नगर निगम की कुर्सी जाने के बाबजूद मुकाबला में रहेंगी फूल कुमारी  

“कयास लगाए जा रहे हैं कि अब फूल कुमारी और शर्मीली परवीन के बीच मुकाबला होगा। हालांकि दूसरे पक्ष के द्वारा डिप्टी मेयर के कैंडिडेट की घोषणा नहीं की गयी है।….”

बिहार शरीफ (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। आखिरकार बिहार शरीफ नगर निगम के  उपमहापौर की कुर्सी आज चली गयी। उन पर ऊपर लगाए गए गंभीर आरोप आज सिद्ध  हो गए।

नगर निगम के सभागार में पार्षदों की विशेष सत्र बुलाई गयी अविश्वास बैठक में महापौर वीणा कुमारी की उपस्थिति में 27 पार्षदों द्वारा सदन मेंअविश्वास प्रस्ताव लाया गया।

बहस के बाद वोटिंग की गयी जिसमें जिसमे 27 मत अविश्वास के पक्ष में और 8 मत विपक्ष में पड़े जबकि 9 मत रद्द कर दिए गए।

आज की इस विशेष सत्र में कुल 46 पार्षदों में से 44 ही मौजूद थे, जबकि वार्ड संख्या 7 की रिंकी देवी और वार्ड संख्या 30 की शुशीला देवी अनुपस्थित रहीं। 

नगर आयुक्त सौरभ जोरवाल की अनुपस्थिति में जिलाधिकारी योगेंदर सिंह द्वारा प्रतिनियुक्त अपर समाहर्ता नौशाद अहमद की मौजूदगी में सदन की कार्रवाही चली।

इस मौके पर अपर समाहर्ता ने बताया कि इस प्रस्ताव को राज्य निर्वाचन आयोग को भेजा जाएगा बाद राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर 28 दिनों के भीतर नए डिप्टी मेयर का मतदान कराया जायेगा।

मतदान में कौन पार्षद क्रॉस वोटिंग करेंगे, इसका पता नहीं। मगर इस कुर्सी के लिए दोनों ओर से पूरजोर ताकत की आजमाइस की गयी थी।

उपमहापौर की कुर्सी जाते ही हॉर्स ट्रेडिंग का बाजार गर्म हो गया। यह कुर्सी की लड़ाई दो पूर्व डिपुटी मेयर शंकर कुमार और नदीम जफ़र उर्फ़ गुलरेज अंसारी के बीच हैं।

हालांकि दोनों वर्तमान समय में पार्षद नहीं है। शंकर कुमार की पत्नी फूल कुमारी वर्तमान में डिपुटी मेयर थीं और नदीम जफर की पत्नी शर्मीली परवीन वार्ड पार्षद हैं।

कयास लगाए जा रहे हैं कि अब फूल कुमारी और शर्मीली परवीन के बीच मुकाबला होगा।

हालांकि दूसरे पक्ष के द्वारा डिप्टी मेयर के कैंडिडेट की घोषणा नहीं की गयी है। मगर यह भी खबर पक्की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here