अन्य

    संविधान शिल्पी की 131वीं जयंती पर इंकलाबी नौजवान सभा ने यूं दी श्रद्धांजलि

    चंडी (नालंदा दर्पण)। संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर की 131 जयंती के मौके पर इंकलाबी नौजवान सभा ने एक मार्च निकाला। जिसमें दबे कुचले जनता से शिक्षित और संगठित बनने का आह्वान किया।

    साथ ही आज देश में आजादी, लोकतंत्र व समाजिक न्याय पर हमले की निन्दा करते हुए डॉ अंबेडकर के बताएं मार्ग पर नेताओं को चलने का आह्वान किया।

    इनौस के नालंदा  जिलाध्यक्ष कॉ. विरेश कुमार के नेतृत्व में मार्च चंडी  के जैतीपुर मोड़ से निकलकर मध्य विद्यालय के पास पहुंचा जहां बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर समाप्त हुआ। जहां उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

    माल्यार्पण के बाद मार्च सभा  को संबोधित करते हुए विरेश ने कहा कि बाबा साहब को याद करते हुए हमें गर्व होता है कि देश के लिए उन्होंने दुनिया भर के तमाम देशों के सविधान से अच्छी संविधान निर्माण किए, जिसमें हर नागरिक के लिए समान अधिकार का दर्जा दिए। हमारी माताएं बहने आज जिस मुकाम पर पहुंची हैं, वह बाबा साहब की संविधान की देन है।

    इस मौके पर सभी कार्यकर्ताओं ने शपथ और संकल्प लिया कि वे बाबा साहब के नक्शे कदम पर चलेंगे और संविधान, लोकतंत्र और मां बहनों की हिफाजत करेंगे।

    मार्च में शामिल भाकपा माले हरनौत विधानसभा प्रभारी कॉ रामदास अकेला ने कहा कि यह देश गलत हाथों में चला गया है इसलिए युवाओं को चाहिए कि ऐसी तानाशाह सरकार को गद्दी से उखाड़ फेंके।

    मार्च में शामिल चंद्र शेखर कुमार, विजय कृष्ण, शिशु पाल सिंह, सुखनंदन पासवान, राजेश रविदास, पुजा देवी, इंदू देवी, गुड़िया देवी, रवि कुमार, चंदन कुमार आदि सभी ने ‘बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर अमर रहे, लोकतंत्र पर हमला बंद करो, रेलवे सहित तमाम सरकारी संस्थानों को बेचने का फैसला वापस लो’ का नारा भी लगाया।

    थरथरी में श्रीराम पेट्रोल पंप के कर्मियों के साथ मार-पीट कर 3 लाख की लूट

    नगरनौसाः भाजपा कार्यकर्ताओं ने यूं धूमधाम से मनाया पार्टी स्थापना दिवस

    1051 कलश के साथ निकाली गई भगवान सूर्य कलश शोभा यात्रा

    करोड़ों की संपत्ति का मालिक बना कन्हैया निकला नकली वारिस, 41 साल बाद आया फैसला

    इसलामपुर प्रखंड परिसर भवन में यूं लाइन में खड़े होकर नालंदा सासंद ने डाले वोट

    Comments