जब नालंदा की जमीं चंडी में पहली बार उतरा रामगढ़ महाराज का हेलिकॉप्टर!

Share Button

“स्व. कामख्या नारायण सिंह के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने अपना हेलिकॉप्टर भारत-चीन युद्ध के समय सरकार को उपयोग करने के लिए दे दी थी। उनके पास तीन हेलिकॉप्टर थे………. “

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क डेस्क।  नालंदा के चंडी प्रखंड के इतिहास में पहली बार कोई हेलिकॉप्टर 52 साल पहले  1967 में उतरा था। पहले बिहार और अब झारखंड के रामगढ़ राज परिवार के कामाख्या नारायण सिंह का हेलिकॉप्टर चंडी के डाकबंगला में सर्वप्रथम उतरा था।

1967 में लोकसभा और बिहार विधानसभा का चुनाव साथ हो रहा था। यह आखिरी चुनाव था, जब देश में 1952 से 1967 तक लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ हुआ करता था।

तब चंडी की अधिकांश जनता को उडनखटोले का दर्शन हुआ था। उस हेलिकॉप्टर पर रामगढ नरेश कामख्या नारायण सिंह के साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री महामाया प्रसाद सिन्हा भी थे।

चंडी  की ह्रदय स्थली बापू हाईस्कूल मैदान का अपना एक राजनीतिक और गौरवशाली इतिहास रहा है। यह मैदान आजादी की लड़ाई का गवाह रहा है। यहां कभी आजादी के दीवाने आजादी की लड़ाई लड़ने के लिए एकत्र होते थे।

चंडी प्रखंड के गोखुलपुर निवासी बिंदेश्वरी सिंह इसी मैदान से 15 अगस्त 1942 को थाना पर रोडेबाजी कर दी थी। जबाब में पुलिस पुलिस की गोलीबारी में वे वही शहीद हो गए थे।

इस मैदान पर जेपी आंदोलन के दौरान कई नेताओं का आना जाना लगा रहता था। फरवरी 1967 में इसी मैदान पर रामगढ़ के महाराज कामख्या नारायण सिंह  अपने हेलिकॉप्टर से चंडी पहुँचे थे।

यह पहला अवसर था, जब चंडी में कोई हेलिकॉप्टर उतरा था। उनके साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री महामाया प्रसाद सिन्हा भी थे। जिनकी सरकार 1967 में बनी थी।

कहा जाता है कि चंडी प्रखंड की अधिकांश जनता उस समय हेलिकॉप्टर से अनभिज्ञ थी। वे जहाज के बारे में देख -सुन रखा था।

लोगों के बीच यह खबर दूर-दूर तक फैल गई कि चंडी प्रखंड में जहाज उतरने वाला है। इस जहाज उतरने की खबर प्रखंड में आग की तरह फैल गई थी।

1967  में जब लोकसभा और विधानसभा का चुनाव एक साथ हो रहा था, तब बाढ़ लोकसभा और चंडी विधानसभा  चुनाव के दौरान बिहार के दिग्गज नेता महामाया प्रसाद सिन्हा अपने उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए आएं हुए थे।

उस समय हेलिकॉप्टर उतरने की व्यवस्था चंडी थाना से सटे डाकबंगला परिसर में की गई थी। महामाया प्रसाद रामगढ़ के महाराज कामख्या नारायण सिंह के हेलिकॉप्टर से चंडी आने वाले थे।

उस हेलिकॉप्टर पर स्वयं कामख्या नारायण सिंह भी थे। उस समय रामगढ राज परिवार पहला ऐसा राजनीतिक घराना था जो चुनाव प्रचार के लिए अपना निजी हेलिकॉप्टर रखे हुए थे।

हेलिकॉप्टर देखने को लेकर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। उस समय चंडी की जनता के लिए वह किसी रोमांच से कम नहीं था। हेलिकॉप्टर उतरने की सूचना पर चारों दिशाओं से लोगों की भीड़ चंडी मैदान की तरफ भाग रही थी।

डाकबंगला परिसर से लेकर चंडी मैदान तक लोगों का जनसैलाब देखने को मिल रहा था। लोगों को नेताओं से ज्यादा हेलिकॉप्टर देखने की ललक थी। यह चंडी के इतिहास में यह पहला मौका था, जब कोई हेलिकॉप्टर चंडी में उतरा था।

1967के बाद दस साल बाद  1977 में दूसरा मौका था, जब चंडी मैदान में हेलिकॉप्टर उतरा था। उस हेलिकॉप्टर से तब जगजीवन राम, कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदुरप्पा,  पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण और दक्षिण के नेता जिगिंलिय्पा भी थे।

उसके बाद से फिर तो चंडी मैदान पर हर चुनाव के दौरान हेलिकॉप्टर उतरने का सिलसिला ही शुरू हो गया।

लेकिन वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव  चंडी के लिए ‘अछूत’ माना गया। यहाँ किसी भी राजनीतिक दल का कोई भी नेता न चुनाव प्रचार के लिए पहुँचा और न ही कोई हेलिकॉप्टर आकाश में मंडराया।

कहने को तो चंडी 1952 से ही विधानसभा क्षेत्र रहा है। लेकिन दस साल पहले इस ऐतिहासिक और राजनीतिक विरासत वाले विधानसभा क्षेत्र को विलोपित कर दिया गया, जो अब हरनौत विधानसभा का अंश माना जाता है।

Share Button

Related News:

डीएसपी ने इस्लामपुर थाना का औचक निरीक्षण कर दिए कई निर्देश
शराब पीकर चालक ने चरही घाटी में बस पलटी, 3 महिला समेत 4 की मौत, 15 घायल, 4 गंभीर, रिम्स रेफर
है ग्रामीण विकास मंत्री का क्षेत्र, पीने के पानी को यूं तरस रहे लोग, फिर भी चाहिए सीएम को वोट!
दिल्ली में अपने पिता को यूं सकुशल मिला बेन से गुम बच्चा
नालंदा में जल्लाद राजः करायपरसुराय में नाबालिग युवती की गोली मारकर हत्या
‘बबुनी’ बचाओ आंदोलन के निशाने पर पुलिस-प्रशासन और राज्य महिला आयोग
औंगारी में महिला की मॉबलिंचिंग का प्रयास, पुलिस फायरिंग, 4 जवान जख्मी
नवजात को बेचने के लिए महिला ने की थी सरकारी अस्पताल से चोरी
बिहार शरीफ पर्यवेक्षण गृह में जज मानवेन्द्र मिश्र ने फहराया तिरंगा
हरनौत के बोध नगर बाजार में लूटपाट के बाद गोली-बमबारी जारी, 4 पुलिसकर्मी जख्मी, अब तक 3 बदमाश धराए
नगरनौसा में विवाहिता ने यूं फांसी लगा की आत्महत्या
राजगीर के गांव में विषाक्त श्राद्ध भोजन खाने से 70 से अधिक लोग बीमार
लगातार बारिश के बीच पैमार नदी की धार देख खुश हुए बेन इलाके के किसान
इन 3 महत्वपूर्ण आयोजनों को लेकर डीएम ने की मैराथन बैठक, दिए अहम निर्देश
DM-SP के व्हाट्सएप्प को लेकर कंप्लेन, सीएम ने CS-HS को दिए जांच के निर्देश
पानी को लेकर बेहाल, विधायक-अफसर कोई नहीं सुनता, सड़क पर उतरे लोग, किया जाम
राजगीर में किराना दुकान से फिर शराब बरामद, पुलिस-उत्पाद विभाग कर रही खानापूर्ति
दो बड़े सरकारी आयोजन, लेकिन देखिए सड़क निर्माण का हाल
पेयजल की समस्या पर राजगीर एसडीओ तक नकारा
हिरण्य पर्वत से संदिग्ध हालत में गिरी युवती,एक छात्र का यूं प्रयास भी बचा न सका, मौत
जिला न्यायाधीश ने मांगी शांति एवं खुशहाली की दुआ
कड़े बंदोवस्त के बीच आज से नामांकन शुरु, 11 से 3 बजे तक होगा नामांकन
ट्रक की टक्कर से बाइक सवार 2 युवक की मौत, मातम में बदली शादी
बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार का जीवन और उनकी उपलब्धियों पर एक नज़र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» भगवती जागरण में पहुंचे सांसद-मंत्री-विधायक, रात भर झूमते रहे श्रोता   » ..डीएम साहब, जरा देख लीजिए आशा कार्यकर्ताओं की झोंटी-झोटौव्वल और लात-घुसे   » ससुराल लाकर युवक को यूं बेरहमी से काट कर मार डाला !   » ‘बबुनी रेप कांड’ को लेकर फूटा जनाक्रोश, नीतीश कुमार मुर्दाबाद के नारों से गूंजा राजगीर   » ‘बबुनी’ बचाओ आंदोलन के निशाने पर पुलिस-प्रशासन और राज्य महिला आयोग   » हिलसा पुलिस ने दिनदहाड़े लूटपाट करते लोडेड पिस्तौल लिये एक लुटेरा को दबोचा   » 4व्हीलर न मिला तो ससुराल वालों ने 5 साल बाद रुबी को गला दबाकर मार डाला!   » ट्रैक्टर से भीषण टक्कर के बाद 150 मीटर बिना चालक चलती रही यात्री बस, बड़ा हादसा टला   » सीएम नीतीश के गृह जिले में ही उनके पुतले में लगी ‘बबुनी’ की आग   » नर्तकियों के अश्लील ठुमके के दीवाने हुए जदयू विधान पार्षद हीरा बिंद