शराब माफिया ‘बल्लुआ’उर्फ‘पल्लुआ’ समेत 3 लोगों को मिली 10 साल की सजा

Share Button

नालंदा दर्पण। पुलिस-मीडिया-न्यायालय को खुली चुनौती देने वाला बेन ईलाके का कुख्यात शराब कारोबारी अंततः कानून के शिकंजे में कस ही गया। बिहारशरीफ व्यवहार न्यायालय ने को बिहार उत्पाद अधिनियम की धारा- 30(ए) के तहत 3 लोगों दोषी करार देते हुए 10 वर्ष की कारावास एवं 5 लाख रुपए अर्थ दंड की सजा दी है। जुर्माना की राशि न देने पर 2 वर्ष अतिरिक्त कारावास की सजा भी दी है।

राजगीर कांड संख्या-31/19, जीआर नं.-642/19  के सजायाफ्ता सभी तीन अभियुक्त बेन थाना के अकौना गांव निवासी संजय प्रसाद उर्फ बल्लू प्रसाद पिता-रामदहिम प्रसाद, कुतलुपुर गांव निवासी धर्मेंद्र कुमार पिता शिवचरण प्रसाद, मोतिया बिगहा गांव निवासी सुबोध यादव पिता राम विकास यादव निवासी मोतिया बिगहा हैं।

बता दें कि नालंदा जिले के राजगीर में बेन थाना पुलिस ने एक वांटेड को दबोचने के लिए वीरायतन के पास कार्यानंद नगर अवस्थित एक नवनिर्मित-निर्माणाधीन गोदामनुमा भव्य मकान में छापामारी कर उस मकान से भारी मात्रा में अंग्रेजी शराब की खेप बरामद की थी।

यह बेन थानाध्यक्ष पिंकी प्रसाद और उत्पाद विभाग के एसआई अरुण कुमार एवं राजगीर पुलिस की संयुक्त कार्रवाई  थी।

तब जिस तरह से यहां प्रतिबंधित अंग्रेजी शराब की बरामदगी हुई है, उससे साफ स्पष्ट होता है कि राजगीर और उसके आसपास में बड़े पैमाने पर शराब की बिक्री हो रही है और एक बड़ा माफिया तंत्र यहां सक्रीय है।

तब इस पुलिस कार्रवाई को लेकर एक्सपर्ट मीडिया न्यूज साइट पर प्रकाशित खबर थी……

👉राजगीर में अवैध शराब का बड़ा खुलासा, नवनिर्मित मकान निकला बड़ा गोदाम

👉वीडियोः आईए सब मिलकर ऐसे ढीठ शराब माफियाओं को नालंदा से उखाड़ें 

👇 सुनिए ऑडियोः एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क के साथ बातचीत में पुलिस-मीडिया-न्यायालय को लेकर क्या कहा था शराब माफिया संजय प्रसाद उर्फ बल्लू प्रसाद उर्फ पल्लु ने…….

 

Share Button

Related News:

गड्ढे में डूबने से 2 सगी बहन की मौत
विधवा मां को 8 माह से नहीं मिला मुआवजा, सरकारी वेशर्मी की हद
पुलिस स्टिकर चिपके हरियाणा नंबर वाली कार से 8 कार्टून अंग्रेज़ी शराब बरामद
उप मेयर का चयन अब त्रिकोणीय होने के आसार
आपसी वर्चस्व को लेकर हुई गोलीबारी में एक जख़्मी, पटना रेफर
यहां हर रोज एक हत्या, आज गैस संचालक की चाकू गोद कर हत्या, सुशासन बना काला दाग
ऑटो ने दादा-पोता को रौंदा, पोता की मौके पर मौत, दादा जख्मी, आक्रोशितों ने किया सड़क जाम    
खतरे में जनसंघ का गढ़, सवर्णों ने डुबोई भाजपा की लुटिया !
नगरनौसा बवालः उधर दूसरे गुट ने एसटीएसी थाना में यूं किया छेड़खानी का केस🤔
पूर्णतः अतिक्रमित छठ तालाब का निरीक्षण करने पहुंचे नगरनौसा सीओ, बोले- होगी कार्रवाई
नदी में डूबने से सपेरा पुत्र की मौत, सरकारी मुआवजा की मांग
ग्रामीण विकास मंत्री के क्षेत्र के इस गांव में देखिए जल नल का हाल, जनप्रतिनिधि-अफसर सब नकारा
इंटर की नाबालिग छात्रा ने लगाई फांसी, हो रही अनेक चर्चाएं
छीः गोली लगी युवक को स्ट्रेचर तक न मिला, ये है सीएम के हरनौत का रेफरल अस्पताल
ओवर टेक के चक्कर में खाई में पलटी बस, दो दर्जन जख्मी, कई गंभीर
प्रमंडलीय आयुक्त के निर्देश पर नगर आयुक्त ने किया नाली-गली का निरीक्षण
केस नहीं उठाया तो दबंगों ने असहाय दंपति बुरी तरह से पीटा, हिलसा थानाध्यक्ष ने भगाया
वेना थाना क्षेत्र में मिली लाश पटना से किडनैप प्रॉपर्टी डीलर की निकली
कल सिनेमा घरों में रिलीज होगी शिक्षा माफिया पर आधारित फिल्म सेटर
सृष्टिकर्ता भास्कर की अर्घ की तैयारी में जुटे मां छठवर्ती
गांव-गांव में हो रही निवर्तमान सांसद की किरकिरी :मनोज यादव
नंदकिशोर महिला इंटर कॉलेज में 6.06 लाख की गबन का FIR दर्ज
वार्ड सदस्य की मनमानी से अधर में लटका सीएम सात निश्चय की कार्य
घायल युवक की मौत के बाद सड़क जाम, 4.20 लाख मुआवजे के बाद हटे लोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...

You may have missed

Don`t copy text!
» पुलिस ने पकड़ी 3 वाहन समेत शराब की बड़ी खेप, लेकिन कारोबारी फरार   » 550वां प्रकाश पर्व पर 27-29 दिसंबर को होगी ये विशेष व्यवस्था   » नेहरू युवा केंद्र द्वारा पंडितपुर में फुटबॉल प्रतियोगिता, उदय क्लब ने आजाद युवा को 2-0 से हराया   » इसलामपुर में 35 कार्टून अंग्रेजी शराब बरामद, ट्रैक्टर टेलर व ट्वेटा वाहन जप्त, 2 धराए   » नंदकिशोर महिला इंटर कॉलेज में 6.06 लाख की गबन का FIR दर्ज   » स्कूली बच्चों के भोजन में मृत बिच्छू ! लापरवाही या साजिश? जांच का विषय   » निगरानी डीएसपी ने थरथरी प्रखंड आवास सहायक को 10 हजार घूस लेते रंगे हाथ यूं दबोचा   » राजगीर नगर पंचायतः पूर्व पार्षद की शिकायत पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुख्य सचिव से मांगी जांच रिपोर्ट   » कोर्ट के आदेश की अवहेलना- ‘लापरवाह जेलर हाजिर हो’   » पर्यवेक्षण गृह नहीं, पाठशाला !