ठेका मजदूर की मारपीट के बाद गला दबाकर हत्या

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (रंजीत मिश्रा)। नालंदा जिले के  बेन थाना क्षेत्र के छोटी आट गांव निवासी महेंद्र मांझी के 40 वर्षीय पुत्र संजीत मांझी की गांव से सटे नूरसराय थाना के लाला बिगहा में मारपीट करने के बाद गला दबा कर हत्या कर कर दी गई।

मृतक के पत्नी के अनुसार अंधेरा ढलने पर मृतक शौच के लिए निकला था। उसके बाद जब कुछ देर हुआ तो वे लोग काफी खोजबीन किए, लेकिन कोई अता पता नहीं चला। इसके बाद सब घर वापस लौट गए और सोचने लगे कि कही अन्य गांव में मजदूरी ठेका करने गए होंगे।

 जब देर रात सुजीत घर नहीं लौटा तो  परिजन को अंदेशा हुआ कि कहीं कोई घटना तो नहीं हो गया। जब सुबह हुआ तो कुछ लोग शौच के लिए निकले थे तो सुजीत को पइन में गिरा पाया और यह खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गयी।

परिजन उस पईन की तरफ आये तो देखा कि मृतक सुजीत है। इस घटना की सूचना स्थानीय थाना को दी गई। उसके बाद थानाध्यक्ष पिंकी प्रसाद  दलबल के साथ पहुंची और शव को अपने कबजे में लेकर पुलिस अभिरक्षा में पोस्टमार्टम के लिए बिहार शरीफ सदर अस्पताल भेज दिया।

मृतक की पत्नी का आरोप है कि लाल बिगहा निवासी सुजीत यादव भी मजदूर ठीकेदार था। दोनों  मिलकर मजदूर  को हरियाणा के ईंट भट्ठे पर भेजा करता था। इस बार मृतक मजदूर को उस हत्यारोपी ठीकेदार को नहीं दिया। जिससे दोनों में कहा सुनी हुई और 10 दिन पहले भी संजीत मांझी को मारा पीटा था, लेकिन परिवार वाले इसे हल्के में लिये। उसी हल्कापन का परिणाम यह हुआ कि सुजीत यादव ने  संजीत की हत्या कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here