अन्य

    शिक्षक दिवसः द्रोणाचार्य, सुकरात और चाणक्य जैसे गुरु की जरुरत -प्रो. राजेश्वर प्रसाद

    चंडी (नालंदा दर्पण )। चंडी प्रखंड में भूतपूर्व राष्ट्रपति और महान शिक्षाविद डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती शिक्षक दिवस के रूप में धूमधाम से मनाई गई। इस बार रविवार रहने के बाबजूद चंडी प्रखंड के सरकारी स्कूलों में भी शिक्षक दिवस की धूम रही।

    हालांकि प्रखंड के कुछ निजी स्कूलों ने शिक्षक दिवस से अपने को पूरी तरह अलग रखा। प्रखंड के निजी स्कूलों और कोचिंग संस्थानों में भी शिक्षक दिवस को लेकर विधार्थियों में काफी उत्साह दिखा। कोरोना के प्रकोप की वजह से वे शिक्षक दिवस मनाने से पूरी तरह वंचित रह गये थे। जिसकी खानापूर्ति उन्होंने इस बार कर ली।

    स्थानीय मिलेनियम एजुकेशन प्वांइट में शिक्षक दिवस काफी धूमधाम के साथ मनाया गया। छात्र-छात्राओं और शिक्षकों ने भी काफी उत्साह के साथ शिक्षक दिवस के मनाया।

    इस मौके पर डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनके प्रति श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

    इस मौके पर शिक्षाविद् प्रो. राजेश्वर प्रसाद ने बच्चों को डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शिक्षक और छात्र दोनों एक दूसरे से दूर जा रहे हैं। एक तरफ इस भौतिकवादी युग में शिक्षा व्यवसाय बन गई है, तो वहीं छात्र शिक्षा के खरीददार। बच्चे भले ही हर साल शिक्षक दिवस मना लें लेकिन जब तक शिक्षा और शिक्षक का महत्व नहीं समझेंगे तो यह शिक्षक दिवस निरर्थक है।

    उन्होंने कहा कि शिक्षक द्रोणाचार्य, सुकरात और चाणक्य जैसा होना चाहिए, जो एक नींव तैयार करती है।

    इस मौके पर तुलसीगढ़ हाईस्कूल के शिक्षक अजय कुमार ने डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने गुरू के महत्व पर जानकारी दी और सिर्फ शिक्षा ग्रहण ही शिक्षा नहीं है बल्कि शिक्षकों का सम्मान करना भी एक शिक्षा है।

    यशवंतपुर हाईस्कूल के शिक्षक ब्रजेश कुमार ने भी बच्चों को शिक्षा का महत्व के बारे में बताया। वहीं सूर्यमणि सिंह ने कहा कि शिक्षा के साथ साथ एक अच्छा नागरिक भी बच्चों को बनना चाहिए। मो. रिजवान ने बच्चों को परीक्षा में सफलता के गूर बताएं।

    मिलेनियम एजुकेशन प्वाइंट के कार्यकारी निदेशक आलोक कुमार ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बच्चों की उज्ज्वल भविष्य की कामना की। इस मौके पर शिक्षक जितेंद्र कुमार, जानू मालाकार तथा अन्य उपस्थित थे।

    देर रात वृद्ध माँ की चपड़ा से काटकर हत्या के बाद पुत्र घर से बाले-बच्चे फरार
    मुजफ्फरनगर में विशाल किसान महापंचायत आज, नालंदा से भी पहुंचे हजारों किसान
    मंत्री-अफसर की हिदायत के बाबजूद शिक्षण संस्थान वसूल रहे मनमाना शुल्क, विभाग बना अंधा
    …और मियां बिगहा गाँव में मचा हड़कंप,जब पहुंची आर्थिक अपराध ईकाई की टीम,जानें पूरा मामला
    होटल संचालक को मैसेज भेजकर 10 लाख रुपए की रंगदारी माँगने वाले दो आरोपी धराए

     

    Comments