जिलाध्यक्ष की कार्यशैली पर बरसे कौशलेन्द्र, बोले- अपनाया गया असंवैधानिक प्रोपगंडा

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। नालंदा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी रहे कौशलेन्द्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया ने पार्टी जिलाध्यक्ष द्वारा पार्टी से 6 वर्षो के लिए निकाले जाने की कार्रवाई पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

उन्होंने कहा कि उन पर जिलाध्यक्ष रामसागर सिंह द्वारा लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी कार्य करने का आरोप लगाया गया है। उसकी न तो उन्होंने जाँच की, न ही उन्हे किसी तरह से लिखित तौर पर सूचना दिया और सीधे मीडिया को प्रेस रिलीज जारी कर गैर संवैधानिक तरीका से पार्टी से निकालने की प्रोपगंडा बनाया गया।

उन्होंने कहा कि वे प्रदेश कार्य समिति के सदस्य है। पार्टी से निष्कासित करने का अधिकार प्रदेश के सक्षम पदाधिकारियों को है। उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि जिलाध्यक्ष को प्रदेश कार्य समिति के सदस्य को पार्टी से निष्कासित करने का अधिकार नहीं है। प्रदेश कार्यसमिति अगर कोई निर्णय लेती है तो वह मान्य होगा।

छोटे मुखिया ने कहा कि उनकी आस्था राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में  है और आजीवन रहेगा। जबकि जिलाध्यक्ष की हरकत से उन्हें और उनके समर्थकों के सम्मान को भारी ठेस पहुँचा है।

इस मौके पर भाजपा युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष राकेश कुमार, नूरसराय मंडल अध्यक्ष मुन्ना सिंह, जिला पार्षद अनिरुद्ध कुमार, राजगीर प्रखंड के अध्यक्ष कौशल कुमार दीपू, महामंत्री रजनीश चौहान, डीपीएस कुशवाहा मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here