‘शेरे नालंदा’ नाम से शुमार रहे रामनरेश सिंह ने काटा यूं 72वां केक

Share Button

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (दीपक विश्वकर्मा)। वैसे तो आपने जन्मदिन की पार्टी में 5 या 6 इंच के चाकू से केक काटते हुए देखा होगा, मगर बिहार शांति मिशन के अध्यक्ष व पूर्व विधायक रामनरेश सिंह ने अपने 72 वें जन्मदिवस पर ढाई फीट के कटार से केक काटा ।

इस बाबत उनसे पूछे जाने पर उन्होंने साफ तौर पर कहा की कटार और तलवार क्षत्रिय की शान होती है और उसी आन बान और शान से मैंने काटा है। चलिए यह अपना अपना अंदाज है हर कोई अपने अपने अंदाज में अपने जन्म दिन को सेलिब्रेट करते हैं। 

दरअसल 1978 में रामनरेश सिंह जेल में रहते हुए तुंगी पंचायत के मुखिया चुने गए थे । बाहुबली के नाम से माने जाने वाले रामनरेश सिंह का भाग्योदय और राजनीति में कदम मुखिया चुनाव के बाद हुआ।

पहली बार नालंदा विधानसभा से इन्होने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा और फतेह हासिल कर विधायक बन गए  80 से लेकर 85  तक फिर 1990 से 1995 तक दूसरी बार निर्दलीय विधायक बने ।

बाहुबली होने के कारण लालू सरकार हो या फिर नीतीश सरकार दोनों में इनका दबदबा कायम रहा और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यकाल में इन्हें बिहार राज्य  नागरिक परिषद का अध्यक्ष बनाया गया ।

 बाद में इन्होंने लोजपा का दामन थामा और इन्हें लोजपा का उपाध्यक्ष मनोनीत किया गया । उसके बाद यह नेताजी सुभाष चंद्र बोस फाउंडेशन से जुड़े ये जिस भी संगठन से जुड़े  उनका रुतबा हर जगह कायम रहा।

इनके जीवन का सबसे बड़ा पहलू यह है की जेपी आंदोलन के समय 1975 में मीसा के तहत इन्हे गिरफ्तार कर बक्सर जेल भेज दिया गया था। उसी जेल में मुख्य मंत्री नीतीश कुमार ,उप मुख्य मंत्री शुशील मोदी और हुकुमदेव नारायण भी बंद थे।    

बिहार शरीफ के 1981 में हुए  सांप्रदायिक दंगे के समय इन्होने बिहार शांति मिशन का गठन किया और इस बैनर तले इनके सैकड़ों कार्यकर्ता जिस इलाके में अल्पसंख्यक समुदाय के लोग घिरे थे।

उन्हें नालंदा कालेज के शिविर में पहुंचाया और उन्हें सभी सुविधाएँ प्रदान की उसी समय से बिहार शांति मिशन वजूद में आया। बिहार शांति मिशन के कार्यकलापों की सराहना करते हुए तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गाँधी ने इन्हे प्रशंसा पत्र दे कर सम्मानित किया था । 

रामनरेश सिंह जात पात की राजनीति से उठकर सभी जाति समुदाय के लोगों को एक साथ लेकर राजनीत करते रहे। उन्होंने सभी जाति और समुदाय के बीच अपना एक पहचान बनाया। 

हालांकि वर्तमान समय में ये  किसी भी पार्टी से जुड़े नहीं हैं। बावजूद इसके क्षत्रिय समाज में आज भी इनकी एक अलग पहचान है।  इनके दो पुत्र और दो पुत्रियां हैं। बड़ा  पुत्र प्रियतम राजा राजनीति में कदम रख चुका  है, जबकि छोटा पुत्र प्रियतम भारतीय देश का जाना माना क्रिकेटर है। 

ज्यादा समय इनका  बिहारशरीफ और पटना में गुजरता है जबकि समय-समय पर अपने गांव दरोगा विगहा  जाना नहीं भूलते हैं।  इतनी लंबी राजनीति जीवन गुजारने वाले रामनरेश सिंह आगे अब किस पार्टी का दामन थामेंगे  या तो नहीं कहा जा सकता, लेकिन उनके पुत्र राजनीति में कदम रख चुके हैं।

Share Button

Related News:

शिक्षा लेकर बिहार शरीफ के बूथ संख्या 39 और 156 तो सड़क को लेकर इस्लामपुर के बूथ संख्या-168 पर हुआ वो...
गिरियक पुलिस ने NH-20 पर यूं पकड़ी शराब की बड़ी खेप
बॉलीबुड फिल्म प्रोड्युसर बना चंडी का लाल, 3 मई को पूरे देश में धूम मचाएगी ‘सेटर’
रात्रि पुलिस गश्ती के दौरान धराए प्रेमी-प्रेमिका की थानाध्यक्ष की देखरेख में हुई यूं मदिर में शादी
मरकट्टा में वोट बहिष्कार बीच गिरियक में शांतिपूर्व रहा चुनाव
दीनदयाल उपाध्याय सशक्तिकरण से सम्मानित मुखिया के पंचायत का सच
शासन की हस्तक्षेप से उपद्रवियों की मंशा पर फिरा पानी
नीतीश जी बने अंग्रेजी ब्लॉगर:फिलहाल मुख्यमंत्री साईकिल योजना पर एक पोस्ट लिखा,५४३ कमेन्ट मिले.
गल्ला व्यवसायी के साथ लूट, विरोध करने पर तोड़ा जबड़ा
समाज की भलाई के लिए संस्थानों में नैतिक शिक्षा जरुरी  :प्रिंस
जागरूकता कार्यक्रमः हम है मतदाता राष्ट्र का निर्माता
ऑटो ने दादा-पोता को रौंदा, पोता की मौके पर मौत, दादा जख्मी, आक्रोशितों ने किया सड़क जाम    
भाजपा नेता के पोस्टर विवाद में यूं फंसा लहेरी थाना का दारोगा
जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने ईवीएम कोषांग का किया निरीक्षण
करंट का कहरः बेन में युवक की मौत तो सिलाव में 2 गाय चढ़ी भेंट
जमीन विवाद मे अधेड की हत्या, आधा दर्जन पर एफआईआर दर्ज 
डीएसपी ने इस्लामपुर थाना का औचक निरीक्षण कर दिए कई निर्देश
घायल युवक की मौत के बाद सड़क जाम, 4.20 लाख मुआवजे के बाद हटे लोग
बेन में सर्प दंश से एक महिला की मौत
बिहार थानेदार ने सेवानिवृत 2 होमगार्ड जवान को दी भावभीनी विदाई
जदयू नेता की पुलिस हाजत में मौत से मचे बवाल के बीच थानेदार, आईओ व चौकीदार अरेस्ट
नव वर्ष में इस्लामपुर से नटेशर तक दौड़ेगीं यात्री ट्रेन
बाप को गोली मारने जा रहा बेटा हथियार समेत धराया
5 महिलाओं से 62.60 लाख की ठगी, 7 पर एफआईआर, 2 गिरफ्तार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» घंटो सड़क जाम-आगजनी के बाद मिला मौत का मुआवजा   » शर्मनाक आंदोलन, आशियां उजाड़ने के बाद मिलेगा बसेरा!   » बोले ACJM आदित्य पांडेय- ‘कानूनी अधिकार से वंचित नहीं होंगे पर्यवेक्षण गृह के किशोर’   » शुक्रिया नालंदा प्रशासन, ये तीन तस्वीरें ही काफी है सुशासन बाबू के 15 वर्षीय विकास को नंगा करने के लिए…   » मवेशी चोरों ने युवक को गोली मारी, मौत, आज से शुरु थी उसकी मैट्रिक परीक्षा   » सरसों के खेत में एक अज्ञात युवती का शव मिलने से सनसनी, उधर सीमा विवाद में उलझे रहे चंडी-नगरनौसा थानेदार   » सब्जी बिक्रेता की आंख फोड़ निर्मम हत्या, आक्रोशितों ने किया बाजार का मेन चौक जाम   » रोसड़ा कोर्ट के जज की मौत के बाद हिलसा के गांव में मचा घमासान   » अवैध बालू उत्खनन रोकने गई इसलामपुर थाना पुलिस पर हमला   » विम्स पावापुरी में बाइक चोरों का आतंक जारी, पुलिस बनी निष्क्रीय