“यह मामला है सूबे के नालंदा जिले में कथित सबसे बेहतर मेडिकल कॉलेज पावापुरी का, जहां जूनियर डॉक्टरों की खुलेआम गुंडागर्दी देखने को मिली…..”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (दीपक विश्वकर्मा)। पश्चिम बंगाल में जूनियर डाक्टरों की पिटाई हुई और नालंदा में जूनियर डाक्टर ने ही मरीज के परिजन को ही बेरहमी से पीट डाला।

दरअसल शेखपुरा जिला निवासी राकेश कुमार के पुत्र सुमन को तेज बुखार हुई थी, जिसे इलाज के लिए पावापुरी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया।

काफी देर तक भर्ती रहने के बाद चिकित्सकों ने इलाज शुरू नही किया तो अमित कुमार चिकित्सक को बोलने गए। इस पर डॉक्टर भड़क उठे और दोनों के बीच कहासुनी होने लगी।

बात इतनी बढ़ गयी कि जूनियर डॉक्टरों ने अपने अन्य सहयोगियों को बुला लिया और उसके साथ लाठी डंडे से मारपीट करने लगे।

मामले की जानकारी मिलते ही नालन्दा के एसपी नीलेश कुमार कई थानों की पुलिस के साथ अस्पताल पहुँचे और काफी मस्कत के बाद पिटायी कर रहे युवक को उन लोगों के चंगुल से छुड़ाया।

इस दौरान जूनियर डॉक्टरों और पुलिस पदाधिकारियो में हाथापाई भी हुई। पीड़ित अमित कुमार ने बताया कि पुलिस के प्रयास से उसकी जान बची है।

इस संबंध में पीड़ित द्वारा पावापुरी थाने में जूनियर डाक्टरों के विरुद्ध मामला दर्ज कराया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here