अन्य
    Sunday, July 21, 2024
    अन्य

      यहां कैसे पड़ेगा छठ अर्घ, घाटों की नहीं हुई है सफाई, 3 जिले से आते हैं श्रद्धालु!

      फिर भी सरकारी स्तर पर अब तक इस घाट तक पक्की सडक का निर्माण नहीं करवाया जा सका है। जिसके कारण छठव्रतियों को परेशानी का सामना करना पडता है………..”

      ISLAMPUR NEWSनालंदा दर्पण। इसलामपुर प्रखंड के बरदाहा पंचायत के अर्जुन सेरथुआ गांव के पास नदी  की घाटो पर वर्षो पुर्व से छठ पुजा पर लोग अर्घ देते चले आ रहे है। लेकिन वहां पर जाने के लिए कच्ची सडक की हालत जर्जर है और इसके अलावे खेतों की पगडंडी के सहारे लोगों का आवागमन होता है।

      इतना ही नहीं, घाट के पास वना खपरैल चेंजिग रुम गिरकर क्षतिग्रस्त हो गया है। जबकि गांव से लगभग डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर यह घाट व  सूर्यमंदिर है। नदी में बारिश का पानी अधिक है। जिससे कारण छठ व्रतियों को अर्ध देते समय अप्रिय घटना घटने की आशंका व्यक्त किया जा रहा है।ISLAMPUR NEWS1

      जबकि इस घाट पर तीन जिला से छठवर्ती अर्ध देने के लिए आते है। जिसमें नालन्दा जिला के अर्जुन सेरथुआ सराय, अर्जुन सेरथुआ डीह, तकियापर, परमानंदपुर गया जिला के महेसीपर बलयारी, ललियारी जहानाबाद जिला के केउर, कसियामां आदि गांवों से छठवर्ती आते है।

      सामाजिक कार्यकर्ता अमित चौरसिया व ग्रामीण रवि चौरसिया, विपीन कुमार, राजनीश कुमार, राजीव रौशन आदि ने बताया कि छठवर्ती के लिए हर साल युवकों द्वारा साफ सफाई किया जाता है।

      लेकिन पंचायती राज कायम होने के बाद भी इस घाट का दशा नहीं बदली है। जिसके कारण छठ पर्व के दौरान छठव्रतियों के साथ-साथ लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड रहा है।

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!