सांसद-विधायक कभी झांकने नहीं आया गांव, लोगों ने किया वोट वहिष्कार

Share Button

“वर्ष 1990 में सासंद विजय कुमार ने इस गांव की विकास के लिए 24 हजार रुपए अपने फंड से दिये, उसके बाद से कोई भी सांसद या विधायक इस गांव की सुध लेने नहीं आया……..”

नालंदा दर्पण। इस्लामपुर नगर एवं उसके आस पास के कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम मशीन की गड़बड़ी के कारण मतदान काफी बिलंब से शुरु हुआ।

वहीं, हरसेनी गांव के लोगों ने विकास की मामलों को लेकर वोट वहिष्कार कर दिया। ग्रामीण योगेंद्र प्रसाद, अमरेंद्र कुमार, उदय कुमार, रंजीत कुमार, पवन कुमार, महेश यादव आदि ने बताया कि वर्ष 1990 में सासंद विजय कुमार ने इस गांव की विकास के लिए 24 हजार रुपए अपने फंड से दिये थे।

उसके बाद से कोई भी सांसद या विधायक इस गांव की सुधी तक लेने नहीं आया, जबकि यह गांव से पक्की सड़क से जुड़ा है। लेकिन पक्की सडक तक जाने वाली कच्ची सड़क को पक्कीकरण नहीं किया गया।

इतना ही नहीं, गांव में नली से लेकर गली की समस्या बरकरार है। नाली की पानी का निकास नहीं होने से बरसात के समय में घर से लोगों को निकलना मुश्किल हो जाता है और स्कूली छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

ग्रामीण सासंद विधायक के प्रति आक्रोश व्यक्त कर रहे थे। और गांव का विकास नहीं तो वोट नही का नारे लगा रहे थे।

उत्क्रमित मध्य विद्यालय हरसेनी के मतदान केंद्र पर तैनात पीठासीन पदाधिकारी मो. सुएव रजद ने बताया कि इस मतदान केंद्र 259 पर वोट नहीं पडा है। जबकि हमारे अलावे पी वन टिंकु कुमार, पी टू विख्यात कुमार, पी थ्री राजनंदन प्रसाद मतदान कर्मी के अलावे पुलिस वल मौजुद है।

इसी प्रकार मतदान केंद्र संख्या 168 पर .00 3 प्रतिशत तो मतदान केंद्र संख्या 159 पर 30 प्रतिशत वोट पडा है।

मतदाताओं की रुझान देखने को नहीं मिल रहा है, जिसके कारण मतदान का प्रतिशत में वढ़ोतरी नहीं हो रहा है। जबकि हर जगह मतादान केंद्रो पर शांतिपूर्ण व्यावस्था है।

हरसेनी पर तैनात मतदान कर्मी……

Share Button

Related News:

नगर परिषद की विकास बैठक से गायब रहे मुख्य पार्षद
बिहार शरीफ अस्पताल में देखिए पुलिस की मौजूदगी में हुई कैसी बड़ी नौटंकी
मॉब लींचिंग जारी, अब बच्चा चोर बोल बिजली पोल से यूं बांध बुजुर्ग की बेरहम पिटाई
सरकारी रेफरल अस्पताल को नर्सों ने बनाया यूं वसूली केंद्र
फंदे से यूं लटका मिला इंटर की छात्र का शव, हत्या की आशंका
बड़ी दरगाह-खानकाह मुअज्जम में करीब 4.85 करोड़ खर्च से बनेगा मुसाफिर खाना
अंधेरगर्दीः बिना प्रावधान कर दिया गया इन प्रखंड संसाधन कर्मियों का ट्रांसफर
स्कूल से सटे रसोइ गैस गोदाम, वितरक की मनमानी से उपभोक्ता परेशान
मवेशी विवाद में 2 भाई को गोली मारी, हालत गंभीर, पटना रेफर
हिलसा कोर्ट में पुलिस अभिरक्षा से फरार कैदी पेड़ के नीचे बैठे धराया
बिहार:गरीबों को टरकाते हैं हिलसा अनुमंडल के पदाधिकारी
डी.एम.का जनता दरबार या मजाक?खुद डी.एम.संजय कुमार अग्रवाल ही घुमावदार नज़र आता है!
मतदाता जागरूकता अभियान के तहत यूं निकली टांगा रैली
राजगीरः उधर DGP का निर्देश, शराब के खिलाफ जंग, इधर देखिए पाठशाला में शराबी का उत्पात
प्रमंडलीय आयुक्त के निर्देश पर नगर आयुक्त ने किया नाली-गली का निरीक्षण
बोले नालंदा एसपी- ‘पैथोलॉजी के क्षेत्र में भी बड़े बदलाव की जरूरत’
DM-SP के व्हाट्सएप्प को लेकर कंप्लेन, सीएम ने CS-HS को दिए जांच के निर्देश
शाम अंधेरे महिलाओं को घर में घुसकर पीटना राजगीर पुलिस को महंगा पड़ा
कौशलेन्द्र की हैट्रिक पर एनडीए समर्थकों में जश्न का माहौल, बांटी मिठाईयां
डीएम ने की मानवाधिकार, लोकायुक्त, सेवांत लाभ से संबंधित मामलों की समीक्षा
चिराग तले अंधेरा वाली कहावत चरितार्थ है नालंदा जिला में.
सरमेरा में युवक को मां-भाई के सामने गोलियों से भूना, मौके पर मौत
5-6 घंटे यूं उपद्रवियों की चपेट में रहा हिलसा नगर, पुलिस दिखी असहाय
पति ने पत्नी की हत्या कर खेत में दफनाया, 7 दिन बाद शव बरामद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» गरीब-बच्चों की सेवा में ही जगत का कल्याण : ई.रविशंकर   » BDO को कार्यालय में घुसकर पीटा, बोले SDO- होगी कड़ी कार्रवाई     » बेखौफ बदमाशों ने युवक को सरेआम गोली मारी, हालत गंभीर,पटना रेफर   » हटिया-इस्लामपुर एक्सप्रेस गैस लदी वाहन से टकराई, बड़ा हादसा टला, 2 गंभीर   » बोले इसलामपुर सीओ- मानवाधिकार नेम प्लेट लगी वाहनों की होगी जांच   » बालू माफियाओं को पुलिस-प्रशासन का खुला शह, ग्रामीणों ने खनन अधिकारी को मौके पर धुना   » हिलसा में गाजे-बाजे के साथ निकला महाराज जरासंध का विशाल जुलूस   » यहां आकर्षण का मुख्य केंद्र बना भगवान भास्कर की प्रतिमा   » समूचे जिले में प्रकृति महापर्व छठ श्रद्धामय वातावरण में संपन्न   » छठ घाट में डूबने से बालक की मौत, प्रशासन ने दिए 4.20 लाख