डीएम ने ई-गवर्नेंस की बैठक दिए ये अहम निर्देश, आप भी जानिए

विभिन्न स्रोतों यथा ईमेल, डाक, फैक्स, सोशल मीडिया आदि से प्राप्त आवेदन/शिकायत पर की गई कार्रवाई और स्टेटस प्राप्त और ट्रैक करने हेतु डाक ट्रैकिंग सिस्टम बनाया गया है। आवेदन / शिकायत कर्ता को सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा निर्धारित फॉरमेट में पावती दिया जाएगा…”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। नालंदा जिला पदाधिकारी योगेंद्र सिंह की अध्यक्षता में जिला में ई-गवर्नेंस के क्रियान्वयन को लेकर समीक्षा बैठक आहूत की गई।

संपूर्ण समाहरणालय परिसर में वाईफाई की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए आईटी मैनेजर को कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया।चिन्हित विद्यालयों में स्मार्ट क्लास की व्यवस्था के तहत उन्नयन योजना को क्रियान्वित करने का निर्देश गया।

राजगीर मलमास मेला एप एवं हमारा राजगीर एप को तकनीकी रूप से अपडेट करने का निर्देश जिला पदाधिकारी ने दिया। राजगीर के वेबसाइट(Rajgir.co.in) को भी अपडेट करने का निर्देश दिया गया।

समाहरणालय के विभिन्न शाखा प्रभारी को इंटरकॉम के माध्यम से कनेक्ट करने के लिए कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा गया।

पूर्व की इंटरकॉम व्यवस्था  तकनीकी खामियों के कारण फिलहाल बाधित हो गई है, इसे अविलंब ठीक करने का निर्देश जिला पदाधिकारी ने दिया। समाहरणालय के सभी सीसीटीवी को भी कार्यरत रखने का निर्देश दिया गया।

जिला से संबंधित विभिन्न माध्यमों से प्राप्त शिकायत आवेदनों की विधिवत प्राप्ति देने एवं कार्रवाई के लिए भेजे गए आवेदनों की ट्रैकिंग के लिए एकीकृत व्यवस्था कार्यालय अधीक्षक के कार्यालय में सुनिश्चित की जाएगी।

 जिला पदाधिकारी ने आईटी मैनेजर को निर्देशानुसार कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा है।

बैठक में उप विकास आयुक्त, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, स्थापना उप समाहर्ता, विशेष कार्य पदाधिकारी, आईटी मैनेजर सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

जिलाधिकारी को विभिन्न स्रोतों यथा ईमेल, डाक, फैक्स, सोशल मीडिया आदि से प्राप्त आवेदन/शिकायत पर की गई कार्रवाई और स्टेटस प्राप्त और ट्रैक करने हेतु डाक ट्रैकिंग सिस्टम बनाया गया है।

आवेदन /शिकायत कर्ता को सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा निर्धारित फॉरमेट में पावती दिया जाएगा। जिलाधिकारी द्वारा विभाग/ कार्यालय प्रधान को मार्क करने के वाद आवेदन को ऑनलाइन ट्रैक किया जा सकता है। आवेदक को यूनिक आईडी प्रोवाइड किया जाएगा जिससे वो भी अपनी शिकायत/आवेदन का ट्रैक कर सकते हैं।

सभी विभाग/ कार्यालय के लिए लॉगिन की सुविधा दी गई है जिसमें कार्यालय प्रधान कृत कार्रवाई का स्टेटस पोस्ट करेंगे ।qr code स्कैनर से भी स्कैन कर आवेदन की स्थिति कार्यालय प्रधान देख सकते हैं।

डाक ट्रैकिंग सिस्टम आईटी मैनेजर द्वारा बनाया गया है। आवेदक और अधिकारी को शिकायत संबंधी अलर्ट sms/ईमेल के माध्यम से भी सिस्टम द्वारा प्रोवाइड किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here