अन्य
    Thursday, July 18, 2024
    अन्य

      अस्थावाँ से अपहृत बालक हिलसा में बरामद, 10 लाख की फिरौती माँगने वाले 3 लोग भी धराए

      11 दिसंबर को घर के पास से फिरौती के लिए किया गया था अपहरण...... अपहृत बालक को छोड़ने के एवज में मोबाइल फोन से मांगी जा रही थी ₹10 लाख रुपये.....   नालंदा पुलिस की सूचना इकाई ने शहर के पावर स्टेशन पास से किया बरामद......

      बिहार शरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा पुलिस टीम ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर 72 घंटे के अन्दर अस्थावाँ थाना क्षेत्र से अपहृत बालक के साथ अपहरणकर्ताओं को हिलसा शहर के पावर स्टेशन के किराए के मकान से गिरफ्तार किया है।

      गिरफ्तार अपहरणकर्ताओं से अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी कृष्ण मुरारी प्रसाद, थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद एवं पुलिस टीम के सुबोध कुमार गहन पूछताछ कर रहे हैं। पुलिस हर बिंदुओं पर सही तौर तरीके से जांच करने में जुटी है।

      बताया जाता है कि अस्थावा थाना क्षेत्र के उगाँमा गांव से 11 दिसंबर को देर शाम में घर के पास से ही सुनील साव के 10 वर्षीय पुत्र भोला कुमार को अपहरणकर्ताओं ने फिरौती को लेकर अपहरण कर लिया था।

      इस मामले में अस्थावाँ थाना में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने अपहृत बालक को बरामद करने के लिए लगातार छापामारी अभियान चला रही थी।

      इसी दौरान अपहरणकर्ता ने मोबाइल से अपहृत बालक के परिजनों से मोबाइल पर 10 लाख की फिरौती मांगी जा रही थी।

      इसी बीच पुलिस कप्तान निलेश कुमार के निर्देश पर जिला आसूचना इकाई के टीमों के द्वारा मोबाइल लोकेशन के आधार पर रविवार को पूर्वाहन हिलसा थाना के सहयोग से कौशिक नगर स्थित पावर स्टेशन के पास किराए के मकान में छापामारी अभियान चलाया गया। इसी दौरान पुलिस की भनक लगते ही रूम में बंद कर रखे गए अपहृत बालक जोर-जोर से चिल्लाने लगा।

      उस बालक के साथ हिलसा थाना क्षेत्र के कपसियामां मिल्की पर गांव के धर्मेंद्र राम के पुत्र समीराम, बड़की घोसी गांव के अखिलेश पाल के पुत्र शंभू पाल एवं भागन बीघा थाना क्षेत्र के मोरा पिचासा गांव निवासी बिजेंदर यादव के पुत्र आशीष कुमार को दबोचा गया है। पुलिस हर बिंदुओं पर सही तौर तरीके से जांच करने में जुटी है।

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!