मुआवजा को लेकर लोगों ने घंटो NH 30A जाम कर की खुली गुंडई, पुलिस बनी रही मूकदर्शक

चंडी (नालन्दा दर्पण)। बीती शाम सड़क दुर्घटना में मृत व्यक्ति के परिवार को मुआवजा राशि दिलाने के लिए शनिवार के दिन सैंकड़ों ग्रामीणों ने दनियावां-बिहार शरीफ राष्ट्रीय उच्च राजपथ संख्या 30 ए को घण्टों जाम कर जमकर गुंडागर्दी की। इस दौरान चंडी थाना पुलिस मूकदर्शक बनी रही।

बता दें कि बीती शाम घर आने के क्रम में रामघाट बाजार के पास सड़क हादसे में भदरु गांव निवासी राकेश कुमार की मौत हो गई। इस हादसे के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को शव सौंप दिया।

लेकिन शनिवार की सुबह भदरु गांव के सैंकड़ों ग्रामीणों ने मुआवजा राशि की मांग करते हुए धरमपुर पुल के पास शव को मेन रोड पर रख जाम कर दिया। जाम लगा रहे ग्रामीणों ने दो पिकप वैन को निशाना बनाया और उसे क्षतिग्रस्त कर दिया तथा उसके ड्राइवर समेत कई लोगों के साथ मार पीट की।  

ग्रामीणों की मारपीट में वैन का ड्राइवर फतुहां गोविंद पुर निवासी मुना कुमार एवं  शाहजहांपुर निवासी सतीश शर्मा घायल हो गए।

घायल सतीश शर्मा ने बताया कि वे अपने परिवार के साथ देवघर से मुण्डन करा कर वापस लौट रहे थे कि उसने जाम देखते ही गाड़ी रोक दिया। लेकिन जब तक वे कुछ समझ पाते कि अचानक अनेक ग्रामीण लाठी, डंडा लेकर गाड़ी पर  टूट पड़े और जमकर मारपीट की।

ग्रामीणों की इस हरकत के दौराऩ घटनास्थल पर मौजूद सर्किल इंस्पेक्टर दुर्गेश कुमार, चण्डी थानाध्यक्ष चंचल कुमार दलबल मौजूद होने के बाबजूद मूकदर्शक बने रहे।

फिर घंटों बाद भुतहाखाड मुखिया पति एवं रामपुर मुखिया के हस्तक्षेप से किसी तरह जाम हट पाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here