26 C
Patna
Tuesday, October 19, 2021
अन्य

    प्रशासन की सांठगांठ से गांव के एकमात्र बचे छठ अर्घ तालाब को यूं पूर्णतः भर दिया

    Expert Media News Video_youtube
    Video thumbnail
    बंद कमरा में मुखिया पति-पंचायत सेवक का देखिए बार बाला डांस, वायरल हुआ वीडियो
    01:37
    Video thumbnail
    नालंदाः सूदखोरों ने की महादलित की पीट-पीटकर हत्या, देखिए EXCLUSIVE Video रिपोर्ट
    05:26
    Video thumbnail
    नालंदाः नगरनौसा में अंतिम दिन कुल 107 लोगों ने किया नामांकण
    03:20
    Video thumbnail
    नालंदा में फिर गिरा सीएम नीतीश कुमार की भ्रष्ट्राचारयुक्त निश्चय योजना की टंकी !
    03:49
    Video thumbnail
    नगरनौसा में पांचवें दिन कुल 143 लोगों ने किया नामांकन पत्र दाखिल
    03:45
    Video thumbnail
    नगरनौसा में आज हुआ भेड़िया-धसान नामांकण, देखिए क्या कहते हैं चुनावी बांकुरें..
    06:26
    Video thumbnail
    नालंदा विश्वविद्यालय में भ्रष्ट्राचार को लेकर धरना-प्रदर्शन, बोले कांग्रेस नेता...
    02:10
    Video thumbnail
    पंचायत चुनाव-2021ः नगरनौसा में नामांकन के दौरान बहाई जा रही शराब की गंगा
    02:53
    Video thumbnail
    पिटाई के विरोध में धरना पर बैठे सरायकेला के पत्रकार
    03:03
    Video thumbnail
    देखिए वीडियोः इसलामपुर में खाद की किल्लत पर किसानों का बवाल, पुलिस को पीटा
    02:55

    यह तस्वीर है नालंदा जिले के नगरनौसा प्रखंड के रामपुर पंचायत अन्तर्गत लोदीपुर गांव के एकलौते बचे तालाब की, जिसे स्थानीय प्रशासन की मिलीभगत से हाल ही में लुप्त कर दिया है। हरे-भरे पेड़ पौधों को काट दिया गया है। जल निकास पूर्णतः बंद कर दिया गया है……

    crupt admin naganausa nalandaएक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। बिहार में सरकार-प्रशासन जल संरक्षण-पर्यावरण रक्षा के नाम पर मजाक कर रही है। यदि यकीन न हो तो सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा को देख लीजिए। यहां ऐसे सैकड़ों उदाहरण मिल जाएंगे, जो कथनी-करनी में फर्क साफ स्पष्ट करती है।

    इस गांव की एक मात्र जल निकास पुल को बंद कर दिया गया है। पहले कुछ हिस्सों को भरकर नया मकान बना दिया गया। अब उसे पूरी तरह भर दिया गया।

    पिछले साल आसपास के कई गांव के लोगों ने इस सार्वजनिक आम गरमजरुआ तालाब में छठ पर्व का अर्घ दिया था।

    गांव वालों ने पहले से अत्क्रमित होने के बाद बचे हिस्से को साफ सुथरा किया था। उस मौके पंचायत समिति सदस्य ने वहा छठ घाट बनाने की पहल करने की बात कही थी।

    इसे लेकर तात्कालीन व वर्तमान सीओ-बीडीओ से भी कई बार संपर्क किया गया, लेकिन वे ग्रामीणों को आश्वासन की घूंटी पिलाते रहे। कभी कोई रुचि नहीं ली।crupt admin naganausa nalanda 22

    आरोप है कि बीडीओ-सीओ ने मोटी रकम लेकर भू-माफिया अतिक्रमणकारियों को उस तालाब को भरने की खूली छूट दे दी।

    स्थानीय प्रशासन की लापरवाही को लेकर गांव वाले काफी क्षुब्ध हैं। वे यह मान चुके हैं कि प्रशासन कुछ खास लोगों की रखैल बनकर रह गई है। आम लोगों की समस्याओं की कोई सुध नहीं ली जाती।

    यहां सारे जनप्रतिनिधि भी अंधे हैं। वे प्रायः जिस मार्ग से गुजरते हैं। उसी किनारे यह सब हुआ है। लेकिन उनकी जल संरक्षण-पर्यावरण रक्षा की बात साफ दोगली प्रतीत है।   ऐसे निकम्मेपन-भ्रष्टाचार के खेल की ओर उनकी पलतें कभी नहीं उठती।

    यदि ग्रामीणों का आरोप बेबुनियाद है तो इन तस्वीरो को प्रशासन गौर से देखे और अविलंब कार्रवाई कर दिखाए। हरे-भरे पेड़ काटकर किसी गांव के प्रमुख जल स्रोत को चिन्हित कर उसे अतिक्रमण मुक्त कर दिखाए। उसे नापी करा उसी स्वरुप में वापस लाए, जैसा कि एक दो वर्ष पहले थी।  

    देखिए पिछले साल कार्तिक महापर्व छठ के मौके पर खींची गई तस्वीर……

    20171027 062017crupt admin naganausa nalanda1 crupt admin naganausa nalanda 11 crupt admin naganausa nalanda 2 crupt admin naganausa nalanda 1

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    संबंधित खबरें

    326,897FansLike
    8,004,563FollowersFollow
    4,589,231FollowersFollow
    235,123FollowersFollow
    5,623,484FollowersFollow
    2,000,369SubscribersSubscribe