अन्य

    जॉर्ज साहब को भारत रत्न देने के साथ उनकी जीवनी पाठ्यक्रम में शामिल करने की उठी मांग

    "लोहिया ने कहा था तीन गांधीवादी हैं। मठाधीश, सत्ताधीश व कुजात। वे खुद को कुजात गांधीवादी कहते थे। यथार्थवाद पर चोट करने वाले लोहिया के बाद जार्ज थे। उन्होंने कहा कि सत्तालोभी व आत्ममोहित सत्ता पैदा हो गई है। जहां चुनौती मिलत थी  उसे वे स्वीकार करते थे......