‘दलालों होश में आओ’ के नारे के बीच राजगीर नगर पँचायत कार्यालय में लटका ताला

नालंदा दर्पण। सरकार-प्रशासन के साथ जनप्रतिनिधियों की चौतरफा मार नगर निकायों के गरीब कर्मचारियों पर पड़ रही है। यही वजह है कि पर्यटन नगरी राजगीर में नगर पँचायत कार्यालय पर ताला लटका रहा और कर्मचारी धरना प्रदर्शन करते रहे…

हाथों में नगर पँचायत के दलाल होश में आओ और बोर्ड की मनमानी नही चलेगी जैसे तख्ती लेकर कर्मियों ने सरकार एवं जनप्रतिनिधियों के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली।

जहाँ एक तरफ विभाग द्वारा ग्रुप डी के कर्मियों को आउटसोर्सिंग के माध्यम से रखने का तुगलकी फरमान जारी किया गया है, वहीं राजगीर नगर पँचायत की उपाध्यक्ष पिंकी द्वारा 15-20 वर्षों से कार्य कर रहे कुल 9 स्थायी कर्मियों को हटाने की माँग नगर विकास विभाग से की है।

नगर पँचायत के नौ स्थायी कर्मी जिसमे उपेंद्र सिंह लायसेंस जमादार,संजय रंजन वार्ड जमादार,शिवशंकर यादव सफाई निरीक्षक, अशोक कुमार प्रसाद टैक्स दारोगा, सत्येंद्र राजवंशी वार्ड जमादार, पप्पू मिस्त्री ट्रैक्टर चालक, रवि कुमार निम्नवर्गीय लिपिक,प्रमोद कुमार सहायक टैक्स दारोगा, भोला प्रसाद रात्रि प्रहरी कुल 9 कर्मियों को हटाने की मांग विभाग से की है और आरक्षण रोस्टर की अवहेलना होने की बात की है।

जबकि ये 9 कर्मियों में सभी लोग मैट्रिक, इंटर से लेकर स्नातक और स्नातकोत्तर की डिग्री धारण किये हुए हैं और आरक्षण के तहत सामान्य वर्ग, पिछड़ा वर्ग, अतिपिछड़ा वर्ग, अनुसूचित वर्ग के लोग हैं। पिछले 15 20 वर्षों से बहाल है।

नगर के प्रतिनिधियों ने उपाध्यक्ष पिंकी देवी द्वारा वितीय वर्ष 2017 से अभी तक अपने रिश्तेदार के साथ  दर्जनों लोगों की अवैध बहाली का आरोप लगा चुके हैं। जिसमे न किसी के पास योग्यता है और ना ही तकनीक ज्ञान और आरक्षण रोस्टर का पालन।

नगर पंचायत कर्मियों के साथ आरोप प्रत्यारोप में नगर के सभी कार्य बाधित हैं जिस कारण नगर के विभिन्न वार्डों में कचड़ा का अंबार लग चुका है।

नगर के विभिन्न मुहल्ले निचली बाजार, धर्मशाला रोड, पासवान टोला, गांधी टोला, माली टोला, बड़ी मिल्की,पूर्वी भारत धर्मशाला रोड, पंचवटी नगर, अम्बेडकर नगर, बंगाली पाड़ा, गिरियक रोड, नौलखा मंदिर आदि की सड़कों पर कचड़ा का अंबार लगा हुआ है। राजगीर कुंड क्षेत्र में अँधेरा कायम हो गया है।

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी कल्याण संघ के अध्यक्ष उमेश भगत ने कहा कि कर्मचारियों पर सरकार के साथ साथ जनप्रतिनिधियों द्वारा चौतरफा मार मारा जा रहा है। सरकार और जनप्रतिनिधियों के मनमाने रवैये से कर्मियों में जनाक्रोश है। जिस कारण आज पूरे शहर में आक्रोश मार्च निकाला गया। यदि समय रहते स्थायी निदान नही हुआ तो आंदोलन और रौद्र रूप दिया जाएगा।

[URIS id=5216]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here