सीडीपीओ की दलील, वाहन बिना पैदल जाए आंगनवाड़ी केंद्र!

Share Button

“नालंदा सीएम के गृह जिले नालंदा में आंगनवाड़ी केंद्रों में मासूमों के नेवाला को खा रहे हैं सरकार के नुमाइंदे और बात करने पर तरह-तरह के बहाने बनाने से भी नहीं चुकते….”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (नालंदा ब्यूरो प्रमुख)।  यह हम नहीं कहते बल्कि, यह कहना है  नूरसराय के प्रखंड प्रमुख का निरीक्षण के दौरान बदहाल आंगनवाड़ी केंद्रों की हालत को देखकर बिफर पड़ी  प्रखंड प्रमुख  का।

उन्होंने कहा कि उन्होंने 10 से 12 केंद्रों का निरीक्षण किया। मगर एक भी केंद्र पर खाना नहीं बन रहा था। सबसे बड़ी बात यह है। कुछ केंद्रों पर दो या तीन बच्चे मिले, जबकि रजिस्टर में 30 से 35 बच्चों का फर्जी तरीके से अटेंडेंस बनाया हुआ था।

जब सीडीपीओ से इस मामले पूछा गया तो वही कहावत चरितार्थ हो गई,एक तो चोरी ऊपर से सीना जोरी। यानी अपने ऊपर आरोप लगते हुए वह प्रखंड प्रमुख से भिड़ गई।

नालंदा में सरकारी कर्मी की अफसर शाही का यह आलम है कि वे जनप्रतिनिधियों को बातों को सुनने को तैयार नहीं है। जिसका जीता जागता उदाहरण नूरसराय प्रखंड के पंचायत समिति सदस्यों की बैठक के दौरान देखने को मिला।

जहाँ प्रखण्ड प्रमुख सहित अन्य सदस्यों ने जब सीडीपीओ सुषमा देवी से आंगनबाड़ी केंद्रों की बदतर स्थिति को लेकर पूछा गया तो मैडम हर बार की तरह विभाग द्वारा वाहन उपलब्ध नही होने का रोना रोते हुए जनप्रतिनिधियों से ही उलझ गयी और प्रमुख को डांटने लगी।

हंगामा बढ़ता देख बीडीओ ने हस्ताक्षेप करते हुए दोनों को शांत कराया। प्रमुख का आरोप है कि प्रखंड के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों का हाल बुरा है। कुछ केंद्रों पर गाय भैस बंधे रहते है तो कुछ केंद्रों पर 1 या 2 बच्चे पढ़ने जाते है। जिसकी नियमित जाँच सीडीपीओ द्वारा नही की जाती है।

जबकि सीडीपीओ का कहना है कि विभाग द्वारा वाहन उपलब्ध नही किये जाने के कारण वे केन्दों पर नही जा पाती है।

इस बाबत बीडीओ से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि अगर विभाग द्वारा वाहन उपलब्ध नही कराया गया है तो वे भाड़े की गाड़ी को रख सकती है। मगर वे नहीं ले रही है तो इनके खिलाफ जिलाधिकारी को लिखा जाएगा।

सुनिए वीडियोः सब समझ में आ जाएगा…………..

 

Share Button

Related News:

पुलिस-प्रशासन लाचार या संरक्षक? फिर सामने आया ऐसा वायरल वीडियो!
पंचायत समिति की बैठक में अनियमितता पर हंगामा के बीच योजनाओं की हुई समीक्षा
भारी हंगामा-रोड़ेबाजी के बीच सेविका का हुआ कागजी चयन, चंडी सीडीपीओ की भूमिका संदिग्ध
48 घंटों से आमरण अनशन पर बैठी लूट की शिकार जीविका दीदीओं को थानेदार दे रहा उल्टे धमकी
बेन सीओ-ट्रेजरी अफसर की बड़ी लापरवाही, दशहरा में भी वेतन से बंचित ये चौकीदार
चंडी थाना की सुरक्षा ऐसी कि आरोपी वितंतु रुम से भाग गया, भनक तलाश रही पुलिस
सीएम के गृह प्रखंड में स्वास्थ्य व्यवस्था का आलम यह तो बिहार का नजारा क्या होगा?
अपहरण के बाद रहुई में विवाहिता से गैंग रेप, मामला घोसवरी थाना प्रेषित
महादलित की हत्या को लेकर भाकपा (माले) का प्रदर्शन, एसडीओ को सौंपा ज्ञापन
स्कूली बच्चों के भोजन में मृत बिच्छू ! लापरवाही या साजिश? जांच का विषय
एक हत्या के बाद एक शव मिलने से लोगों में दहशत
जिला निर्वाचन पदाधिकारी योगेन्द्र सिंह ने बैठक में दिए अहम निर्देश
मॉबलींचींग से बचा भैंस चोर, ग्रामीणों ने की जमकर धुनाई, हालत गंभीर
महागठबंधन प्रत्याशी को मिला जीविका दीदियों का समर्थन
नदी में डूबने से सपेरा पुत्र की मौत, सरकारी मुआवजा की मांग
बौद्ध धर्मालंबी मंगोलियन राष्ट्रपति ने किया नालंदा खंडहर का अवलोकन
थरथरी थाना हाजत से 2 कैदी फरार, पुलिस की घोर लापरवाही फिर आई सामने
बिहार शरीफः शव को लेकर पुलिस-प्रशासन के पसीने छूटे
सरमेरा नाबागिल रेप कांडः 18 माह बाद भी थेथर बनी है नालंदा महिला थाना पुलिस
हिलसा सीओ-नाजिर पर गिरी डीएम की गाज, सड़क हादसा के बाद मची थी भारी उपद्रव
पुलिस-प्रशासन पर हिलसा के मुस्लिम भाईयों में नहीं रहा भरोसा
हैदराबाद-रांची में रेपकांड के खिलाफ हिलसा में माले का नागरिक मार्च
120 करोड़ की योजना से बिहार शरीफ को जल जमाव से मिलेगी निजात : सौरभ जोरवाल
सड़क पर ऐसे बनेंगे तेज तो मरेंगे ही ये बिगड़ैल बच्चे !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» पुलिस ने पकड़ी 3 वाहन समेत शराब की बड़ी खेप, लेकिन कारोबारी फरार   » 550वां प्रकाश पर्व पर 27-29 दिसंबर को होगी ये विशेष व्यवस्था   » नेहरू युवा केंद्र द्वारा पंडितपुर में फुटबॉल प्रतियोगिता, उदय क्लब ने आजाद युवा को 2-0 से हराया   » इसलामपुर में 35 कार्टून अंग्रेजी शराब बरामद, ट्रैक्टर टेलर व ट्वेटा वाहन जप्त, 2 धराए   » नंदकिशोर महिला इंटर कॉलेज में 6.06 लाख की गबन का FIR दर्ज   » स्कूली बच्चों के भोजन में मृत बिच्छू ! लापरवाही या साजिश? जांच का विषय   » निगरानी डीएसपी ने थरथरी प्रखंड आवास सहायक को 10 हजार घूस लेते रंगे हाथ यूं दबोचा   » राजगीर नगर पंचायतः पूर्व पार्षद की शिकायत पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुख्य सचिव से मांगी जांच रिपोर्ट   » कोर्ट के आदेश की अवहेलना- ‘लापरवाह जेलर हाजिर हो’   » पर्यवेक्षण गृह नहीं, पाठशाला !