26 C
Patna
Tuesday, October 19, 2021
अन्य

    थरथरी बीडीओ ने ग्रामीण विकास कार्यशाला के अनुभव यूं किए बयां

    Expert Media News Video_youtube
    Video thumbnail
    बंद कमरा में मुखिया पति-पंचायत सेवक का देखिए बार बाला डांस, वायरल हुआ वीडियो
    01:37
    Video thumbnail
    नालंदाः सूदखोरों ने की महादलित की पीट-पीटकर हत्या, देखिए EXCLUSIVE Video रिपोर्ट
    05:26
    Video thumbnail
    नालंदाः नगरनौसा में अंतिम दिन कुल 107 लोगों ने किया नामांकण
    03:20
    Video thumbnail
    नालंदा में फिर गिरा सीएम नीतीश कुमार की भ्रष्ट्राचारयुक्त निश्चय योजना की टंकी !
    03:49
    Video thumbnail
    नगरनौसा में पांचवें दिन कुल 143 लोगों ने किया नामांकन पत्र दाखिल
    03:45
    Video thumbnail
    नगरनौसा में आज हुआ भेड़िया-धसान नामांकण, देखिए क्या कहते हैं चुनावी बांकुरें..
    06:26
    Video thumbnail
    नालंदा विश्वविद्यालय में भ्रष्ट्राचार को लेकर धरना-प्रदर्शन, बोले कांग्रेस नेता...
    02:10
    Video thumbnail
    पंचायत चुनाव-2021ः नगरनौसा में नामांकन के दौरान बहाई जा रही शराब की गंगा
    02:53
    Video thumbnail
    पिटाई के विरोध में धरना पर बैठे सरायकेला के पत्रकार
    03:03
    Video thumbnail
    देखिए वीडियोः इसलामपुर में खाद की किल्लत पर किसानों का बवाल, पुलिस को पीटा
    02:55

    नालंदा दर्पण डेस्क। पटना के ज्ञान भवन में बीडीओ व ग्रामीण विकास पदाधिकारी का एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित किया गया…

    इस कार्यशाला में वर्ष 2018-19 में पीएम आवास में सर्वाधिक उपलब्धि प्राप्त करने वाला जिला के प्रथम स्थान पाने वाले प्रखंड के बीडीओ तथा निम्न स्थान पाने वाला बीडीओ ने अपने अनुभव एवं कठिनाइयों के अनुभव को बयां किया।

    tharthari bdo1
    थरथरी प्रखंड के बीडीओ तरुण कुमार यादव…..

    इस कार्यशाला में पूरे बिहार में दो जिला किशनगंज और नालंदा के थरथरी प्रखंड के बीडीओ तरुण कुमार यादव ने कैसे पीएम आवास में प्रथम स्थान पाया, इसका अनुभव शेयर करते हुए कहा-

    ‘मैं ग्रामीण विकास के पदाधिकारी हूँ। ग्रामीण विकास की एक मात्र योजना पीएम आवास योजना है। इस योजना के प्रति हमलोगों का दायित्व बढ़ जाता है। यह योजना गरीबों के जीवन स्तर को ऊंचा करने में क्रांतिकारी बदलाव आता है। जैसे सर पर छत होने पर वह एक चौकी की व्यवस्था करने के बारे में सोचता है। चौकी होने पर अच्छे बिछावन के विषय में सोचता है और इस तरह से इनके जीवन स्तर में क्रमिक ऊंचाई आते जाता है। योजनाओं का साप्ताहिक अनुश्रवण एवं क्षेत्र भ्रमण आवश्यक है। इससे लाभुकों के परेशानियों से अवगत होते है। जब लाभुक का व्यक्तिगत प्रखंड स्तर पर जुड़ाव हो जाता है तो आवास का पूर्ण होते देर नही लगती है। अपने उच्च पदाधिकारियों को ग्रामीण आवास सहायको के कमी के बारे में भी अनुरोध किया’।

    स्वच्छता मिशन के डायरेक्टर बाला मुरुगन डी ने कार्यशाला में कहा कि जो शौचालय बना हुआ है, उसे जल्द से जल्द पेमेंट करने का निर्देश दिया। वहीं महादलित टोले में भूमि को कमी देखते हुए भूमि को चिन्हित कर सामुदायिक शौचालय का निर्माण करने का भी निर्देश दिया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    संबंधित खबरें

    326,897FansLike
    8,004,563FollowersFollow
    4,589,231FollowersFollow
    235,123FollowersFollow
    5,623,484FollowersFollow
    2,000,369SubscribersSubscribe