अन्य

    पहली स्मृति दिवस पर याद किये गये हरदिल अजीज कुंदन सिंह

    नालंदा दर्पण डेस्क। चंडी प्रखंड के गंगौरा पंचायत के ढकनिया में हरदिल अजीज युवा कुंदन‌ सिंह की पहली स्मृति दिवस मनाई गई।

    उनकी पुण्यतिथि के मौके पर उनकी समाधि स्थल कुंदन वाटिका में उन्हे याद किया गया। कुंदन वाटिका में स्थित उनकी प्रतिमा पर लोगो ने श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जदयू सवर्ण प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष मुकेश कुमार सिंह ने कहा कि कुंदन सादगी, ईमानदारी, कर्तव्यनिष्ठता, प्रेम और भाईचारे का उदाहण थे। युवाओं के बीच वे काफी लोकप्रिय थे। भावी पीढ़ियों के लिए वे हमेशा प्रेरणास्रोत बने रहेगे। एक भाई के तौर पर उनसे एक आत्मीय लगाव था।

    वही गंगौरा पंचायत के पैक्स अध्यक्ष टुनटुन सिंह ने श्रद्धाजंलि देते हुए कहा कि जब भी वे कुंदन ‌से मिलते कभी लगा ही नहीं कि वह एक साधारण युवा है। वह जिंदादिली का मिसाल थे। जीवन में बहुत आगे जा सकते थे। लेकिन काल के क्रूर से बच नही सके। उनका असमय जाना हमसब को झकझोर दिया।

    नरसंडा पैक्स के पूर्व अध्यक्ष अरूण सिंह ने याद करते हुए कहा कि कुंदन का बहुत कम उम्र में जाना हमसब को झकझोर कर रख दिया था। उसे भूलना आसान नहीं है। जब भी मुलाकात होती बड़े स्नेह से मिला करते थे।

    इस मौके पर तनिक सिंह, वीरेंद्र सिंह, रामकुमार सिंह, गोलू सिंह, मणिकेश कुमार,श्रवण सिंह, केदार सिंह समेत अन्य लोगो ने भी कुंदन सिंह की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धाजंलि दी एवं उन्हें याद किया।

    गौरतलब रहे कि ढकनिया गांव के पर्यावरणविद और सामाजिक कार्यकर्ता स्व सुरेंद्र सिंह के पुत्र कुंदन‌ सिंह की मौत पिछले साल करंट लगने से हो गई थी।

     

    Comments

    2 COMMENTS

    1. हमारा छोटा भाई हम लोगो को बेसहारा करके चला गया उसकी याद हम लोगों को हमेशा सताती रहेगी वह हमेशा हम लोगो के दिलो में अमर रहेगा