अन्य

    मुख्यमंत्री सात निश्चय योजनाः कागज पर ही  24.77 लाख की सड़क बनाकर कार्य समाप्ति का यूं बोर्ड भी लगा डाला!

    इसलामपुर (नालंदा दर्पण)। आसमान में हुआ विकास, जमीन पर लगा है विकास का बोर्ड। यह हाल इसलामपुर नगर पंचायत के वार्ड संख्या-4 का प्रकाश में आया है।

    सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना अंतर्गत हर घर पक्की नाली गली योजना के तहत इस वार्ड में मवेशी हाट से जहानाबाद मेन रोड तक मिट्टी भराई फेयर व्लॉक सड़क एंव आरसीसी गली निर्माण कार्य 24 लाख 71 हजार 4 सौ 26 रुपया की लागत पर होना था। जिसका प्रारम्भ की तिथि 9 /6 / 2021 और कार्य समाप्ति की तिथी 8 /9 / 21 था। जिसका बोर्ड जमीन पर लगा हुआ है,लेकिन यह कार्य धरातल पर दिखाई नही दे रहा है। सो आस पास में दबी जुबान से चर्चा का विषय बना है और दवंगता कारण कोई बोलना नहीं चाहता है।

    इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि विकास के नाम पर जमीन पर बोर्ड लगाकर छलावा किया गया है और अन्य फंड से इस मवेशी हाट के आस पास में कमोवेश सड़क का कार्य करवाकर वहां पर इस विकास कार्य का बोर्ड लगा दिया गया है, ताकि लोगों को समझ में नहीं आ सके।

    इस सडक निर्माण कार्य की गुणवत्ता देख आप चौंक जायेगे। इसका न बनते देर न बिगड़ते देर की तर्ज पर बना सडक क्षतिग्रस्त होने के साथ सड़क पर घास उगा है और इस कागज पर विकास कर सरकारी राशि को डकार लिया गया है।

    यदि विभाग के वरीय पदाधिकारी एंव जिलाधिकारी द्वारा इस मामले को निष्पक्ष रुप से जांच पड़ताल की जाने पर बडे पैमाने की गयी सरकारी राशि की गडबड़ी उजागर हो सकता है।

    अब देखना है कि पदाधिकारियों द्वारा इस मामले कारवाई की जाती है या विकास के नाम पर लूट खसोट करने वाले माफियाओं की ही चांदी बरकरार रहती है। जबकि बोर्ड पर अंकित नाम नगर पंचायत के मुख्यपार्षद आदि इस सबंध में चुपी साध लेते हैं।