रहुई के नवनिर्वाचित जदयू प्रखंड अध्यक्ष के पुत्र की हत्या से सनसनी

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क । नालंदा जिले के रहुई जदयू के प्रखंड के नवनिर्वाचित अध्यक्ष विनोद मुखिया के बेटे आयुष की संदिग्ध मौत की गुत्थी सुलझाना पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती बन गई है।

क्योंकि जहां एक तरफ पुलिस इसे आत्महत्या बता रही है, वहीं मृतक के पिता विनोद मुखिया ने हत्या की आशंका जताते हुए इस मामले की उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग सरकार से की है। 

बताया जाता है कि 22 वर्षीय आयुष बीए फाइनल का छात्र था और वह पटना में रहकर कम्पटीशन की तैयारी कर रहा था।  उसका शव राजेंद्र नगर स्थित कांटी फैक्ट्री के एक मकान के कमरे से मिली है।

प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो आयुष के उंगली में पिस्टल का ट्रिगर था। इससे पुलिस प्रथम दृष्टया इसे खुदकुशी मान रही है। इस मामले को प्रेम प्रसंग से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। 

इधर, मुखिया विनोद कुमार ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि न ही उनके बेटे का किसी से कोई संबंध था, न ही  दुश्मनी। निश्चित तौर पर किसी ने साजिश के तहत उसकी हत्या कर हाथ की उंगली में पिस्टल थमा दिया। 

सूचना मिलते ही पुलिस और एफएसएल की टीम मौके पर पहुंची और घंटों  मामले की पड़ताल करती रही। लेकिन अभी तक कुछ भी साफ नहीं हो सका है।

उल्लेखनीय है कि कल ही विनोद कुमार रहुई प्रखंड के निर्विरोध जदयू अध्यक्ष बने थे। दिन भर खुशी का आलम रहा और देर शाम उन्हें फोन पर सूचना मिली कि उनके पुत्र  की मौत हो गयी है। 

जानकारी मिलते ही रहुई इलाके में खलबली मच गई और दर्जनों की संख्या में लोग पटना पहुंच गए। 

विनोद कुमार जेडीयू के सांसद आरसीपी सिन्हा और जेडीयू के वरिष्ठ नेता विपिन यादव के  बहुत ही करीबी बताए जाते हैं।  इधर जेडीयू नेता विनोद कुमार के पुत्र की मौत की खबर सुनकर कई नेताओं ने गहरी संवेदना व्यक्त की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here