अन्य

    चण्डी मुहाने नदी किनारे बसे गरीबों को उजाड़ने के विरोध में भाकपा माले का रोषपूर्ण धरना

    -

    “जबसे बिहार में डबल इंजन की सरकार एनडीए के नेतृत्व में बनी है, तब से आम गरीब गुरबो को उजाड़ने के लिए मुहिम छेड़ रखा है। गरीबों को रोजगार देने के बजाय उन्हें उजाडऩे का काम कर रही हैं…

    चंडी (नालंदा दर्पण)। चंडी प्रखंड मुख्यालय के मुहाने नदी किनारे जीवन बसर कर रहे फुटपाथी दुकानदारों को उजाड़ने की साज़िश के विरोध में भाकपा माले की ओर से अंचल कार्यालय पर एकदिवसीय धरना दिया गया।

    धरना की अध्यक्षता करते हुए भाकपा माले हरनौत विधानसभा प्रभारी कॉमरेड रामदास अकेला ने कहा कि बिहार के निरंकुश सत्ता वाली डबल इंजन की सरकार नीतीश कुमार गरीबों से वादा किया था कि सत्ता में आएंगे तो सभी गरीब भूमिहीनों को 5-5 डिसमिल जमीन देंगे पर,सरकार जमीन देने के बजाय जो वर्षों से जीविकोपार्जन के लिए अपनी दुकान चला रहे हैं। उन्हें उजाड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

    उन्होंने कहा कि सरकार के इस हरकत के लिए भाकपा माले  कड़ा प्रतिरोध करता और सरकार प्रशासन को चेतावनी देता है कि गरीबों को उजाड़ना बंद करें नहीं तो भाकपा माले आपके इस घिनौनी हरकत के खिलाफ सड़क मार्ग को जाम करेगा।

    वहीं, धरना का संचालन करते हुए इंकलाबी नौजवान सभा नालंदा जिलाध्यक्ष सह राज्यपरिषद सदस्य कॉमरेड विरेश कुमार ने  कहा कि जबसे बिहार में डबल इंजन की सरकार एनडीए के नेतृत्व में बनी है, तब से आम गरीब गुरबो को उजाड़ने के लिए मुहिम छेड़ रखा है। गरीबों को रोजगार देने के बजाय उन्हें उजाडऩे का काम कर रही हैं।

    उन्होंने कहा कि  नालंदा इंकलाबी नौजवान सभा कड़ी निंदा करते हुए सरकार और चण्डी अंचलाधिकारी को चेतावनी देता है कि गरीबों की उजाडऩे की अभियान को बंद करें, वर्ना इनौस सड़कों पर उतरकर अंचलाधिकारी और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगा।

    धरना मे शामिल मुख्य अतिथि वक्ता के वतौर कॉमरेड मुन्नी लाल यादव भाकपा माले थरथरी व अखिल भारतीय किसान महासभा जिलाध्यक्ष ने कहा कि जबसे एनडीए की फर्जी सरकार सत्ता में आई है, तबसे देश के गरीबों को उजाडऩे के लिए मुहिम चला रखा है। ये सरकार गरीब, महिला, बुद्धिजीवी, छात्र, बेरोजगार एवं तमाम लोगों के विरोध में चल रही है । पूंजीपतियों के लिए काम कर रही है। जिनको खुश करने के लिए देश की तमाम संपत्तियों को बेचने में मशगूल है।

    उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पुलवामा मे सैनिकों के साथ खिलवाड़ किया तो असम,बंगाल,केरल,तमिलनाडु की चुनाव जीतने के लिए छत्तीसगढ़ में सैनिकों को मरवा दिया है। ऐसे सरकार को भाकपा माले खारिज करता है और सरकार को चेतावनी जारी करता है कि सरकार गरीबों के साथ खिलवाड़ करना बंद करें नहीं तो बड़ी आंदोलन के लिए माले तैयार है।

    धरना प्रदर्शन में सुरेन्द्र तांती, द्वारिक पासवान, श्रवण कुमार, कारु पासवान, शंकर पासवान, भूषण पासवान, शतीस राम, सरयुग केवट, शिवकुमार ठाकुर, विनोद साव, इंदल पासवान, मो नौसाद, मो समसेर, सुरेन्द्र चौधरी, सूरज मंडल, झपसी मांझी, मिनता देवी, श्रीकांत पासवान एव दर्जनों कार्यकर्ता शामिल हुए।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here