नालंदा जिला योजना पदाधिकारी संजय गंगवाल की पटना एम्स में कोरोना से मौत

बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिला योजना पदाधिकारी संजय गंगवाल की पटना एम्स में कारोना से मौत हो गई। वे 45 वर्ष के थे और उनका इलाज एक सप्ताह से चल रहा था।

बुधवार को उन्होंने अंतिम सांसे ली। उनकी मौत की खबर मिलते ही जिला समाहरणालय में पदाधिकारियों व कर्मचारियों के बीच शोक की लहर दौड़ पड़ी।

बता दें कि जिला योजना पदाधिकारी जिले में लगभग डेढ़ वर्ष से कार्यरत रहे। निधन की सूचना मिलते ही डीएम योगेन्द्र सिंह, डीडीसी राकेश कुमार, एडीएम नौशाद अहमद, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी राजेश कुमार सिंह, डीएसओ सह जिला गोपनीय पदाधिकारी रविशंकर शंकर उरांव, डीटीओ मनोज कुमार, जिला निबंधन पदाधिकारी पंकज कुमार झा, डीसीएलआर बिहारशरीफ कुमार प्रशांत, डीपीआरओ रविन्द्र कुमार आदि ने गहरी संवेदना प्रकट की।

संजय गंगवाल पटना के राजेन्द्र नगर मोहल्ले के रहने वाले थे। अपने पीछे वे पत्नी व दो पुत्र और एक पुत्री को छोड़ गए हैं।

इधर सोहसराय के बीच बाजार निवासी 45 वर्षीय एक शिक्षक की विम्स में इलाज के दौरान मौत हो गई। शिक्षक भी कोरोना से संक्रमित थे, जिनका विम्स पावापुरी में तीन दिन से इलाज चल रहा था।

शिक्षक पावापुरी तीर्थंकर महाविद्यालय में कार्यरत थे। उनके निधन की खबर से विद्यालय परिवार के बीच शोक की लहर है।

उधर, अस्थावां पीएचसी में बुधवार को 38 लोगों की जांच में 8 लोग पॉजिटिव पाए गए। जिसमें से 2 पीएनबी बैंक नेपुरा के कर्मचारी भी है।

बैंक प्रबंधक ने उच्चाधिकारियों को सूचना दे दी है। निर्देशानुसार बैंक 2 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। सेनेटाइज करवाने के बाद ही बैंक खोला जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here