बेन अंचलाधिकारी कर रहे गिरोहबंदी लूट, जनप्रतिनिधियों ने की नालंदा डीएम से शिकायत

सुशासन और न्याय के साथ विकास करने का स्लोगन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हर वक्त  देकर लोगों को अवगत कराने का काम करते हैं, लेकिन इसका उल्टा ही असर उनके ही गृह क्षेत्र नालंदा में देखने को मिल रहा है……..”

नालंदा दर्पण (रंजीत)। स्थानीय विधायक एवं ग्रामीण विकास मंत्री सरवन कुमार के क्षेत्रान्तर्गत बेन के अंचलाधिकारी के ऊपर पंचायत के सभी मुखिया, जिला परिषद सदस्य एवं प्रखंड प्रमुख के द्वारा भ्रष्टाचार में पूरी तरह से लिप्त होने एवं दलालों और बिचौलियों के माध्यम से अवैध रूप से राशि वसूलने का सीधा आरोप लगाया गया है।

आज बेन प्रखंड के सभी पंचायत के मुखिया प्रमुख एवं जिला परिषद सदस्य जिलाधिकारी से मिलकर एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें 7 सूत्री मांगे अंकित हैं।

इस संबंध में प्रखंड प्रमुख एवं पंचायत जनप्रतिनिधियों ने बताया कि बेन अंचल कार्यालय में पंजी 2 को अब तक ऑनलाइन नहीं किया गया है। कुछ किसानों का जमाबंदी ऑनलाइन किया गया तो उसमें खाता अंकित नहीं किया गया है। जिससे किसानों को भी काफी दिक्कत हो रहा है।

उन्होंने बताया कि हर काम के लिए अंचलाधिकारी के यहां कोटिवार तीन दलाल मौजूद हैं, जो अलग-अलग तरीकों से हर काम के लिए अवैध वसूली का काम करते हैं। इस अंचल में 3 राजस्व कर्मचारी है, जिनसे मिलना भगवान से मिलने के बराबर है।

अगर इनके पास किसी काम का फरियाद सुनाया जाता है तो व्यस्तता बताकर पल्ला झाड़ लेते हैं और आम लोगों का एक भी काम नहीं होता है। इस गिरोहबंदी लूट में वेन अंचल कार्यालय का पूरा तंत्र लगा हुआ है।

नीचे देखिए शिकायत आवेदनः क्या लिखा है नालंदा जिलाधिकारी योगेन्द्र सिंह को बेन अंचल के जनप्रतिनिधियों ने….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here