अन्य
    अन्य

      लोजपा की राह पर कांग्रेस, पैराशूट से उतारी जनाधारहीन थैलीशाह उम्मीदवार

      नालंदा दर्पण डेस्क। हरनौत विधानसभा क्षेत्र में लोजपा के बाद अब कांग्रेस में उम्मीदवार को लेकर घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस के द्वारा हरनौत में दूसरे जिले के उम्मीदवार को टिकट दिये जाने के बाद पार्टी में आंतरिक कलह चरम पर आ गया है।

      nalanda harnaut nda mahagathbandhan condidet 2स्थानीय कांग्रेस नेताओं, कार्यकर्ताओं तथा समर्थको में आक्रोश देखा जा रहा है। यहाँ तक कि महागठबंधन के घटक राजद ने भी कांग्रेस के द्वारा पैराशूट उम्मीदवार को लेकर आश्चर्य प्रकट किया है।

      हरनौत विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रबल उम्मीदवार तथा कांग्रेस के पूर्व उम्मीदवार सह मगध महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य डॉ. अयोध्या प्रसाद ने भी पार्टी के फैसले पर नाराजगी व्यक्त की है।

      उन्होंने कहा कि कांग्रेस के द्वारा प्रत्याशी चयन में घोर लापरवाही और धांधली बरती गई है। उम्मीदवार का चयन प्रक्रिया संदेह के घेरे में है। कांग्रेस ने हरनौत में बिना जमीनी हकीकत जाने बाहरी उम्मीदवार थोप दिया है।

      जिससे कांग्रेस अपने समर्थकों और कार्यकर्ताओं से दूर होती चली जाएगी।यही वजह है कि कांग्रेस जमीनी स्तर पर जनाधार खोती जा रही है। संगठन बिखर रहा है।

      कांग्रेस नेता डॉ. अयोध्या प्रसाद ने आगे कहा कि कांग्रेस के इस रवैये से नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों के सम्मान को ठेस पहुंचा है। कांग्रेस मुझे टिकट न देकर किसी और स्थानीय को जो दौड़ में थे, उन्हों दे देती तो हम सब को यह पीड़ा नहीं होता। कांग्रेस द्वारा प्रत्याशी चयन से साफ जाहिर हो गया है कांग्रेस को हरनौत में अपने नेताओं,कार्यकर्ताओं पर भरोसा नहीं रहा।

      डॉ. प्रसाद ने महागठबंधन के घटक राजद पर भी निशाना साधते हुए कहा कि राजद ने भी सहयोगी दल को सशक्त उम्मीदवार मैदान में उतारने में कोई मदद नही की। हरनौत में बाहरी और अनजान उम्मीदवार की की वजह से महागठबंधन में बिखराव आ गया है।

      गौरतलब रहे कि कांग्रेस ने पटना जिले के बड़हरिया के कुंदन गुप्ता को हरनौत में अपना उम्मीदवार बनाया है। जबकि उनका कोई जनाधार हरनौत में नही है।

      हरनौत से कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में पूर्व विधायक अनिल सिंह और डॉ. अयोध्या प्रसाद मुख्य दौड़ में थे। लेकिन कांग्रेस ने नामांकन के 20 घंटे पहले ही बाहरी उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी, जिससे महागठबंधन में खासी नाराजगी देखी जा रही है। यहां भी लोजपा की तरह उम्मीदवार के बहिष्कार की बात सामने आ रही है।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      Related News