अन्य
    Thursday, July 18, 2024
    अन्य

      पुटपाथी दुकानदारों का धरना-पर्दशन स्थगित, लेकिन भ्रष्ट राजगीर नगर पंचायत को लेकर होगा उग्र आंदोलन

      सीएम नीतीश कुमार राजगीर महोत्सव के दौरान आने वाले हैं। उनके साथ कई देशी विदेशी पर्यटक भी राजगीर महोत्सव का लुफ्त उठाने के लिए आएंगे। इसके कारण कल का धरना प्रदर्शन को स्थगित किया गया है। लेकिन जल्द ही उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। जिसकी सारी जिम्मेदारी नगर प्रशासन एवं जिला प्रशासन की होगी…….”

      नालंदा दर्पण। नालन्दा फुटपाथ दुकानदार अधिकार मंच  के अध्यक्ष गोपाल भदानी ने कहा है कि अंतराष्ट्रीय पर्यटक नगरी राजगीर में फुटपाथ वेंडरों  को बिहार पथ विक्रेता अधिनियम 2017 एवं  सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आलोक में सहयोग करना चाहिए। बावजूद अतिक्रमण के नाम पर तंग तबाह किया जाता है। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

      rajgir nagar cruption 2
      नालन्दा फुटपाथ दुकानदार अधिकार मंच  के अध्यक्ष गोपाल भदानी….

      उनहोंने बताया कि कल राजगीर नगर पंचायत के कर्मचारी अपने आपको प्रधानमंत्री से कम नहीं समझते हैं। वे सोचते हैं कि सारा नियम कानून हम खुद बनाते हैं और मनमानी करते हैं। कल तड़के सुबह सात बजे ही अतिक्रमण के नाम पर दुकानों को ध्वस्त कर कर दिया गया जिसमें दुकानदारों को लाखों रुपए का क्षति हुआ है।

      उन्होंने कहा कि राजगीर एक अंतराष्ट्रीय पर्यटक नगरी है। यहां का इनकम पर्यटकों से है और जो भी कार्यपालक और सिटी मैनेजर नगर पंचायत में आते हैं। वह अपनी मनमानी के कारण सरकार के द्वारा बनाए गए पथ विक्रेता अधिनियम 2017 को अब तक पालन नहीं किए हैं। जिसके कारण किसी भी सिस्टम से दुकानदार नहीं है।

      अगर इन दुकानदारों को वेंडिंग जोन बनाकर उसमें विस्थापित कर दिया जाए तो अंतराष्ट्रीय पर्यटक नगरी और खूबसूरत दिखेगी।  वे चाहते हैं कि राजगीर शहर को विश्व धरोहर सिटी में शामिल किया जाए, लेकिन यहां के पदाधिकारी को सिर्फ जिस कार्यक्रम में ज्यादा घूस की राशि मिलती है। उसी कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का काम करते हैंrajgir nagar cruption 3

      उन्होंने बताया कि राजगीर नगर पंचायत में कई तरह की गड़बड़ियां हैं। अगर इस कार्यालय के द्वारा संचालित कार्यक्रमों व योजनाओं को को सीबीआई से जांच कराया जाए तो कई तरह के मामला सामने उजागर हो सकते हैं।

      राजगीर में 78 करोड़ की लागत सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाया गया है। जिसमें आज तक 78 कनेक्शन तक नहीं हो पाए हैं। व्यक्तिगत शौचालय के नाम पर आधे अधूरे निर्माण कराकर नगर पंचायत ने नगर वासियों को छोड़ रखा है।

      नगर पंचायत के द्वारा सिर्फ गरीबों मजदूरों को तबाह करने का काम किया जाता है, जबकि फुटपाथ पर कई तरह के बिल्डिंग खड़ा है कई तरह के जनरेटर  फुटपाथ पर रखा हुआ है। फुटपाथ पर सैकड़ो बोरिंग एवं मकान का सीड़ी व में गेट राजगीर शहर में है। उसको देखने के लिए कोई सिस्टम नहीं है।

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=p3rx9WQ8TvY[/embedyt]

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!