….और छोटू ने इस अंधविश्वास वश मंदिर के साधु को पीट-पीट कर मार डाला!

हत्यारा को अंधविश्वास था कि इन साधुओं के कारण गांव का विकास नहीं हो रहा है। इसी कारण उसने मंदिर में साधु पीट-पीट कर मार डाला……..”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (दीपक विश्वकर्मा)। नालंदा जिले के सिलाव थाना इलाके के करियन्ना गांव के शिव मंदिर में एक 70 वर्षीय साधु की बेरहमी से पीट पीट कर हत्या कर दी गई है। हत्या के बाद ग्रामीणों ने हत्यारे को खदेड़ कर पकड़ने के बाद उसकी जमकर धुनाई की। उसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

दरअसल उमेश दास पिछले डेढ़ वर्ष से इस मंदिर में पूजा पाठ कर रहे थे। इनसे पहले एक रामप्रीत शरण भी इस मंदिर में पुजारी थे।

ग्रामीणों ने बताया कि दो-तीन दिन पूर्व रजनीश उर्फ छोटू ने रामप्रीत शरण के साथ मारपीट किया था। जिसका उमेश दास ने बीच बचाव किया। इसी से आक्रोशित होकर बीती रात इसने उमेश दास की कसरत करने वाले गदा से पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी गई।  हत्या के बाद छोटू पागल होने का हाई वोल्टेज ड्रामा करने लगा। 

उमेश दास की परिजन लक्ष्मी देवी ने बताया कि पिछले दिनों हुए विवाद को लेकर इन्हें पूजा पाठ के बाद घर में सोने के लिए कहा गया था। बावजूद इसके यह मंदिर में सो गए। जिसके कारण उनकी हत्या कर दी गई।

सूचना मिलते ही सिलाव थाना पुलिस वारदात स्थल पहुंची और छोटू को गिरफ्तार करते हुए इसके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जेल भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी है।

पकडे जाने के बाद छोटू ने स्वीकार किया है कि उसी ने उमेश दास कि हत्या की है। हत्या के पीछे अंध विश्वास का मामला उजागर हुआ है।

सबसे बड़ी बात यह है कि छोटू कि चार दिन पूर्व शादी हुई थी और आज प्रातः इसने उमेश दास की हत्या कर दी।

पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त गदा को बरामद कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here