अन्य

    देखिए, ये हैं नालंदा के अतीत बनते कांग्रेसी, कथनी की जगह यूं मचाई होली हुड़दंग

    “नालंदा जिला कभी कांग्रेस का गढ़ माना जाता था, लेकिन आज उसकी स्थिति लोकसभा चुनाव या विधानसभा चुनाव तो दूर, पार्टी से ईतर उसके किसी कार्यकर्ता के अदद किसी पंचायत में जमानत बचाने का सम्मान शायद ही हों। इसका एक बड़ा कारण उसके स्थानीय नेताओं के कथनी और करनी में फर्क होने से इंकार नहीं किया जा सकता….”

    बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। आज बिहार शीफ में नालंदा जिला कांग्रेस पार्टी नेताओं का आलम कुछ ऐसा ही देखने को मिला। कांग्रेस की जिला ईकाई बढ़ती महंगाई और किसान आंदोलन से उत्पन्न गंभीर हालात के आलोक में अपने घरों में होली नहीं मनाने की घोषणा की थी। लेकिन आज उसका चरित्र मीडिया की सुर्खियां बनी उस पूर्व धारणा के विपरित साफ तौर पर नजर आई।

    बताया जाता है कि बिहार शरीफ जिला कांग्रेस पार्टी कार्यालय में होली मिलन समारोह का आयोजन कर सामूहिक होली खेली गई। जिसमें खाने-पीने से लेकर गाने बजाने तक की भरपूर व्यवस्था थी।

    क्या नेता, क्या कार्यकर्ता, सब इस कोरोना काल में भी मस्त थे। गुलाल-अबीर के बीच मीडिया के सामने उनकी मचलन मिसाल ही कही जाएगी। राज्य-देश में उत्पन्न हालात का रोना तो कांग्रेस विरोधियों के घड़ियाली आंसू हैं।

    यहां पूरे लय एवं सुर के साथ होली गीत गाये जा रहे थे। “होली खेले रघुवीरा, जनकपुर” में सहित दर्जनों गीत गाया गया। ढोलक झाल हारमोनियम से लेकर आर्केस्ट्रा की भी व्यवस्था की गई थी।

    कांग्रेसी लोग “रंग बरसे, भीगे चुनरवाली, रंग बरसे” गाने पर  झूम रहे थे। कांग्रेस कार्यालय का आज का माहौल देखकर ऐसा लग रहा था कि मानों कांग्रेसी ‘बिग बी’ के पर्दे पर भविष्य की ‘रेखा’ उतर आई हों !

    जिला कांग्रेस अध्यक्ष दिलीप कुमार की मानें तो आज के इस कांग्रेसी होली मिलन समारोह में हिंदू-मुस्लिम सारे भेदभाव को खत्म करते हुए बढ़-चढ़ कर भाग लिया।

    यह दीगर बात है कि उन्होंने लोगों से कोविड-19 के गाइडलाइन के निर्देशानुसार ही होली मनाने की अपील की, लेकिन खुद या उनका कुनबा, पूरे ‘होली-हुड़दंग’ में कहीं भी पालन करते नजर नहीं आए।

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस कांग्रेसी होली मिलन समारोह- 2021 में जिला अध्यक्ष दिलीप कुमार के आलावे ऐन चुनाव वक्त जदयू से आए पूर्व विधायक रवि ज्योति कुमार, अजीत कुमार, जितेंद्र सिंह, आमोद कुमार पाठक, बचु प्रसाद, महताब आलम, मोहम्मद जावेद, मोहम्मद अली, मोनी पासवान, जिला महिला अध्यक्ष संजू पांडे, फहरत जवी, रानी देवी आदि समेत काफी संख्या में लोग शामिल हुए।