अन्य
    अन्य

      कोरोनाकाल में सेवारत 100 ग्रामीण चिकित्सक हुए सम्मानित, सरकार के रवैये से दिखे क्षुब्ध

      "16 हजार ग्रामीण चिकित्सक प्रशिक्षण होने के बाद उपेक्षा के शिकार हैं। सरकार द्वारा ग्रामीण चिकित्सकों से वादा किया गया था कि प्रशिक्षण के बाद सरकारी सेवा में कार्य लिया जायेगा। लेकिन 5 वर्ष बीत जाने के बाद भी सरकार कोई कदम नही उठाने का ग्रामीण चिकित्सक विरोध प्रकट कर रहे हैं...

      इसलामपुर (नालंदा दर्पण)। स्थानीय इसलामपुर बाजार स्थित दीपक टेंट हाउस परिसर में चिकित्सा सेवा संरक्षण की ओर से कोरोना काल मे ग्रामीण क्षेत्रों में सेवा दे रहे 100 ग्रामीण चिकित्सकों को सम्मानित करने के लिए सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

      इस सम्मान समारोह में इसलामपुर, एकंगरसराय, वेन, परवलपुर, राजगीर, रहुई आदि प्रखंडों के ग्रामीण चिकित्सकों को समानित किया गया।

      ISLAMPUR NALANDA DOCTOR NEWS 1सभा का उदघाटन मानवाधिकार सचिव जितेंद्र पाठक, उषा सिंहा, अधिवक्ता रघुवंश मिश्रा, राष्टीय चिकित्सा सेवा संरक्षण बिहार इकाई डा.पीपी सिंहा, चिकित्सा पदाधिकारी अरविंद पंडित, संतोष कुमार द्धारा सामुहिक रुप से दीप प्रजवलित कर किया गया।

      इस दौरान जितेंद्र पाठक ने कहा कि कोरोना काल मे ग्रामीण चिकित्सकों की भूमिका सरहनीय रहा है और ये सब प्रशंसा के पात्र है। चिकित्सा हर व्यक्ति के लिए जरुरी है। इनके साथ अन्याय होना गलत है।

      उषा सिंहा ने कहा कि सरकार से रेजगार दिलाने के लिए न्यायलय का दरवाजा भी खटखटाना पड़ेगा। तब उनके साथ खडी रहूंगी।

      मानवाधिकार संरक्षण के राष्टीय अध्यक्ष रघुवंश मिश्रा ने कहा कि सरकार की ढुलमुल रवैया रहने पर ग्रामीण चिकित्सकों के साथ सरकार के खिलाफ न्यायालय जाएंगे।

      चिकित्सा सेवा संरक्षण के राष्ट्रीय प्रभारी अरविंद पंडित ने कहा कि सरकार हमलोगों को टीवी प्रोवाइटर बनाकर एक छलावा कर रही है।

      चिकित्सक अधिकार मंच के राष्टीय अध्यक्ष डा.जेएन मौर्य ने कहा कि चिकित्सकों के हित में काम कर रहे संगठनों को मिलकर एक महासंगठन का निर्माण किया गया है। जिसके माध्यम से अवाज बुलंद किया जायेगा।

      उन्होंने कहा कि 16 हजार ग्रामीण चिकित्सक प्रशिक्षण होने के बाद उपेक्षा के शिकार हैं। सरकार द्वारा ग्रामीण चिकित्सकों से वादा किया गया था कि प्रशिक्षण के बाद सरकारी सेवा में कार्य लिया जायेगा। लेकिन 5 वर्ष बीत जाने के बाद भी सरकार कोई कदम नही उठाने का ग्रामीण चिकित्सक विरोध प्रकट कर रहे हैं।

      इस समारोह की अध्यक्षता अरविंद पंडित और संचालन सुनील कुमार ने किया। इसमें मीडीया प्रभारी कन्हैया कुमार के अलावे राष्टीय अध्यक्ष मो.शमसाद आलम, डा.विजय कुमार, डा.रवि प्रकाश, विमल पांडेय, किशोरी ठाकुर आदि लोग मौजुद थे।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      Related News