जब नालंदा की जमीं चंडी में पहली बार उतरा रामगढ़ महाराज का हेलिकॉप्टर!

Share Button

“स्व. कामख्या नारायण सिंह के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने अपना हेलिकॉप्टर भारत-चीन युद्ध के समय सरकार को उपयोग करने के लिए दे दी थी। उनके पास तीन हेलिकॉप्टर थे………. “

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क डेस्क।  नालंदा के चंडी प्रखंड के इतिहास में पहली बार कोई हेलिकॉप्टर 52 साल पहले  1967 में उतरा था। पहले बिहार और अब झारखंड के रामगढ़ राज परिवार के कामाख्या नारायण सिंह का हेलिकॉप्टर चंडी के डाकबंगला में सर्वप्रथम उतरा था।

1967 में लोकसभा और बिहार विधानसभा का चुनाव साथ हो रहा था। यह आखिरी चुनाव था, जब देश में 1952 से 1967 तक लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ हुआ करता था।

तब चंडी की अधिकांश जनता को उडनखटोले का दर्शन हुआ था। उस हेलिकॉप्टर पर रामगढ नरेश कामख्या नारायण सिंह के साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री महामाया प्रसाद सिन्हा भी थे।

चंडी  की ह्रदय स्थली बापू हाईस्कूल मैदान का अपना एक राजनीतिक और गौरवशाली इतिहास रहा है। यह मैदान आजादी की लड़ाई का गवाह रहा है। यहां कभी आजादी के दीवाने आजादी की लड़ाई लड़ने के लिए एकत्र होते थे।

चंडी प्रखंड के गोखुलपुर निवासी बिंदेश्वरी सिंह इसी मैदान से 15 अगस्त 1942 को थाना पर रोडेबाजी कर दी थी। जबाब में पुलिस पुलिस की गोलीबारी में वे वही शहीद हो गए थे।

इस मैदान पर जेपी आंदोलन के दौरान कई नेताओं का आना जाना लगा रहता था। फरवरी 1967 में इसी मैदान पर रामगढ़ के महाराज कामख्या नारायण सिंह  अपने हेलिकॉप्टर से चंडी पहुँचे थे।

यह पहला अवसर था, जब चंडी में कोई हेलिकॉप्टर उतरा था। उनके साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री महामाया प्रसाद सिन्हा भी थे। जिनकी सरकार 1967 में बनी थी।

कहा जाता है कि चंडी प्रखंड की अधिकांश जनता उस समय हेलिकॉप्टर से अनभिज्ञ थी। वे जहाज के बारे में देख -सुन रखा था।

लोगों के बीच यह खबर दूर-दूर तक फैल गई कि चंडी प्रखंड में जहाज उतरने वाला है। इस जहाज उतरने की खबर प्रखंड में आग की तरह फैल गई थी।

1967  में जब लोकसभा और विधानसभा का चुनाव एक साथ हो रहा था, तब बाढ़ लोकसभा और चंडी विधानसभा  चुनाव के दौरान बिहार के दिग्गज नेता महामाया प्रसाद सिन्हा अपने उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए आएं हुए थे।

उस समय हेलिकॉप्टर उतरने की व्यवस्था चंडी थाना से सटे डाकबंगला परिसर में की गई थी। महामाया प्रसाद रामगढ़ के महाराज कामख्या नारायण सिंह के हेलिकॉप्टर से चंडी आने वाले थे।

उस हेलिकॉप्टर पर स्वयं कामख्या नारायण सिंह भी थे। उस समय रामगढ राज परिवार पहला ऐसा राजनीतिक घराना था जो चुनाव प्रचार के लिए अपना निजी हेलिकॉप्टर रखे हुए थे।

हेलिकॉप्टर देखने को लेकर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। उस समय चंडी की जनता के लिए वह किसी रोमांच से कम नहीं था। हेलिकॉप्टर उतरने की सूचना पर चारों दिशाओं से लोगों की भीड़ चंडी मैदान की तरफ भाग रही थी।

डाकबंगला परिसर से लेकर चंडी मैदान तक लोगों का जनसैलाब देखने को मिल रहा था। लोगों को नेताओं से ज्यादा हेलिकॉप्टर देखने की ललक थी। यह चंडी के इतिहास में यह पहला मौका था, जब कोई हेलिकॉप्टर चंडी में उतरा था।

1967के बाद दस साल बाद  1977 में दूसरा मौका था, जब चंडी मैदान में हेलिकॉप्टर उतरा था। उस हेलिकॉप्टर से तब जगजीवन राम, कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदुरप्पा,  पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण और दक्षिण के नेता जिगिंलिय्पा भी थे।

उसके बाद से फिर तो चंडी मैदान पर हर चुनाव के दौरान हेलिकॉप्टर उतरने का सिलसिला ही शुरू हो गया।

लेकिन वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव  चंडी के लिए ‘अछूत’ माना गया। यहाँ किसी भी राजनीतिक दल का कोई भी नेता न चुनाव प्रचार के लिए पहुँचा और न ही कोई हेलिकॉप्टर आकाश में मंडराया।

कहने को तो चंडी 1952 से ही विधानसभा क्षेत्र रहा है। लेकिन दस साल पहले इस ऐतिहासिक और राजनीतिक विरासत वाले विधानसभा क्षेत्र को विलोपित कर दिया गया, जो अब हरनौत विधानसभा का अंश माना जाता है।

Share Button

Related News:

ससुराल वालों ने दहेज की खातिर विवाहिता को मार डाला!
अपना भांजा ही निकला गैस एजेंसी संचालक हत्यारा, एक लाख की दी थी सुपारी
25 हजार के सिक्के लेकर पहुंचे बसपा प्रत्याशी, नजारत को गिनने में छूटे पसीने
8 हजार कार्यकर्ताओं को लेकर पहुंची ममता, बचाई ईज्जत
एनडीए (जदयू) प्रत्याशी कौशलेंद्र को एक और बड़ा झटका, नीतीश की शिकन बढ़ी
श्रद्धाजंलि सभा में बोले श्रवण- बेकार नहीं जाएगी काजल की मौत, दोषियों को कड़ी सजा और परिजनों को मिले...
डीएम ने ई-गवर्नेंस की बैठक दिए ये अहम निर्देश, आप भी जानिए
देवघर से मुंडन संस्कार करा लौट रहे बालक की वैन से गिर कर रास्ते में मौत, मां तक रही अज्ञान!
न बीडीओ सेविका से वोट दिलवाता और न चंदौरा का गु्स्सा फूटता
ऐसे में आदर्श आचार संहिता या निष्पक्ष चुनाव के ढिंढोरे का क्या है मायने
हिलसा थानाध्यक्ष को लगी कोर्ट की फटकार, इस दुष्कर्म मामले में तुरंत करें एफआईआर⚖
नीतीश की सभा में जदयू कार्यकर्ता-पुलिस के बीच हुई झड़प
नीतीश के घर में भीड़ नदारद, ममता ने बचाई लाज
इधर वाहन चेकिंग में मशगूल थी पुलिस, उधर चंद कदम दूर लूट रहा था आनंद
हम  काम करते हैं, उसी आधार पर वोट मांगते हैं : नीतीश
हार से बौखलाए लोग फैला रहे बैठ जाने की अफवाह :रामचरित्र प्रसाद
टेंपो को रौंदते हुए ट्रैक्टर पलटी, कई घायल, 2 की हालत गंभीर
निकली भव्य कलश शोभा यात्रा, डीजे की धुन पर यूं झूमे युवक-युवतियां-महिलाएं
50 हजार की रिश्वत लेते सहयोगी समेत निगरानी के हत्थे चढ़ा रहुई का सर्वेयर अमीन
नशे में धुत चालक ने पेड़ से बस टकराई, 30 घायल, 14 गंभीर रुप से घायल
'शिक्षालय' के छात्रों के बीच बांटे गए शिक्षण व खेल-कूद सामग्री
एक्सपर्ट मीडिया न्यूज का असरः घटिया निर्माण मामले में बिहार शरीफ नगर निगम का जेई सस्पेंड
माँ अम्बे शॉ मिल-हार्डवेयर दुकान में भीषण अगलगी, करोड़ों का नुकसान
है ग्रामीण विकास मंत्री का क्षेत्र, पीने के पानी को यूं तरस रहे लोग, फिर भी चाहिए सीएम को वोट!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
loading...
Don`t copy text!
» डीएम ने ई-गवर्नेंस की बैठक दिए ये अहम निर्देश, आप भी जानिए   » राजगीर बीच बाजार युवक को गोली मारी, पटना रेफर   » शासन की हस्तक्षेप से उपद्रवियों की मंशा पर फिरा पानी   » समस्याग्रस्त नगर में चल रहा मेयर-उप मेयर की घिनौनी राजनीति   » बाप को गोली मारने जा रहा बेटा हथियार समेत धराया   » पेयजल समस्या को लेकर ग्रामीणों ने 3 घंटा रखा इस्लामपुर-पटना मुख्य सड़क जाम   » फिर बौराई पुलिस, सेवानिवृत शिक्षक को शराब कारोबारी बना हाजत में किया बंद   » प्रेमिका के चक्कर में पत्नी को जिंदा जला कर मार डाला!   » मनरेगा में लाखों का फर्जीवाड़ा, विरोध में नगरनौसा थाना का घेराव!   » अब कानून की धज्जियां उड़ाने वाले बिहार थाना इंस्पेक्टर दीपक कुमार का नपना तय