इतनी तेज थी कि देखते-देखते पान किसानों की खिले चेहरे मुरझा गए।

इस अप्राकृतिक मार से बेहाल किसानों ने बताया कि इससे उनके परिवारों के मुंह का निवाला छीन गया है। अब बाल बच्चों की शादी व पढाई  के साथ परिवार का भरण पोषण एंव महाजन का कर्ज का चुकता के साथ पुनः इस पुश्तैनी धंधा की शुरुआत होगी, इसकी चिंता सताने लगी है।

इस अगलगी में इस डौरा गांव के चार पान कृषकों की पान लगी लगभग एक बिगहा में लगी 58 आतर फसल नुकसान हुआ है। जिसमें पान कृषक शम्भु चौरसिया, श्रवण कुमार, मथुरा प्रसाद, राजो प्रसाद शामिल है। लगी आग पर दमकल से काबू पाया गया है।

इधर मगही पान कृषक कल्याण संस्थान के अध्यक्ष लक्ष्मीचंद चौरसिया,जानकी चौरसिया, अशोक चौरसिया, धीरज कुमार आदि ने सरकार से पीड़ितों को तत्काल मुआवजा देने की मांग की है।

वहीं पीड़ितो ने की सूचना पर सीओ नलीन विनोद पुष्पराज ने बताया कि जांच पड़ताल करवाकर पीड़ितों को उचित मुआवजा दिया जाएगा।

इधर सुत्रों का कहना है कि खेत में गेंहूं की खुटी जल रहा था। उसी आग की चिंगारी से यह अगलगी की घटना घटी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here