अन्य

    देखिए विभाग की लापरवाही, 4 दिन से 440 करंट तार पर यूं गिरा न पेड़ हटाया, न बिजली दी

    चंडी का विधुत विभाग इतना सुस्त है कि ढ़ाई दिन में चले एक कोस वाली कहावत चरितार्थ किये हुए है

    चंडी (नालंदा दर्पण)।चंडी प्रखंड में जहां अजूबे पदाधिकारी आते-जाते रहें हैं तो यहां एक अजूबा विभाग भी है। जिसके बारे में किसी रोज सोशल मीडिया पर चर्चें न हो, ऐसा हो नहीं सकता।

    चंडी में मंगलवार को आएं तेज हवा और बारिश के कारण चंडी प्रखंड कार्यालय से थोड़ी दूर एनटीपीसी स्थल  पर  एक शीशम का पेड़ 440 वोल्ट बिजली तार पर गिरा हुआ है। लेकिन चार दिन बाद भी बिजली विभाग की नींद नहीं टूटी है।

    अब तक न शीशम का पेड़ हटाने की जहमत उठाई है और न बिजली ठीक करने की। जबकि यहां पर अच्छी खासी आबादी भी है। लोगों के आने जाने का रास्ता भी है। लोग जान हथेली पर रखकर आ जा रहें हैं।

    फिर भी विभाग की लापरवाही और अकर्मण्यता ही है कि वह किसी हादसे का इंतजार कर रहा है। वैसे भी चंडी का बिजली विभाग इतना लचर और सुस्त है कि मंगलवार को आंधी-पानी के बाद भगवानपुर मुशहरी के पास फ्यूज उड़ा रह गया।

    लोगों ने विभाग को फोन कर थक गये लेकिन न फोन उठा न फ्यूज बना ।लोग लो वोल्टेज और पानी की किल्लत से परेशान रहें।

    वैसे भी चंडी प्रखंड के लोगों का कहना है कि बिजली विभाग आएं दिन विधुत तार मरमत तथा पेड़ों की छंटाई को लेकर बिजली काटी हुई रहती है। लेकिन जब जरा सा भी तेज हवा या बारिश हुई तो बिजली विभाग की पोल खुल जाती है।

    प्रखंड में सबसे ज्यादा माधोपुर के लोग परेशान हैं। कहने को माधोपुर गढ़ के लोग पावर सब स्टेशन के पास है, लेकिन वहीं के लोग अधिक अंधेरे में रहने को विवश हैं।

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here