अन्य

    मंत्री को बतौर निर्दलीय कड़ी चुनौती देने वाले छोटे मुखिया बोले- ‘चुनाव हारा हूं, जंग नहीं’

    कई शिक्षा माफियाओं जैसे कि केएसटी कॉलेज के प्राचार्य, जे पी बी एड कॉलेज एवं महाबोधी कॉलेज के संचालक इन लोगों ने छात्रों से लूटा गया रुपया पानी की तरह हमको चुनाव कराने के लिए बहाए हैं। शिक्षा माफिया के मन में यह बात थी कि चुनाव जीत जाऊंगा। तो छात्रों से जो लूटते हैं। उस पर विराम लग जाएगा...