मजदूरों की घर वापसी, मुआवजा, गुजारा भत्ता की मांगों को लेकर भाकपा (माले) का धरना

हिलसा /इसलामपुर (नालंदा दर्पण)। राज्यव्यापी कार्यक्रम के तहत भाकपा (माले) सहित वाम दलों ने विभिन्न मांगो को लेकर आज हिलसा प्रखंड माले कार्यालय एवं इसलामपुर के चरनटई गांव में एक दिवसीय धरना दिया।

धरनार्थियों की मांगों में लॉक डाउन के दौरान मरे मजदूरों को पीएम केयर फंड से बीस-बीस लाख मुआवजा देने, सभी मजदूरों को तीन महीने का मुफ्त राशन व दस-दस हजार रुपये गुजारा भत्ता देने, कोराना राहत अभियान समेत सभी ग्रामीण कार्यो को मनरेगा से जोड़ने, मनरेगा मजदूरों को साल में 200 दिन काम और 500 रुपया दैनिक मजदूरी की गारंटी करने, वर्षा व ओलावृष्टि से किसानों की क्षति फसल की प्रति एकड़ 25000 रुपये मुआवजा देने शामिल हैं।

धरना में खेग्रामस के जिला सचिव रामधारी दास, जिला अध्यक्ष प्रमोद यादव, जिला कमिटी सदस्य शिव शंकर प्रसाद,भाकपा माले कार्यालय सचिव दिनेश यादव, माले नेता द्वारिका यादव, इन्कलाबी नौजवान सभा के जिला उपाध्यक्ष प्रोफेसर शैलेश यादव, माले नेता कृष्णा प्रसाद अधिवक्ता, सुजीत केशरी आदि लोगों ने भाग लिया।

खेग्रामस के जिला सचिव रामधारी दास व शिवशंकर प्रसाद ने धरना के संबोधित करते हुए कहा कि कोविड 19 महामारी और लॉक डाउन से प्रवासी मजदूरों के सामने भुखमरी व आर्थिक तंगी के कारण उनकी जिंदगी नारकीय बन गई है।

मजदूरों की समस्या को लेकर देशव्यापी विरोध के बाद सरकार प्रवासी मजदूरों की घर वापसी पर सहमत तो हुई, लेकिन केंद्र सरकार अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ते हुए ट्रेन किराया राज्य सरकार से वसूलने की बात कर रही है।

इधर बिहार सरकार ने किराया देने से इन्कार करते हुऐ सभी प्रवासी मजदूरों से वसूलने की घोषणा की, जबकि पूंजीपतियों, मंत्री के बेटा, बेटियों को हवाई जहाज से मुफ्त में घर वापस लाया।

माले नेता ने कहा कि पीएम केयर फंड में करोड़ों रुपया जमा है, जिस पर सबसे पहले मजदूरों का हक बनता है। फिर भी मोदी सरकार इस फंड को मजदूरों पर खर्च नही कर रही है जो क्रूरता व अमानवीयता का ही परिचायक है। माले नेताओं ने व्यक्तिगत दूरी बना कर  लॉक डाउन के नियम को पालन करते हुऐ धरना को सफल किया।

कार्यालय सचिव दिनेश यादव ने बताया कि हिलसा प्रखण्ड के रेडी पंचायत के पखनपुर ग्राम में माले प्रखण्ड सचिव जय प्रकाश पासवान व नगर परिषद के परवलपुर में रामप्रवेश सहनी ने धरना दिया।

उधर, इसलामपुर प्रखंड के चरनटई गांव मं भाकपा माले की ओर से धरना दिया गया। इस दौरान पार्टी जिला कमिटी सदस्य व इनौस जिला सचिव शत्रुधन कुमार ने धरना को संबोधित करते हुए प्रवासी मजदुरो से घर पहुंचाने की एवज में पैसा वसूलने के सरकार के आदेश की कड़ी निंदा की।

उन्होंने कहा कि कि पीएम केयर फंड मे करोड़ो अंरबो रूपया जमा है। और प्रधान मंत्री मोदी इसे मजदुरो पर खर्च करना नही चाहते। केन्द्र और राज्य सरकार के बीच जिम्मेवारी को लेकर फेंका फेंकी का खेल खेला जा रहा है। और पुरा बोझ भूखमरी- वेरोजगारी  की मार झेल रहे मजदूरों पर ही डाल रही है।

इस धरना में माले नेता सुरेन्द्र यादव, प्यारे दास, नरेश दास, इन्द्रदेव दास, देवशरण मांझी विजय सिंह आदि लोग शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here