जब नालंदा की जमीं चंडी में पहली बार उतरा रामगढ़ महाराज का हेलिकॉप्टर!

Share Button

“स्व. कामख्या नारायण सिंह के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने अपना हेलिकॉप्टर भारत-चीन युद्ध के समय सरकार को उपयोग करने के लिए दे दी थी। उनके पास तीन हेलिकॉप्टर थे………. “

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क डेस्क।  नालंदा के चंडी प्रखंड के इतिहास में पहली बार कोई हेलिकॉप्टर 52 साल पहले  1967 में उतरा था। पहले बिहार और अब झारखंड के रामगढ़ राज परिवार के कामाख्या नारायण सिंह का हेलिकॉप्टर चंडी के डाकबंगला में सर्वप्रथम उतरा था।

1967 में लोकसभा और बिहार विधानसभा का चुनाव साथ हो रहा था। यह आखिरी चुनाव था, जब देश में 1952 से 1967 तक लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ हुआ करता था।

तब चंडी की अधिकांश जनता को उडनखटोले का दर्शन हुआ था। उस हेलिकॉप्टर पर रामगढ नरेश कामख्या नारायण सिंह के साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री महामाया प्रसाद सिन्हा भी थे।

चंडी  की ह्रदय स्थली बापू हाईस्कूल मैदान का अपना एक राजनीतिक और गौरवशाली इतिहास रहा है। यह मैदान आजादी की लड़ाई का गवाह रहा है। यहां कभी आजादी के दीवाने आजादी की लड़ाई लड़ने के लिए एकत्र होते थे।

चंडी प्रखंड के गोखुलपुर निवासी बिंदेश्वरी सिंह इसी मैदान से 15 अगस्त 1942 को थाना पर रोडेबाजी कर दी थी। जबाब में पुलिस पुलिस की गोलीबारी में वे वही शहीद हो गए थे।

इस मैदान पर जेपी आंदोलन के दौरान कई नेताओं का आना जाना लगा रहता था। फरवरी 1967 में इसी मैदान पर रामगढ़ के महाराज कामख्या नारायण सिंह  अपने हेलिकॉप्टर से चंडी पहुँचे थे।

यह पहला अवसर था, जब चंडी में कोई हेलिकॉप्टर उतरा था। उनके साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री महामाया प्रसाद सिन्हा भी थे। जिनकी सरकार 1967 में बनी थी।

कहा जाता है कि चंडी प्रखंड की अधिकांश जनता उस समय हेलिकॉप्टर से अनभिज्ञ थी। वे जहाज के बारे में देख -सुन रखा था।

लोगों के बीच यह खबर दूर-दूर तक फैल गई कि चंडी प्रखंड में जहाज उतरने वाला है। इस जहाज उतरने की खबर प्रखंड में आग की तरह फैल गई थी।

1967  में जब लोकसभा और विधानसभा का चुनाव एक साथ हो रहा था, तब बाढ़ लोकसभा और चंडी विधानसभा  चुनाव के दौरान बिहार के दिग्गज नेता महामाया प्रसाद सिन्हा अपने उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए आएं हुए थे।

उस समय हेलिकॉप्टर उतरने की व्यवस्था चंडी थाना से सटे डाकबंगला परिसर में की गई थी। महामाया प्रसाद रामगढ़ के महाराज कामख्या नारायण सिंह के हेलिकॉप्टर से चंडी आने वाले थे।

उस हेलिकॉप्टर पर स्वयं कामख्या नारायण सिंह भी थे। उस समय रामगढ राज परिवार पहला ऐसा राजनीतिक घराना था जो चुनाव प्रचार के लिए अपना निजी हेलिकॉप्टर रखे हुए थे।

हेलिकॉप्टर देखने को लेकर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। उस समय चंडी की जनता के लिए वह किसी रोमांच से कम नहीं था। हेलिकॉप्टर उतरने की सूचना पर चारों दिशाओं से लोगों की भीड़ चंडी मैदान की तरफ भाग रही थी।

डाकबंगला परिसर से लेकर चंडी मैदान तक लोगों का जनसैलाब देखने को मिल रहा था। लोगों को नेताओं से ज्यादा हेलिकॉप्टर देखने की ललक थी। यह चंडी के इतिहास में यह पहला मौका था, जब कोई हेलिकॉप्टर चंडी में उतरा था।

1967के बाद दस साल बाद  1977 में दूसरा मौका था, जब चंडी मैदान में हेलिकॉप्टर उतरा था। उस हेलिकॉप्टर से तब जगजीवन राम, कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदुरप्पा,  पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण और दक्षिण के नेता जिगिंलिय्पा भी थे।

उसके बाद से फिर तो चंडी मैदान पर हर चुनाव के दौरान हेलिकॉप्टर उतरने का सिलसिला ही शुरू हो गया।

लेकिन वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव  चंडी के लिए ‘अछूत’ माना गया। यहाँ किसी भी राजनीतिक दल का कोई भी नेता न चुनाव प्रचार के लिए पहुँचा और न ही कोई हेलिकॉप्टर आकाश में मंडराया।

कहने को तो चंडी 1952 से ही विधानसभा क्षेत्र रहा है। लेकिन दस साल पहले इस ऐतिहासिक और राजनीतिक विरासत वाले विधानसभा क्षेत्र को विलोपित कर दिया गया, जो अब हरनौत विधानसभा का अंश माना जाता है।

Share Button

Related News:

एडीजे उपेन्द्र कुमार की अदालत ने 'थेथर थानेदार' को वार्निंग के साथ किया तलब
नोहसा दाहा घाट रोड किनारे मिला एक अज्ञात युवक का शव
बच्चों के विवाद में गोलीबारी, युवक को गोली लगी, पटना रेफर
पांची छिलका में तैरता मिला शव, हत्यारों को दबोचने में जुटी पुलिस
बंधन बैंक के कलेक्शन एजेंट से हथियार के बल एक लाख की लूट
इंटर की नाबालिग छात्रा ने लगाई फांसी, हो रही अनेक चर्चाएं
पुलिस ने पकड़ी 3 वाहन समेत शराब की बड़ी खेप, लेकिन कारोबारी फरार
छत ढलाई के दौरान 40 फीट यूं नीचे गिरा मशीन संचालक, मौत
सुनिए ऑडियोः सहजता से कितने संवेदनशील हैं नालंदा एसपी!
केस नहीं उठाया तो दबंगों ने असहाय दंपति बुरी तरह से पीटा, हिलसा थानाध्यक्ष ने भगाया
हिलसा में इंदिरा आवास सहायक ने लगाई फांसी, मौत
बेउर जेल से पुलिस को दारु पिला हुआ फरार, फिर नालंदा से आकर रांची में कर डाला 'निर्भया कांड'
एकंगरसराय थाना के पास हो रही मुहर्रम की जबरन चंदा वसूली
पत्नी की यूं हत्या कर कमरे में ही बैठा रहा पति
फिर बौराई पुलिस, सेवानिवृत शिक्षक को शराब कारोबारी बना हाजत में किया बंद
घंटो से यूं जाम है राजगीर नगर के प्रमुख मार्ग, विदेशी पर्यटक भी हैं फंसे
जदयू प्रत्याशी की जीत में सबसे बड़ा रोड़ा बनी सहयोगी भाजपा
यूं राष्ट्रभक्ति माहौल में सम्मानित हुए होनहार छात्र-छात्राएं
पीएम सड़क योजना में भारी लूट,यूं टूटने लगी नई सड़क, डीएम ने दिए जांच के आदेश
हैदराबाद-रांची में रेपकांड के खिलाफ हिलसा में माले का नागरिक मार्च
डीजे से दबकर बच्चा की मौत, आक्रोशितों ने डीजे-ट्रैक्टर को फूंका
मैरा बरीठ में पानी को लेकर त्राहिमाम, रहा न कोई देखनहारा
गैंग रेप पीड़ित छात्रा के आक्रोश में राजगीर की जनता, दुकानें, वाहन परिचालन सब बंद
नशे में धुत चालक ने पेड़ से बस टकराई, 30 घायल, 14 गंभीर रुप से घायल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» पुलिस ने पकड़ी 3 वाहन समेत शराब की बड़ी खेप, लेकिन कारोबारी फरार   » 550वां प्रकाश पर्व पर 27-29 दिसंबर को होगी ये विशेष व्यवस्था   » नेहरू युवा केंद्र द्वारा पंडितपुर में फुटबॉल प्रतियोगिता, उदय क्लब ने आजाद युवा को 2-0 से हराया   » इसलामपुर में 35 कार्टून अंग्रेजी शराब बरामद, ट्रैक्टर टेलर व ट्वेटा वाहन जप्त, 2 धराए   » नंदकिशोर महिला इंटर कॉलेज में 6.06 लाख की गबन का FIR दर्ज   » स्कूली बच्चों के भोजन में मृत बिच्छू ! लापरवाही या साजिश? जांच का विषय   » निगरानी डीएसपी ने थरथरी प्रखंड आवास सहायक को 10 हजार घूस लेते रंगे हाथ यूं दबोचा   » राजगीर नगर पंचायतः पूर्व पार्षद की शिकायत पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुख्य सचिव से मांगी जांच रिपोर्ट   » कोर्ट के आदेश की अवहेलना- ‘लापरवाह जेलर हाजिर हो’   » पर्यवेक्षण गृह नहीं, पाठशाला !