अन्य

    निजी स्कूल शिक्षिका से चंडी प्रखंड की ‘फर्स्ट लेडी’ बन गई निशा, चुनी गई प्रमुख

    चंडी (नालंदा दर्पण)। आखिरकार ‘नालंदा दर्पण’ की खबर पर मुहर लग ही गई। प्रखंड के नवसृजित अमरौरा पंचायत से समिति सदस्य निशा कुमारी चंडी प्रखंड की प्रमुख चुनी गई।

    उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी पिंकू देवी को कड़े मुकाबले में हराया। एक निजी स्कूल शिक्षिका से चंडी प्रखंड की फर्स्ट लेडी बन गई निशा कुमारी।

    मंगलवार को हिलसा अनुमंडल कार्यालय मे एसडीओ की देखरेख में चंडी प्रमुख और उप प्रमुख का चुनाव कराया गया।

    चुनाव को लेकर सुरक्षा के सभी उपाय किए गए थें। अनुमंडल कार्यालय पर प्रमुख पद के दोनो दावेदारों की ओर से समर्थकों की भीड़ कार्यालय पर जमी रही।

    एसडीओ ने सभी सदस्यों को पहले शपथ दिलाई गई। उसके बाद मतदान प्रक्रिया शुरू की गई।

    प्रमुख पद के लिए निशा कुमारी और पिंकू देवी की ओर से नामांकन किया गया। दोनों पक्षों की ओर से अपने समर्थक प्रमुख उम्मीदवार के पक्ष में मतदान किया।

    मतदान के बाद गिनती में निशा कुमारी को दस वोट जबकि विपक्ष में नौ वोट मिला। जीत के बाद प्रमुख समर्थकों में खुशी की लहर देखी गई। समर्थकों ने उन्हें बधाई दी।

    चंडी प्रखंड की नयी प्रमुख निशा कुमारी ने अपने समर्थकों के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि वे लोगों के विश्वास पर खरे उतरने का प्रयास करेंगे।

    उन्होंने कहा कि सभी सदस्यों के प्रति उनका समान सम्मान रहेगा। वे क्षेत्र के विकास के मुद्दे पर सभी का सहयोग करेंगी।

    गौरतलब रहे कि निशा कुमारी चंडी के भगवानपुर स्थित एक निजी स्कूल में वर्षों तक शिक्षिका रहीं। इस पंचायत चुनाव में उन्होंने अमरौरा पंचायत से समिति के लिए मैदान में आई आसानी से चुनाव जीत भी गई।

    इस बार चंडी प्रखंड के कुछ समाजसेवियों ने उन्हें प्रमुख पद के लिए उपयुक्त समझा और उनके प्रति सदस्यों को गोलबंद करना शुरू कर दिया।

    चूंकि उन्हें आरंभ से ही दस सदस्यों का समर्थन मिलता दिख रहा था। दावे किए जा रहे थे कि कुछ सदस्य उनके साथ आएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

    इसलामपुर प्रखंड में नव निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को शपथ ग्रहण करवाया

    गोलीबारी मामले में भुतहाखार पंचायत समिति सदस्य भुवनेश्वर बिन्द गिरफ्तार

    नुक्कड़ नाटक से नशा के नुकसान से यूं अवगत करा रहे कला कुंज के कलाकार

    नालंदा जिला परिषद अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव निर्विरोध होना तय, क्योंकि…

    चंडी में ट्रस्ट और सोसायटी के नाम पर कर चोरी कर रहे हैं निजी स्कूल

    Comments