अपनी मांगों को लेकर नियोजित-नियमित शिक्षकों का सभी प्रखंड मुख्यालय पर धरना

Share Button

नालंदा दर्पण (बिहार शरीफ)। आज नालंदा जिले के सभी प्रखंड मुख्यालय में बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले चरणबद्ध आंदोलन की प्रथम कड़ी में नियोजित एवं नियमित शिक्षकों ने एक साथ मिलकर नौ सूत्री मांगों को लेकर एक दिवसीय धरना दिया।

शनिवार को प्रखंड कार्यालय चंडी के समक्ष धरना की अध्यक्षता बिहार अराजपत्रित प्रारम्भिक शिक्षक संघ के उपाध्यक्ष धर्मवीर सिंहतथा संचालन बिहार प्रारंभिक शिक्षक संघ के सचिव सतेन्द्र प्रसाद ने किया।

धरना को संबोधित करते हुए परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ सह बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति नालंदा के जिलाध्यक्ष ने कहा कि सरकार को अगर सचमूच में शिक्षा की चिंता है और वह बिहार के स्वर्णिम इतिहास की ओर ले जाना चाहती है तो शिक्षकों से टकराकर रास्ता छोड़कर इन शिक्षकों को सम्मान देने की रास्ता अपनाएँ। नियोजित शिक्षकों के सभी मांगो को पूरा करके उन्हें सम्मान दिया जा सकता है ।

उन्होंने कहा कि जिस तरह से सरकार के इशारे पर शिक्षकों के साथ अपराधियों की तरह व्यवहार किया जा रहा है, वह कतई उचित नहीं है। यह सरकार का हिटलरशाही और तानाशाही रवैया है। इसके खिलाफ शिक्षक सड़क से लेकर न्यायालय तक कि लड़ाई लड़ेगें।

उन्होंने कहा कि जिस देश या प्रदेश में शिक्षकों की जायज मांगो को कुचला जा रहा हो ,शिक्षकों को अकारण प्रताड़ित किया जा रहा हो, वहाँ कि शिक्षा व्यवस्था कैसी होगी । यह सहज अनुमान लगाया जा सकता है। 

उन्होंने कहा कि यह मात्र शिक्षकों की लड़ाई नही है बल्कि यह आने वाली पीढ़ी की लड़ाई है। हमें यह सोचना होगा कि लोगों को यह बताया जाय कि सरकार आखिरकार समान शिक्षा प्रणाली की रिपोर्ट क्यों धूल फांक रही है। उसे क्यों लागू नही किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जब तक मंत्री, अधिकारी और भंगी का लड़का-लड़की एक साथ एक विद्यालय में नही पढ़ेगा, एक साथ एक पंक्ति में  बैठकर मध्याह्न भोजन नहीं करेगा, तब तक समानता कहना बेईमानी है और समाजवाद का नारा ढकोसला है। इस बात को लोगों को समझाना होगा।

उन्होंने कहा कि आंदोलन की दूसरी कड़ी में 17 अगस्त को जिला मुख्यालय पर धरना दिया जाएगा और तीसरी कड़ी में 05 सितम्बर शिक्षक दिवस दिन सरकारी कार्यक्रम को बहिष्कार कर पटना के गांधी मैदान में गांधी जी के प्रतिमा के समीप सभी शिक्षक मुँह पर काली पट्टी बांधकर सत्याग्रह करेंगे।

धरना के अंत में शिक्षकों ने मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन प्रखंड विकास पदाधिकारी को सौपें। 

धरना में बिहार अराजपत्रित प्रारंभिक शिक्षक संघ के संयुक्त सचिव विवेकानंद सविता ,अध्यक्ष मुकेश कुमार, धर्मवीर सिंह परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष जन्म जय कुमार शाही , सचिव जीतन कुमार, कोषाध्यक्ष संतोष कुमार निराला, बिहार प्रारंभिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष शैलेंद्र कुमार, सचिव सतेंद्र प्रसाद, सुधांशु कुमार, पंकज कुमार, अनन्त कुमार,प्रेम कुमार सुंदरम, विनय कुमार, ललिता कुमारी, कुमारी कल्पना, अनिता कुमारी, नीतू कुमारी, रामू प्रसाद आदि शामिल थे।

उनकी मांगे…..

(1) नये शिक्षकों (नियोजित) को पुराने (नियमित) शिक्षकों की भांति वेतनमान देकर राज्य कर्मी का दर्जा दिया जाय ।

(2) नियोजित शिक्षकों को पुराने (नियमित) शिक्षकों की भांति सेवाशर्त , नियोजन इकाई से बाहर स्थनन्तरण की सुविधा एवं वेतन संरक्षण का लाभ दिया जाय ।

(3) पुरानी पेंशन योजना का लाभ सभी नियोजित शिक्षकों को दिया जाय ।

(4) वेतन निर्धारण की विसंगति को दूर किया जाय और ग्रेड पे में 2.57 से गुणा कर नव प्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षित वेतन निर्धारण किया जाय ।

(5) मृत शिक्षकों के आश्रितों को टी ई टी एवं प्रशिक्षण के नियम को शिथिल करते हुए अनुकम्पा का लाभ दिया जाय ।

(6) नियोजित शिक्षकों को ग्रुप बीमा एवं सामान्य भविष्य निधि का लाभ दिया जाय ।

(7) शहरी क्षेत्र के कार्यरत सभी नियोजित शिक्षकों को नियमित शिक्षकों की तरह शहरी परिवहन भत्ता का लाभ दिया जाय ।

(8) ओडियल सहित अन्य प्रशिक्षण प्राप्त शिक्षकों को यथा शिघ्र अंक पत्र और प्रमाण पत्र दिया जाय ।

(9) समान शिक्षा प्रणाली लागू किया जाय ।

Share Button

Related News:

नीतीश की सभा में जदयू कार्यकर्ता-पुलिस के बीच हुई झड़प
आज नगरनौसा में पेयजल को लेकर महिलाओं ने की सड़क जाम, खाली बर्तन रख जताया आक्रोश
नगर पंचायत कार्यालयः यहां सब गोलमाल है भई, सब गोलमाल
अनियंत्रित ऑटो पलटी, महिला की मौत, 8 घायल
सेक्स रैकेट का खुलासा, एक युवती संग पांच युवक धराए, संचालिका फरार
बदमाशों के हवाले सोहसराय, गोलियों की तड़तड़ाहट के बीच सहमे लोग
नगरनौसा बवालः उधर दूसरे गुट ने एसटीएसी थाना में यूं किया छेड़खानी का केस🤔
परबलपुर वासियों को झकझोर डाला ऐसे दो सगे भाई की मौत
बिहार शरीफ में 1000 कुत्ते, निकला टेंडर, होगी नशबंदी !
हिलसा थानाध्यक्ष लाइन हाजिर, विवादित राजगीर थानाध्यक्ष को सर्किल का भी प्रभार!
हिलसा सीओ-नाजिर पर गिरी डीएम की गाज, सड़क हादसा के बाद मची थी भारी उपद्रव
बॉलीबुड फिल्म प्रोड्युसर बना चंडी का लाल, 3 मई को पूरे देश में धूम मचाएगी ‘सेटर’
पूर्व मुखिया ने महिला को गोलियों से छलनी कर मौत के घाट उतारा, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम
उप मेयर का चयन अब त्रिकोणीय होने के आसार
जिला जज ने बिहार शरीफ पर्यवेक्षण गृह निरीक्षण के दौरान जल जमाव पर जताई चिंता
जब तक जेल में चना रहेगा, ऐसे लोगों का आना-जाना बना रहेगा : नीरज
बेन में आज फिर अनियंत्रित टैक्ट्रर ने ली एक छात्रा की जान
बिहार शरीफ सदर अस्पताल की हड़ताल खत्म, विधायक की जगह सांसद ने मांगी माफी
हुलास की पीट-पीट कर हत्या के बाद महादलित परिवारों में दहशत का माहौल
भूई के इस नृशंस हत्याकांड के 7 आरोपित धराए
जल शक्ति अभियान के क्रियान्वन को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन
गोलियां की तड़तड़ाहट से फिर दहला कबीरपुर, किशोर को लगी गोली, आपसी वर्चस्व में हो चुकी है कई हत्याएं
चर्चित वायरल वीडियो के कुख्यात आरोपी को यूं बचा गया सिलाव थानेदार, लगाया सिर्फ आर्म्स एक्ट-27
एक नाबालिग संग रेप मामले में पुलिस एक साल बाद भी नहीं कर सकी कोई कार्रवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Don`t copy text!
» बिहार शरीफ नगर निगम की खुली पोल, घरों में घुसे गंदे पानी, तालाब बने कई मोहल्ले   » नालंदा सांसद के रोपे पेड़ यूं चर गयी बकरी😳   » पुलिस को शराब की सूचना देने की शक में सुबेलाल की पीट-पीट कर हत्या   » प्रतिभा सम्मान समारोह में सम्मानित किए गए छात्र   » नालंदा में 2 लाख सक्रीय सदस्य बनाएगी तैलिक साहू समाज :रणविजय   » बोले नालंदा एसपी- ‘पैथोलॉजी के क्षेत्र में भी बड़े बदलाव की जरूरत’   » दहेज लोभी ससुराल वालों ने बेन की जूली को फांसी लगा मार डाला   » बिहार शरीफ जेल के सुरक्षाकर्मी पर बदमाशों का कातिलाना हमला, हवलदार को गोली मारने की धमकी   » एसयू कॉलेज में व्याप्त अनियमितता से नाराज छात्र संगठन का भड़का गुस्सा   » चचेरे भाई ने गोली मारी, हालत गंभीर, गांव वाले आपसी चंदा से करा रहे ईलाज