दहेजलोलुपों ने गर्भवती विवाहिता और उसके एक वर्षीय बच्चा को जला कर मार डाला!

नालंदा दर्पण।  नगरनौसा थाना के सुलेमान चक गांव में दहेजलोभी ससुराल वालों ने दरिंदगी की सीमा पार करते हुए अपनी ही गर्भवती बहु व उसके एक वर्ष वर्षीय मासूम पुत्र को जला कर मार डाला। जिसकी पहचान गांव के ही पिंटू चौधरी के 25 बर्षीय पत्नी पुष्पा देवी एवं एक वर्षीय पुत्र सागर कुमार के रूप में किया गया।

इधर मृतका के पिता दनियावां थाना क्षेत्र के दनियावां बाजार गांव निवासी मुकेश चौधरी ने अपने दामाद पिंटू चौधरी, समधी देवानंद चौधरी, समधिन मिन्ता देवी, बेटी के गोतनी, दमाद के भाई मुन्ना चौधरी, सोनू कुमार, शंकर कुमार पर दहेज के ख़ातिर हत्या करने का आरोप लगा स्थानीय थाना में मामला दर्ज कराया है।

दर्ज प्राथमिकी में मुकेश चौधरी ने कहा है कि 2016 में अपनी पुत्री की शादी नगरनौसा थाना क्षेत्र के सुलेमंचक गांव निवासी देवानन्द चौधरी के पुत्र पिंटू चौधरी के साथ हिन्दू रीति-रिवाजों के साथ किया था। शादी के छह माह सब कुछ ठीक रहा। उसके बाद उसकी पुत्री को आरोपित लोग दहेज को लेकर प्रताड़ित करने लगे। इस सम्बंध में उनलोगों ने समझौता भी किये।

उनकी लड़की का एक डेढ़ वर्ष का पुत्र सागर कुमार था। एक माह पूर्व ही मेरी बेटी अपने सास-ससुर के साथ सुलेमंचक गांव आई थी। बीच-बीच मे मेरी बेटी मोबाइल पर बताती थी कि सास-ससुर गाली गलौज एवं गला दबाने का प्रयास किया करते हैं।

शनिवार को मेरे साली जो सुलेमंचक गांव में ही है, उसने मोबाइल पर सूचना दी कि उनकी गर्भवती लड़की एवं उसके एक वर्ष के पुत्र को ससुराल वालों ने गला दबाकर हत्या कर दिया है। उसके बाद तेल छिड़कर आग लगा दिया।

सूचना पर जब सुलेमंचक पहुंचे तो देखा कि मेरी पुत्री मरी हुई तथा जली हुई है। उसके बगल में उसका बच्चा मृत पड़ा है। ससुराल के सभी लोग फ़रार है।

थानाध्यक्ष नीलकमल ने बताया कि प्रथम दृषि से मामला हत्या का प्रतीत हो रहा है। मामले की जांच किया जा रहा है। फिलहाल पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here