48 घंटों से आमरण अनशन पर बैठी लूट की शिकार जीविका दीदीओं को थानेदार दे रहा उल्टे धमकी

एक तरफ सरकार नारी सशक्तिकरण की बात करती नहीं थकती, वहीं 48 घंटे से पुलिस-प्रशासन के आला अफसर अनशनकारियों का हाल-चाल जानना भी मुनासिब नहीं समझ रहे हैं। उल्टे स्थानीय थानेदार अनशन स्थल पर आकर बार-बार तरह-तरह की धमकियां दे रहा है……”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज (चुन्नु चन्द्रवंशी)। नालंदा जिले के थरथरी प्रखंड के भतहर बाजार में एक सफ्ताह पूर्व जीविका अध्यक्ष अर्चना देवी से हुई एक लाख रुपया की लूट मामले में पुलिस के द्वारा बरती जा रही सुस्ती के खिलाफ समूह से जुड़ी दर्जनों जीविका दीदियों ने से हिलसा अनुमंडल मुख्यालय के समक्ष आमरण अनशन पर बैठी हैं।

कहा जाता है कि पुलिस-प्रशासन की ओर से इसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। वहीं हिलसा थानेदार सुरेश प्रसाद उलटे अनशन स्थल पर बार-बार आकर अनशनकारी जीवीका दीदीयों को तरह-तरह की धमकी दे रहा है।

विदित हो कि थरथरी प्रखंड के भतहर गांव निवासी सह जीविका समूह के अध्यक्ष अर्चना देवी 19 नबम्बर को समूह के सदस्यों के बीच राशि वितरण करने के लिये थरथरी बाजार स्थित ग्रामीण बैंक से एक लाख रुपया निकासी कर गांव जा रही थी कि भतहर टेम्पू स्टैंड से कुछ दूरी पर पीछे से वाईक सबार बदमाश आया और रुपया से भरा बैग झपटकर भाग गया।

इस सबन्ध में थरथरी थाना में अज्ञात के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराया गया था। अनशन पर बैठी पीड़ित जीविका समूह के अध्यक्ष अर्चना देवी ने कहा कि घटना के एक सप्ताह वित्त जाने के बाबजूद अबतक पुलिस कोई कार्रवाई नहीं की।

बदमाशों के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिये प्रतिदिन थाना के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन पुलिस पदाधिकारी कोई भी इस मामले में एक्शन नही ले रहे हैं। लूट की घटना के बाद जीविका समूह से जुड़ी महिलाओं में दहशत का माहौल बन गया। जब तक बदमाशों पर कार्वाई नहीं की जाती है, तब तक अनशन पर बैठे रहेंगे।

इस मौके पर जीविका समूह के सचिव कांति देवी, मनोरमा देवी, रिंकू देवी, संगीता देवी के अलावे दर्जनों जीविका दीदियों ने समर्थन में शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here