महिला-किसानों ने प्रखंड-अंचल कार्यालय को घेरा, लगाए ‘सीओ चोर है’ के नारे

नालंदा दर्पण। नगरनौसा प्रखंड के अरियावां पंचायत के सैकड़ों महिला पुरूष किसान शनिवार के दिन मुआवजा की राशि की मांग को लेकर प्रखंड कार्यालय का घेराव किया।

किसानों का आरोप था कि सरकार द्वारा अरियावां पंचायत को सुखा घोषित करने के महीनों बीत जाने के बाद भी अभी तक किसानों को मुआवजा राशि नही दिया गया है।

सतेंद्र प्रसाद,शोभी कुमारी, रेखा देवी, लक्ष्मीनिया देवी, आशा देवी, सुनैना देवी, रूबी देवी,कारू पासवान, नगीना पासवान, जयकांत प्रसाद, लालती देवी, चंचल देवी, पर्वतीया देवी, आनन्द बल्ब प्रसाद, जनक राम, अमित कुमार, धर्मेंद्र पाण्ड्ये, रिंकू देवी, राजनीति ठाकुर, प्रतिमा देवी, अनिल पासवान, कमला देवी, ओमप्रकाश, द्वारिका प्रसाद, रामप्रवेश रविदास आदि किसानों ने बताया कि खरीफ़ फसल में सुखा पड़ने के दौरान नगरनौसा प्रखंड का एकमात्र अरियावां पंचायत को राज्य सरकार द्वारा सूखा घोषित किया गया था।

सूखा घोषित होने के बाद मुआवजा राशि के लिए आवेदन लिया गया। आवेदन लेने के बाद सभी आवेदन का वार्ड स्तर पर भौतिक सत्यापन किया गया। कुछ किसानों का दुर्गा पूजा के वक्त मुआवजा राशि का भुगतान किया गया था। लेकिन अन्य किसानों को आज तक मुआवजा राशि नहीं दिया गया।

इधर प्रखंड कार्यालय पर किसानों द्वारा प्रदर्शन किए जाने की सूचना मिलते ही बीडीओ रितेश कुमार व सीओ सुरेश प्रसाद प्रदर्शनकारी किसानों को समझाने का प्रयास किया। घंटों के अथक प्रयास के बाद किसान उनकी बातों पर राजी हुए, लेकिन किसानों ने पदाधिकारियों को 18 जनवरी तक समय देते हुए मुआवजा राशि भुगतान करने को कहा है।

साथ ही कहा कि अगर 18 जनवरी के पूर्व हमलोगों के मुआवजा राशि का भुगतान नहीं होता है तो वे 19 जनवरी को जल जीवन हरियाली पर बनने वाले राज्यव्यापी मानव श्रृंखला का वहिष्कार करेंगे।

अंचलाधिकारी सुरेश प्रसाद ने बताया कि अंचल स्तर से सभी आवेदनों की जांच कर किसानों के मुआवजा राशि भुगतान को लेकर पटना मुख्यालय को भेज दिया गया है। मुख्यालय स्तर जैसे जैसे स्वीकृति मिलकर उनके लॉगिन आईडी पर आएगा, वैसे ही किसानों के खाते में राशि निर्गत कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here